27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

फीफा विश्व कप : भारत मेजबानी को तैयार, 20 तक तैयार हो जायेंगे स्टेडियम

आज से ठीक एक महीने बाद छह अक्तूबर को अंडर-17 फीफा विश्व कप का आगाज होगा. पहली बार भारत की मेजबानी में होनेवाले इस महामुकाबले को लेकर जी-तोड़ से तैयारी चल रही है. केंद्र सरकार और राज्य सरकारें मिल कर इसकी सफलता के लिए हर संभव प्रयास कर रही है, ताकि भारत को फुटबॉल के […]

आज से ठीक एक महीने बाद छह अक्तूबर को अंडर-17 फीफा विश्व कप का आगाज होगा. पहली बार भारत की मेजबानी में होनेवाले इस महामुकाबले को लेकर जी-तोड़ से तैयारी चल रही है.
केंद्र सरकार और राज्य सरकारें मिल कर इसकी सफलता के लिए हर संभव प्रयास कर रही है, ताकि भारत को फुटबॉल के बड़े टूर्नामेंटों की मेजबानी का मंच बनाया जा सके. इसके आयोजन वेन्यू कोलकाता, दिल्ली, कोच्चि, मुंबई, गोवा व गुवाहाटी में स्टेडियम की मरम्मत का काम लगभग अंतिम दौर में पहुंच गया है. टिकटों की ब्रिक्री तेजी से जारी है.
10 सितंबर तक रेडी हो जायेगा
साल्टलेक स्टेडियम : 77,000क्षमता
क्षमता सॉल्टलेक स्टेडियम में कुल 10 मैच खेले जायेंगे. इसमें फाइनल मैच भी शामिल है. फाइनल 28 अक्तूबर को होगा. 1984 में बना यह स्टेडियम आधुनिकीकरण के बाद अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल स्टेडियम को टक्कर देने को तैयार है. लोकल ऑर्गनाइजिंग कमेटी (एलओसी) के डायरेक्टर जेवियर सेप्पी ने बताया कि 10 सितबंर तक सॉल्टलेक स्टेडियम तैयार हो जायेगा. नियम के अनुसार टूर्नामेंट शुरू हो के 10 दिन पहले हर हाल में स्टेडियम फीफा को सौंप देनी है. इसकी मरम्मत में करीब 150 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं. नये सिरे से गैलरी, वीआइपी- वीवीआइपी बॉक्स, मूल मैदान की सज्जा, दो प्रैक्टिस मैदान, ड्रेसिंग रूम, सबवे आदि बनाये गये हैं.
डीवाइ पाटिल स्टेडियम : 45,353 दर्शक क्षमता
थोड़ा काम है बाकी
डीवाइ पाटिल स्टेडियम में छह अक्तूबर को उद्घाटन मुकाबले खेले जायेंगे. हालांकि इस दिन दिल्ली में मैच होगा. नवी मुंबई स्थित यह स्टेडियम लगभग पूरी तरह से तैयार है. इसमें नयी कुर्सियां व फैब्रिक की छत लगायी गयी हैं. इस नये ग्राउंड में ऊर्जा बचाने के लिए सोलर प्लेट लगायी गयी हैं. इस सप्ताह इसे फीफा को सौंप दिया जायेगा.
कोच्चि स्टेडियम : 41,748 दर्शक क्षमता
15 तक हो जायेगा तैयार
कोच्ची स्थित जवाहरलाल नेहरू इंटरनेशनल स्टेडियम में मरम्मत का काम जारी है. इसे फीफा को 15 सितंबर तक सौंप देने की उम्मीद है. ग्रेटर कोच्चि डेवलपमेंट ऑथोरिटी के अनुसार यहां पर ग्राउंड से लेकर फायर फाइटिंग सिस्टम, इलेक्ट्रिकल, गैलरी का पुन: निर्माण हुआ. शौचालयों का नवीनीकरण हुआ.
गुवहाटी स्टेडियम : 35,000 दर्शक क्षमता
विश्व कप के लिए तैयार
यहां पर इंदिरा गांधी एथलेटिक स्टेडियम में मैच होने है. यह स्टेडियम लगभग पूरी तरह से तैयार है. इस स्टेडियम में ड्रेसिंग रूम, कॉन्फ्रेंस हॉल, मीडिया सेंटर बनाया गया है. यहां पर भी नयी कुर्सियां लगायी गयी हैं. ग्राउंड को लेकर फीफा आयोजन समिति को आपत्ति थी, जिसके बाद फिर से इसे दुरुस्त किया गया.
जवाहरलाल नेहरू : 58,114 दर्शक क्षमता
दिया जा रहा फिनिश टच
दिल्ली का यह स्टेडियम फीफा के निशाने पर है और ग्राउंड को लेकर परेशानी जता चुका है. हालांकि काम तेजी से चल रहा है और सितंबर के अंतिम सप्ताह तक काम पूरा होने की उम्मीद है. यहां पर छह अक्तूबर से ही मैच होंगे. यहां पर मेजबान भारत, घाना, कोलंबिया और संयुक्त राज्य अमेरिका के मैच होंगे.
फटोर्डा स्टेडियम : 19,000 दर्शक क्षमता
पूरी तरह से तैयार
गोवा का फटोर्डा स्टेडियम भी पूरी तरह से तैयार है. फीफा विश्व कप की मेजबानी को देखते हुए यहां आधुनिकीकरण का काम हुआ. 100 प्रतिशत हिस्सों में छत, आरामदायक सीटें, टीवी स्टूडियो, ड्रेसिंग रूम, और मीडिया स्टेशन नये सिरे से बनाये गये हैं.
कैसे मिलेगा टिकट
फीफा अंडर – 17 वर्ल्ड कप आयोजन समिति की ओर से स्थानीय स्तर पर एक वेबसाइट बनाया है. विहित प्रक्रिया के द्वारा लोग यहां से टिकट बुक कर सकते हैं. वेबसाइट के अलावा सभी छह स्टेडियम में भी बुकिंग काउंटर खोले गये हैं. मैचों के लिए चार केटोगरी के टिकट की व्यवस्था की गयी है.
फीफा अंडर- 17 का इतिहास
पहली बार 1985 में अंडर-17 वर्ल्ड कप हुआ. पहले सिर्फ 16 देशों की टीमें हिस्सा लेंती थी. 2005 में संख्या बढ़ा कर 24 कर दी गयी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें