15.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Pradosh Vrat 2023: कब है रवि प्रदोष व्रत, यहां जानें शुभ मुहूर्त, तिथि-मंत्र और महत्व

Pradosh Vrat 2023: हिंदू धर्म में प्रदोष व्रत का विशेष महत्व है. इस दिन भगवान शिव की पूजा की जाती है. आइए जानते हैं रवि प्रदोष व्रत कब है. शुभ मुहूर्त क्या है, प्रदोष व्रत का महत्व और शिव मंत्र आदि के बारे में.

Undefined
Pradosh vrat 2023: कब है रवि प्रदोष व्रत, यहां जानें शुभ मुहूर्त, तिथि-मंत्र और महत्व 6

Pradosh Vrat 2023: हिंदू धर्म में प्रदोष व्रत का विशेष महत्व है. इस दिन भगवान शिव की पूजा की जाती है. शास्त्रों में इसके लेकर मान्यता है कि जो लोग इस दिन शिव जी की पूजा करते हैं, उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. आइए जानते हैं रवि प्रदोष व्रत कब है. शुभ मुहूर्त क्या है, प्रदोष व्रत का महत्व और शिव मंत्र आदि के बारे में.

Undefined
Pradosh vrat 2023: कब है रवि प्रदोष व्रत, यहां जानें शुभ मुहूर्त, तिथि-मंत्र और महत्व 7
कब है रवि प्रदोष व्रत

इस बार प्रदोष व्रत 10 दिसंबर 2023 को दिन रविवार को पड़ा रहा है. इसलिए इसे रविवार प्रदोष कहा जाता रहा है. इस महीने रवि प्रदोष व्रत की शुरुआत कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि 10 दिसंबर को है.

Undefined
Pradosh vrat 2023: कब है रवि प्रदोष व्रत, यहां जानें शुभ मुहूर्त, तिथि-मंत्र और महत्व 8

प्रदोष व्रत शुभ मुहूर्त

रवि प्रदोष व्रत शुभ मुहूर्त 10 दिसंबर दिन रविवार को सुबह 7 बजकर 13 मिनट से है और साथ ही इसका समापन 11 दिसंबर सुबह 7 बजकर 10 मिनट पर होगा. इसलिए आप प्रदोष व्रत 10 दिसंबर को ही रखें.

Also Read: Masik Shivratri 2023, PHOTOS: कब है मासिक शिवरात्रि, जानें महादेव की कृपा पाने के लिए इस दिन क्या करें
Undefined
Pradosh vrat 2023: कब है रवि प्रदोष व्रत, यहां जानें शुभ मुहूर्त, तिथि-मंत्र और महत्व 9

प्रदोष व्रत का महत्व

गौरतलब है कि हिंदू धर्म में प्रदोष व्रत का बड़ा ही विशेष महत्व बताया गया है. जो लोग प्रदोष व्रत रखते हैं उनका जीवन सुख और समृद्धि से भरा रहता है. प्रदोष के दिन भगवान शिव की आराधना से शुभ फलों की प्राप्ति होती है।.

Also Read: Garuda Purana In Hindi: गरुड़ पुराण में भूत-प्रेत और आत्माओं को लेकर क्या कहा गया है, यहां जानिए
Undefined
Pradosh vrat 2023: कब है रवि प्रदोष व्रत, यहां जानें शुभ मुहूर्त, तिथि-मंत्र और महत्व 10

शिव मंत्र

आपको बताते चलें कि प्रदोष के दिन अगर आप श्री सांबसदाशिवाय नम: श्री रुद्राय नम: ओम पार्वतीपतये नम: ओम नमो नीलकण्ठाय नम: का जाप करते हैं तो आपको यह व्रत सफल रहेगा.

Also Read: Utpanna Ekadashi 2023: उत्पन्ना एकादशी व्रत कल, यहां जानें पूजन विधि और नियम
You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें