monghyr

  • Nov 1 2019 4:27PM
Advertisement

छठ घाट बनाने के दौरान चाचा-भतीजा की डूबने से मौत, गांव में पसरा सन्नाटा

छठ घाट बनाने के दौरान चाचा-भतीजा की डूबने से मौत, गांव में पसरा सन्नाटा

बरियारपुर / मुंगेर : जिले के बरियारपुर थाना क्षेत्र के दीवानी टोला गांव के पीछे गंगा घाट में छठ घाट बनाने के क्रम में चाचा-भतीजा की मौत गंगा में डूबने से हो गयी. घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची बरियारपुर पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर कागजी कार्रवाई के बाद पोस्टमार्टम के लिए मुंगेर भेज दिया.

ये भी पढ़ें : पहली बार छठ करने जा रही थी शांति, उजड़ा घर-संसार, दर्जनभर परिवार में नहीं होगा छठ

जानकारी के अनुसार, मुंगेर : जिले के बरियारपुर थाना क्षेत्र के दीवानी टोला गांव निवासी 27 वर्षीय सियाराम कुमार दास एवं उनका 15 वर्षीय अपने भतीजे विवेक कुमार गांव के पीछे छठ घाट बनाने के लिए गंगा घाट गये थे. छठ घाट बनाने के क्रम में मिट्टी का धसना गिरने से दोनों गहरे पानी में चले गये. पहले भतीजा विवेक कुमार पानी में डूबने लगा, जिसे बचाने के लिए चाचा सियाराम कुमार दास प्रयास करने लगे. इसके बाद भतीजे को बचाने के दौरान चाचा भी डूबने लगे. वहीं, आसपास के लोग दौड़ कर मौके पर पहुंचे और बचाने का प्रयास करने लगे. बचाने के दौरान वे लोग भी डूबने लगे.इसके बाद स्थानीय गांव के लोगों ने देखा, तो अन्य लोगों को डूबने से बचाया. लेकिन, चाचा-भतीजे को बचाया नहीं जा सका.

विवेक कुमार तीन भाई-बहनों में अकेला भाई था. वह फिलिप उच्च विद्यालय में कक्षा नौ का छात्र था. विवेक की मौत की खबर सुन कर उसकी बहनें, माता आशा देवी एवं पिता देवेंद्र कुमार का रो-रो कर बुरा हाल है. वहीं, चाचा सियाराम कुमार दास को तीन पुत्र हैं. पति की मौत पर पत्नी शांति देवी की आंखों से आंसू बंद नहीं हो पा रहे हैं. 

 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement