1. home Hindi News
  2. sports
  3. cricket
  4. sunil gavaskar does not consider shane warne to be the greatest spinner gave a big statement about his bowling aml

शेन वॉर्न को सबसे महान स्पिनर नहीं मानते सुनील गावस्कर, उनकी गेंदबाजी को लेकर दिया बड़ा बयान

महान भारतीय बल्लेबाज सुनील गावस्कर शेन वॉर्न को महानतम स्पिनर नहीं मानते हैं. उन्होंने कहा कि वह भारतीय स्पिनरों और मुथैया मुरलीधरन को वॉर्न से आगे रखते हैं. हालांकि सुनील गावस्कर के इस बयान की ऑस्ट्रेलियाई मीडिया में आलोचना हो रही है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
शेन वॉर्न
शेन वॉर्न
Twitter

भारत के महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर का मानना है कि दिवंगत शेन वार्न ने अपने करियर के दौरान जादुई गेंदबाजी की और कठिन कला में महारत हासिल की, लेकिन वे उन्हें महानतम स्पिनर नहीं मानते. गावस्कर के ऐसा कहने के बाद ऑस्ट्रेलियाई मीडिया में इसकी काफी निंदा हो रही है. लेकिन उन्होंने मुथैया मुरलीधरन को शेन वॉर्न से आगे रखा है.

वॉर्न ने 1992 में किया था इंटरनेशन डेब्यू

1992 में पदार्पण करने के बाद से शेन वार्न ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 145 टेस्ट खेले, जिसमें उन्होंने अपने लेग स्पिन के साथ 708 विकेट लिए. अपने 194 एकदिवसीय मैचों में, उन्होंने 293 विकेट चटकाए. लेकिन जब सुनील गावस्कर से पूछा गया कि क्या ऑस्ट्रेलियाई सबसे महान स्पिनर हैं, तो भारत के पूर्व कप्तान ने भारत के स्पिनरों और श्रीलंका के पूर्व गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन को वार्न से अधिक आंका.

मुथैया मुरलीधरन काफी आगे हैं

गावस्कर ने इंडिया टुडे से कहा कि मैं ऐसा नहीं कहूंगा कि वॉर्न एक महानतम स्पिनर थे. मेरी नजर में भारतीय स्पिनर और मुथैया मुरलीधरन उनसे बेहतर हैं. इसका कारण यह है कि भारत के खिलाफ शेन वॉर्न का रिकॉर्ड औसत रहा है. भारत में उन्होंने एक ही बार नागपुर में पांच विकेट लिये. गावस्कर ने आगे कहा कि भारतीय खिलाड़ियों के खिलाफ उन्हें अधिक सफलता नहीं मिली क्योंकि भारतीय बल्लेबाज स्पिन को बखूबी खेलते हैं. इसलिये मैं उन्हें महानतम नहीं कहूंगा.

मुरलीधरन के नाम 800 टेस्ट विकेट

गावस्कर ने आकड़ों के हवाले से यह भी कहा कि मुथैया मुरलीधरन भारत के खिलाफ अधिक कामयाब रहे हैं. मैं उन्हें वॉर्न से ऊपर रखूंगा. मुरलीधरन के नाम टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक 800 विकेट हैं. गावस्कर ने वॉर्न की तारीफ भी की लेकिन आस्ट्रेलियाई मीडिया ने उनके बयान की टाइमिंग को लेकर निंदा की है. ‘फॉक्स न्यूज' ने कहा कि यह सही समय नहीं है.

ऑस्ट्रेलियाई मीडिया में हो रही आलोचना

पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक न्यूज डॉट कॉम डॉट एयू ने कहा कि गावस्कर का बयान अजीब है क्योंकि उन्होंने खुद स्वीकार किया है कि एक गेंदबाज के लिए लेग स्पिन की कला में महारत हासिल करना सबसे कठिन है. रिपोर्ट में ब्रिटिश पत्रकार जैक मेंडल का ट्वीट भी डाला गया है जिन्होंने कहा गया है कि सनी यह सही समय नहीं था. इस सवाल को टाला जा सकता था. अभी उसका अंतिम संस्कार भी नहीं हुआ है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें