ranchi

  • Dec 14 2019 10:47AM
Advertisement

RANCHI : पांच घंटे बाद भी नामकुम से अगवा बच्ची का सुराग नहीं, सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही पुलिस

RANCHI : पांच घंटे बाद भी नामकुम से अगवा बच्ची का सुराग नहीं, सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही पुलिस

रांची : झारखंड की राजधानी रांची में शनिवार की सुबह-सुबह एक बच्ची का अपहरण हो गया. स्कूल जा रही बच्ची को कुछ लोगों ने मारुति वैन में जबरन बिठा लिया और उसे अपने साथ ले गये. बच्ची के ही स्कूल की एक लड़की ने इसकी सूचना अपने परिवार वालों को दी. उसके परिवार वालों से ही संभवत: पुलिस को सूचना मिली. पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है.

इसे भी पढ़ें : VIDEO में देखें झारखंड की दो बेटियों को न्याय दिलाने के लिए सड़क पर उतरा पिपरवार

बताया जा रहा है कि साइकिल से स्कूल जा रही एक बच्ची ने देखा कि पैदल जा रही एक लड़की को कुछ लोग मारुति वैन में जबरन उठाकर ले जा रहे हैं. यह बच्ची वहां से अपने घर लौट गयी और परिजनों को इसके बारे में सूचना दी. हालांकि, यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि बच्ची किस स्कूल में पढ़ती है. यहां तक कि उसकी पहचान का भी पता नहीं चल पाया है. पुलिस सीसीटीवी फुटेज के सहारे बच्ची को बरामद करने की कोशिश कर रही है.

मामला राजधानी रांची के नामकुम थाना क्षेत्र का है. बताया जा रहा है कि एक बच्ची अपनी सहेली के साथ स्कूल जा रही थी. इसी दौरान रास्ते में एक मारुति वैन में सवार कुछ लोग आये. बच्ची को जबरन मारुति वैन में खींच लिया और वहां से भाग गये. अपहरण की यह घटना नामकुम के कालीनगर में हुई है. उसकी सहेली ने बताया कि अपहरण के समय बच्ची ने शोर भी मचाया, लेकिन कोई उसकी मदद के लिए आगे आ पाता, उसके पहले ही वैन लेकर बदमामश वहां से चंपत हो गये.

इसे भी पढ़ें : नक्सली रवींद्र गंझू के दस्ते ने लोहरदगा के बुलबुल जंगल में बिछा रखी थी IED, विस्फोट में ग्रामीण की मौत

सुबह करीब साढ़े छह बजे हुई इस घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस के वरीय अधिकारी पहुंचे. ग्रामीण एसपी स्वयं घटनास्थल पर पहुंचे. बच्ची की बरामदगी के लिए छापामारी जारी है. बच्ची के बारे में विस्तृत जानकारी नहीं दी गयी है. दिन-दहाड़े राजधानी से एक स्कूली बच्ची के अपहरण से लोग सकते में हैं. पुलिस भी बेहद परेशान है. हालांकि, पुलिस कह रही है कि बच्ची को जल्द ही बरामद कर लिया जायेगा और अपराधी भी गिरफ्तार कर लिये जायेंगे.

इसे भी पढ़ें : संथाल परगना में मौसम ने करवट बदली, साहिबगंज में तेज बारिश से ठिठुरे लोग, किसानों के चेहरे खिले

अपहरण के पांच घंटे से ज्यादा बीत चुके हैं, लेकिन पुलिस अब भी खाली हाथ है. यहां तक कि पुलिस यह भी पता नहीं कर पायी है कि बच्ची कौन है, कहां की रहने वाली है और किस स्कूल में पढ़ती है. ग्रामीण एसपी, डीएसपी, थाना प्रभारी समेत तमाम अधिकारी सीसीटीवी के भरोसे हैं. सबसे आश्चर्य की बात यह है कि जिस जगह से बच्ची का अपहरण हुआ है, वहां कई बड़े संस्थान हैं, लेकिन रास्ते में कहीं कोई सीसीटीवी नहीं लगा है.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement