1. home Hindi News
  2. sports
  3. cricket
  4. india vs west indies krunal pandya threatened deepak hooda to end his career avd

IND vs WI: क्रुणाल पांड्या ने दी थी दीपक हुड्डा को करियर खत्म करने की धमकी, अब रोहित की टीम में हुए शामिल

दीपक हुड्डा ने पांड्या के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया था. हालांकि बाद में दीपक हुड्डा ने आरोप लगाया था कि पांड्या ने उन्हें करियर खत्म करने की धमकी दी थी. उस समय हुड्डा ने खुद को एक कमरे में सीमित कर लिया था.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
दीपक हुड्डा
दीपक हुड्डा
twitter

India vs West Indies : वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज और उतने की मैचों की टी20 सीरीज के लिए भारतीय टीम की घोषणा कर दी गयी है. भारत की वनडे टीम में तीन नये खिलाड़ियों को शामिल किया गया है. तीनों खिलाड़ी पहली बार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करेंगे. यहां बात हो रही है दीपक हुड्डा (Deepak Hooda), रवि बिश्नोई (Ravi Bishnoi) और आवेश खान (Avesh Khan) की.

क्रुणाल पांड्या ने दी थी दीपक हुड्डा को करियर खत्म करने की धमकी

दीपक हुड्डा अबतक केवल आईपीएल मुकाबले खेले हैं. जिसमें उन्होंने 80 मैचों में 785 रन और 9 विकेट चटकाये हैं. दीपक हुड्डा की कहानी काफी रोचक है. 2021 में कप्तान क्रुणाल पांड्या के साथ झड़प के बाद उन्होंने बड़ौदा की टीम छोड़नी पड़ी थी. बताया जाता है कि हुड्डा ने पांड्या के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया था. हालांकि बाद में दीपक हुड्डा ने आरोप लगाया था कि पांड्या ने उन्हें करियर खत्म करने की धमकी दी थी. उस समय हुड्डा ने खुद को एक कमरे में सीमित कर लिया था. किसी से भी बात नहीं कर रहे थे. उन्होंने मान लिया था कि उनका क्रिकेट करियर खत्म हो चुका है.

इरफान पठान और यूसुफ पठान ने दीपक हुड्डा को संभाला

दीपक हुड्डा ने खुद बताया कि उनका क्रिकेट करियर पूरी तरह से खत्म हो चुका था, लेकिन इरफान और यूसुफ पठान ने उनको संभाला. दोनों ने उन्हें कभी निराश नहीं होने दिया. बड़ौदा की टीम से सस्पेंड होने के बाद पठान बंधुओं ने उन्हें आईपीएल के लिए तैयार किया. दीपक ने बताया पठान बंधुओं के साथ बड़ौदा के मोतीबाग मैदान और पुलिस ग्राउंड में जमकर अभ्यास करते थे. बल्लेबाजी के बाद इरफान पठान उन्हें गेंदबाजी कर प्रैक्टिस कराते थे.

पांड्या से झगड़ा के बाद राजस्थान की टीम से जुड़े हुड्डा

हुड्डा के लिये पिछले 12 महीने उतार चढ़ाव वाले रहे लेकिन उन्होंने अपने करियर के बुरे दौर से उबरने के लिये गजब की मानसिक मजबूती दिखायी. क्रुणाल के साथ बहस के बाद बड़ौदा टीम के होटल से बाहर निकलने के छह महीने बाद हुड्डा 2021-22 सत्र से पहले एक पेशेवर के तौर पर राजस्थान से जुड़े. हुड्डा ने राजस्थान क्रिकेट संघ (आरसीए) के अधिकारियों से पैसों के बारे में कभी भी बात नहीं की. वह खेल के मैदान पर लौटने के लिये बेताब थे और राजस्थान को भी उनके जैसे अच्छे खिलाड़ी की जरूरत थी. ऐसे में यह दोनों पक्षों के लिये यह फायदे की बात थी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें