एशियाड की वजह से अब 25 सितंबर को दिया जायेगा राष्ट्रीय खेल पुरस्कार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date


नयी दिल्ली : एशियाई खेलों की वजह से राष्ट्रीय खेल पुरस्कार अब 29 अगस्त की जगह 25 सितंबर को दिये जायेंगे और खेल मंत्रालय एशियाई खेलों में शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों के नाम पर भी गौर कर सकता है. हर साल राष्ट्रीय खेल पुरस्कार 29 अगस्त को महान हाकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन पर राष्ट्रपति भवन में दिये जाते हैं.

इस बार पुरस्कार समारोह 25 सितंबर को होगा क्योंकि इंडोनेशिया में 18 अगस्त से दो सितंबर तक एशियाई खेल होने हैं. खेल सचिव राहुल भटनागर ने कहा कि खिलाड़ियों की अधिकतम भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए खेल मंत्रालय ने तारीखों में बदलाव का प्रस्ताव रखा जिसे राष्ट्रपति भवन ने मंजूर कर लिया. उन्होंने कहा ,‘ खेल मंत्रालय ने तारीख में बदलाव किया है क्योंकि उसी दौरान एशियाई खेल होने हैं. हम चाहते हैं कि समारोह में अधिक से अधिक संख्या में खिलाड़ी , कोच और अधिकारी भाग लें. हमने राष्ट्रपति भवन को तारीख में बदलाव के लिए पत्र लिखा था. ' उन्होंने यह भी कहा कि एशियाई खेलों में प्रदर्शन भी खेल पुरस्कारों के लिए पैमाना हो सकता है.

भटनागर ने कहा ,‘ इस साल पुरस्कार पाने वाले खिलाड़ियों का चयन 30 अप्रैल से पहले भेजी गई प्रविष्टियों के आधार पर हो चुका है लेकिन सरकार के पास एशियाई खेलों में असाधारण प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों का नाम अनुशंसा समिति को भेजने का प्रावधान है.' उन्होंने कहा ,‘ समिति की बैठक एशियाई खेलों के बाद होगी और वह तय करेगी. यदि वह कुछ और नाम जोड़ना चाहेगी तो चयनित खिलाड़ियों के साथ जोड़े जा सकते हैं . राजीव गांधी खेल रत्न सर्वोच्च खेल पुरस्कार है और एक साल में चार से अधिक खिलाड़ियों को नहीं दिया जा सकता.' अर्जुन पुरस्कार अभी तक एक साल में सर्वाधिक 17 खिलाड़ियों को दिया गया है. द्रोणाचार्य पुरस्कार श्रेष्ठ कोचों और ध्यानचंद पुरस्कार लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए दिया जाता है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें