ओझा ने शीर्ष क्रम झकझोरा, ऑस्ट्रेलिया ने की वापसी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

चेन्नई : श्रीलंका दौरे के लिये भारतीय टीम में जगह बनाने में नाकाम रहे बायें हाथ के स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने आज यहां तीन विकेट लेकर अनधिकृत टेस्ट क्रिकेट मैच में एक समय भारत 'ए' का पलडा भारी कर दिया था लेकिन पीटर हैंडस्काम्ब के नाबाद अर्धशतक की मदद से ऑस्ट्रेलिया आखिर में शानदार वापसी करने में सफल रहा.

ऑस्ट्रेलिया ने इस चार दिवसीय मैच के दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक चार विकेट पर 185 रन बनाये हैं और वह भारतीय टीम से अब 116 रन पीछे है. भारत 'ए' ने सुबह छह विकेट पर 221 रन से अपनी पारी आगे बढायी और विजय शंकर (51) के अर्धशतक की मदद से 301 रन बनाये. ऑस्ट्रेलिया 'ए' के लिये बायें हाथ के स्पिनर स्टीव ओकेफी ने 82 रन देकर छह विकेट लिये.

ओकेफी से प्रेरणा लेकर ओझा ने अपनी बलखाती गेंदों से ऑस्ट्रेलिया के शीर्ष क्रम को लड़खड़ा दिया. एक समय उसका स्कोर चार विकेट पर 175 रन था लेकिन इसके बाद हैंडस्काम्ब (नाबाद 75) और मार्कस स्टोनिस (नाबाद 42) ने बखूबी मोर्चा संभाला और भारतीय गेंदबाजों को आगे सफलता नहीं मिलने दी. ये दोनों अब तक पांचवें विकेट के लिये 110 रन जोड चुके हैं.
ऑस्ट्रेलिया 'ए' की शुरुआत अच्छी नहीं रही और उसने चौथे ओवर में ही सलामी बल्लेबाज कैमरन बैनक्राफ्ट (दो) का विकेट गंवा दिया. उन्होंने अभिमन्यु मिथुन की गेंद पर विकेटकीपर नमन ओझा को कैच थमाया. ट्रेविस हीड (31) और सलामी बल्लेबाज के रुप में उतरे कप्तान उस्मान ख्वाजा (25) ने दूसरे विकेट के लिये 50 रन जोडकर टीम को शुरुआती झटके से उबारने की कोशिश की लेकिन इसके बाद ओझा की उंगलियों का जादू चला. उन्होंने 18 रन के अंदर ऑस्ट्रेलिया को तीन झटके दिये.
ओझा ने हीड को अमित मिश्रा के हाथों कैच कराया जबकि ख्वाजा और निक मैडिनसन (शून्य) को अपने एक ओवर में पवेलियन की राह दिखायी. ख्वाजा का कैच अभिनव मुकुंद जबकि मैडिनसन का कैच करुण नायर ने लिया. ओझा ने अब तक 52 रन देकर तीन विकेट लिये हैं. हैंडस्काम्ब ने हालांकि एक छोर संभाले रखा और उन्हें स्टोनिस के रुप में अच्छा साथी भी मिला.दायें हाथ के इस बल्लेबाज ने अब तक 137 गेंद का सामना करके पांच चौके लगाये हैं जबकि स्टोनिस ने 87 गेंद खेली हैं जिसमें पांच चौके शामिल हैं.
श्रीलंका दौरे के लिये भारतीय टेस्ट टीम में चार साल बाद वापसी करने वाले लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने कसी हुई गेंदबाजी की लेकिन उन्हें विकेट नहीं मिला. मिश्रा ने अपने 16 ओवर में छह मेडन किये और 33 रन दिये हैं. तेज गेंदबाज उमेश यादव (आठ ओवर में 34 रन) को भी विकेट का इंतजार है.
इससे पहले भारत के कल के अविजित बल्लेबाजों विजय शंकर और मिश्रा (27) ने सुबह ऑस्ट्रेलिया को सफलता के लिये तरसा दिया. इन दोनों ने सातवें विकेट के लिये लगभग 31 ओवरों में 62 रन की साझेदारी की. ओकेफी ने आखिर में मिश्रा को पगबाधा आउट करके यह साझेदारी तोडी जिन्होंने अपनी पारी में 93 गेंदें खेली और एक चौका लगाया.
विजय शंकर ने आखिर तक एक छोर संभाले रखा लेकिन मिश्रा के आउट होते ही बाकी तीनों बल्लेबाज मिथुन (शून्य) उमेश यादव (1) और ओझा (2) भी जल्द ही पवेलियन लौट गये. तमिलनाडु के दायें हाथ के बल्लेबाज विजय शंकर ने अपनी नाबाद पारी में 135 गेंद खेली और पांच चौके और एक छक्का लगाया.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें