Advertisement

giridih

  • Aug 10 2018 8:47AM

झारखंड में सिविल सर्जन के कमरे से मिले आठ बंडल डेटोनेटर

झारखंड में सिविल सर्जन के कमरे से मिले आठ बंडल डेटोनेटर

गिरिडीह : सिविल सर्जन डाॅ रामरेखा प्रसाद के मकतपुर स्थित किराये कमरे में डेटोनेटर के आठ बंडल मिलने से सनसनी फैल गयी. सूचना पर एसडीओ विजया जाधव, एएसपी दीपक कुमार पहुंचे और बंडल जब्त कर लिया.

 

 

गुरुवार को दोपहर में एसडीओ को सूचना मिली कि सिविल सर्जन के फ्लैट में कुछ आपत्तिजनक सामान हैं. सूचना मिलते ही एसडीओ वहां पहुंचीं. सिविल सर्जन को बुलाया और उनसे कमरा खोलने को कहा.

 


 

एसडीओ की सूचना पर एसपी सुरेंद्र कुमार झा ने एएसपी दीपक कुमार को दलबल के साथ भेजा. एसडीओ व एएसपी दीपक कुमार की मौजूदगी में कमरे की तलाशी ली गयी, तो खिड़की के नीचे पेपर में लपेटकर रखे गये आठ बंड डेटोनेटर मिले, जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया.

 

सिविल सर्जन से थाना प्रभारी ने की लंबी पूछताछ

नगर थाना प्रभारी विनय कुमार ने सिविल सर्जन डाॅ रामरेखा प्रसाद से लंबी पूछताछ की. डॉ प्रसाद ने बताया कि हर दिन सुबह वह ड्यूटी पर चले जाते हैं. शाम सात बजे लौटते हैं.

 


 

इस बीच, गुरुवार की दोपहर एसडीओ का फोन आया कि उनके आवास में किसी ने खिड़की से कुछ सामान फेंक दिया है. जब वह पहुंचे और कमरा खोला गया, तो खिड़की के पास से पेपर में लपेटा हुआ डेटोनेटर का बंडल मिला.

 


 

बताया कि हो सकता है किसी ने उन्हें फंसाने के लिए साजिश रची हो. सीएस से पूछताछ के बाद थानेदार ने सिविल सर्जन के कमरे के अगल-बगल रहनेवाले लोगों से भी पूछताछ की.

 

अनभिज्ञ दिखे अन्य कमरों में रहनेवाले लोग

डेटोनेटर मिलने के बाद इस बिल्डिंग में रहनेवाले अन्य लोग भी हतप्रभ थे. लोगों ने बताया कि यहां पर कई लोग किराये पर रहते हैं. कुछ छात्र भी रहते हैं. कई अन्य संस्थाओं के कार्यालय भी इस भवन में हैं. दिन भर लोगों का आना-जाना लगा रहता है. कौन कब आता है और कब जाता है, इस पर किसी का ध्यान नहीं रहता.

 

कई बिंदुओं पर की जा रही है जांच : एएसपी

एएसपी दीपक कुमार ने कहा कि कई बिंदुओं पर मामले की जांच की जा रही है. इस बिंदु पर बी जांच चल रही है कि सीएस को डराने या फंसाने की साजिश तो नहीं रची गयी थी. पुलिस पता लगा रही है कि इस इलाके या इस भवन में खनन व्यवसाय से जुड़ा कोई शख्स रहता है या नहीं.

 

सूचना पर की गयी जांच: एसडीओ

एसडीओ विजया जाधव ने कहा कि दोपहर में उन्हें सूचना मिली कि सिविल सर्जन के आवास की खिड़की से कुछ सामान फेंका गया है. इसके बाद वह जांच करने पहुंची थीं. पुलिस को भी जांच के लिए बुला लिया गया था. उन्होंने कहा कि शरारती तत्वों का भी इस मामले में हाथ हो सकता है.

Advertisement

Comments