Advertisement

bhagalpur

  • Apr 17 2019 7:55AM
Advertisement

भागलपुर : घरेलू झगड़े में छोटे बेटे के साथ मिल कर पिता ने बड़े बेटे को काट डाला

भागलपुर : घरेलू झगड़े में छोटे बेटे के साथ मिल कर पिता ने बड़े बेटे को काट डाला

भागलपुर : जिले के गोराडीह थाना क्षेत्र के पश्चिम टोला में मंगलवार की शाम एक अपने छोटे बेटे के साथ मिल कर पिता ने अपने बड़े बेटे को चारा काटने वाले हंसिये से वार कर मौत के घाट उतार दिया. मामला पारिवारिक विवाद का बताया जा रहा है. इधर, पुलिस ने मृतक के छोटे भाई आशीष मंडल को गिरफ्तार कर लिया और पुलिस हिरासत में मृतक के जख्मी पिता शिवनारायण मंडल और उनकी पत्नी हीरा देवी का इलाज मायागंज अस्पताल में करा रही है. मामले में मृतक की पत्नी गीता देवी ने ससुर और देवर पर हत्या का आरोप लगाया है.

गोराडीह पुलिस मृत सुरेश मंडल के हत्यारोपित पिता शिवनारायण मंडल और मां हीरा देवी को लेकर इलाज कराने के लिए मायागंज अस्पताल पहुंची थी. मायागंज अस्पताल में हत्यारोपित पिता ने बताया कि सुरेश आये दिन शराब पीकर घर पहुंचता था और घर पर अपने मां-पिता और भाई के साथ गाली गलौज और मारपीट करता था. मंगलवार शाम भी सुरेश शराब के नशे में घर पहुंचा, जहां उसने कुट्टी काटने वाले हंसिये से अपने पिता और मां की पिटाई शुरू कर दी. यह देख सुरेश का छोटा भाई आशीष मंडल बीच-बचाव के लिए पहुंचा. इसके बाद सुरेश ने उसे भी पीटना शुरू कर दिया. इसी दौरान आशीष ने सुरेश के हाथ से हंसिया छीन लिया और उल्टा सुरेश की पिटाई शुरू कर दी. इसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया. इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने सुरेश समेत उसके पिता शिवनारायण मंडल और मां हीरा देवी को इलाज के लिए मायागंज अस्पताल लेकर पहुंची, जहां डॉक्टरों ने सुरेश को मृत घोषित कर दिया. 

इधर, मायागंज अस्पताल पहुंची मृतक सुरेश की पत्नी गीता देवी द्वारा पुलिस को दिये गये फर्द बयान में ससुर शिवनारायण मंडल और देवर आशीष मंडल पर सुरेश की हत्या करने का आरोप लगाया है. उसने पुलिस को बताया कि शिवनारायण मंडल द्वारा उसके बड़े और छोटे बेटे को जमीन का हिस्सा कर दे दिया गया था. लेकिन, सुरेश को उसके पिता ने हिस्से में कोई जमीन नहीं दी. इस बात को लेकर आये दिन पिता और सुरेश के बीच झगड़ा चलता था. इसी बात को लेकर पूर्व में पिता शिवनारायण मंडल और छोटे भाई आशीष ने सुरेश पर केरोसिन डाल कर जलाने का प्रयास किया था. हालांकि, सही समय पर इलाज कराने की वजह से उसकी जान बच गयी थी. इसी बात को लेकर मंगलवार शाम भी दोनों ने मिलकर सुरेश के साथ मारपीट की. दोनों ने मिल कर पहले कुदाल से सुरेश का सिर फोड़ दिया और पैर काट दिया. और जब तक सुरेश मर नहीं गया, तब तक कुदाल से दोनों मिल कर पीटते रहे. बीच-बचाव करने में दोनों ने मिल कर गीता देवी को जख्मी कर दिया. पुलिस ने मामले में फर्द बयान दर्ज कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement