14.1 C
Ranchi
Friday, March 1, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

‘एक ही नारा एक ही नाम, जय श्री राम, जय श्री राम’, राम भक्ति में डूबे वेंकटेश प्रसाद, देखें वीडियो

आज पूरा देश राम भक्ति में डूबा हुआ है. अयोध्या में श्रीराम मंदिर में राम लला की प्रतिमा का प्राण प्रतिष्ठा समारोह पूर्ण हुआ. भगवान राम की प्रतिमा स्थापित की जा चुकी है. कई क्रिकेटर्स इस समारोह में शामिल होने अयोध्या पहुंचे हुए हैं. इनमें पूर्व गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद भी शामिल हैं.

अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर के अंदर राम लला विराजित हो चुके हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यजमान के रूप में प्राण प्रतिष्ठा पूजन में शामिल हुए. राम लला की ‘प्राण प्रतिष्ठा’ समारोह से पहले भारत के पूर्व क्रिकेटर वेंकटेश प्रसाद ने सोमवार को कहा कि वह उनके जीवन के सबसे यादगार पल के गवाह बनने जा रहे हैं. प्रसाद विशेष निमंत्रण पर अयोध्या पहुंचे हैं. उन्होंने वहां से काफी तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया है. वेंकटेश जय श्रीराम, जय श्रीराम का नारा लगाते हुए भी देखे गए. इस समारोह के लिए कई क्रिकेट हस्तियों को भी आमंत्रित किया गया था.

वेंकटेश ने लगाया जय श्रीराम का नारा

वेंकटेश प्रसाद ने अपने आधिकारिक एक्स अकाउंट पर लिखा, ‘हमारे जीवन के इस पल का गवाह बनने जा रहा हूं. धर्म पथ. एक ही नारा, एक ही नाम जय श्री राम.’ इस कार्यक्रम में एमएस धोनी, सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, मिताली राज, हरमनप्रीत कौर और रविचंद्रन अश्विन जैसी खेल हस्तियों को भी आमंत्रित किया गया. कड़ी सुरक्षा के बीच लाखों लोगों की मौजूदगी में ‘प्राण प्रतिष्ठा समारोह दोपहर 12:30 बजे शुरू हुआ और भगवान राम की दिव्य प्रतिमा मंदिर के गर्भ गृह में स्थापित की गई.

मंदिर में हैं 44 दरवाजे

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने रविवार को घोषणा की कि ‘प्राण प्रतिष्ठा’ समारोह को ‘मंगल ध्वनि’ नामक एक चमकदार संगीत कार्यक्रम द्वारा चिह्नित किया जाएगा. मंदिर का निर्माण पारंपरिक नागर शैली में किया गया है. इसकी लंबाई (पूर्व-पश्चिम) 380 फीट, चौड़ाई 250 फीट और ऊंचाई 161 फीट है. यह कुल 392 स्तंभों और 44 दरवाजों द्वारा समर्थित है. मंदिर के स्तंभों और दीवारों पर हिंदू देवी-देवताओं और देवियों के जटिल चित्रण प्रदर्शित हैं. भूतल पर मुख्य गर्भगृह में भगवान श्री राम के बचपन के स्वरूप (श्री रामलला की मूर्ति) को रखा गया है.

मंदिर का मुख्य प्रवेश द्वार पूर्व दिशा की ओर

मंदिर का मुख्य प्रवेश द्वार पूर्वी दिशा में स्थित है, जहां सिंह द्वार के माध्यम से 32 सीढ़ियां चढ़कर पहुंचा जा सकता है. मंदिर में कुल पांच मंडप (हॉल) हैं. इनके नाम नृत्य मंडप, रंग मंडप, सभा मंडप, प्रार्थना मंडप और कीर्तन मंडप हैं. मंदिर के पास प्राचीन काल का एक ऐतिहासिक कुआं (सीता कूप) है. मंदिर परिसर के दक्षिण-पश्चिमी भाग में, कुबेर टीला में, भगवान शिव के प्राचीन मंदिर का जीर्णोद्धार किया गया है, साथ ही जटायु की एक मूर्ति भी स्थापित की गई है.

Also Read: Ram Mandir Pran Pratishtha: सचिन तेंदुलकर सहित ये स्टार समारोह में शामिल होने पहुंचे अयोध्या, देखें वीडियो

प्रधानमंत्री मोदी ने की पूजा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अवसर पर ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा कि अयोध्या धाम में श्री रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा का अलौकिक क्षण हर किसी को भाव-विभोर करने वाला है. इस दिव्य कार्यक्रम का हिस्सा बनना मेरा परम सौभाग्य है. जय सियाराम. मोदी सुनहरे रंग का कुर्ता, क्रीम रंग की धोती पहने हुए थे. उन्होंने सुनहरे रंग की बंडी भी पहन रखी थी. वह मंदिर के मुख्य द्वार से अंदर तक पैदल चलकर कार्यक्रम स्थल पहुंचे और गर्भगृह में प्रवेश किया.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें