1. home Hindi News
  2. national
  3. sangrur ssp mandeep s sidhu will contributes rs 21000 every month to his salary for farmers daughters education vwt

मिसाल : किसानों की बेटियों की पढ़ाई के लिए संगरूर के एसएसपी दान करेंगे सैलरी, दो उद्यमी भी आए आगे

मीडिया से बात करते हुए पंजाब के संगरूर के एसएसपी मनदीप एस सिद्धू ने कहा कि आर्थिक तंगी की वजह से आत्महत्या करने वाले किसानों की बेटियों की मदद करने के लिए यह एक छोटा सा प्रयास है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
संगरूर के एसएसपी मनदीप एस सिद्धू
संगरूर के एसएसपी मनदीप एस सिद्धू
फोटो : ट्विटर

चंडीगढ़ : समाज में गरीबी और अनहोनी की चपेट में आए लोगों को मदद कर मिसाल कायम करने वालों की कमी नहीं है. खासकर, सामाजिक सौहार्द्र के क्षेत्र में नित नए कीर्तिमान स्थापित करने वाले भारत जैसे देश में ऐसे लोगों की कमी नहीं है. पंजाब में संगरूर के एसएसपी मनदीप एस सिद्धू ने आर्थिक तंगी की वजह से जान गंवाने वाले किसानों की बेटियों की पढ़ाई के लिए अपने वेतन का एक बड़ा हिस्सा दानकर मानवता की मिसाल कायम की है. उनकी ओर से उठाए गए कदम के बाद राज्य के दो उद्यमियों ने भी किसानों की बेटियों की पढ़ाई में मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया है.

हर महीने 21 हजार रुपये करेंगे दान

समाचार एजेंसी एएनआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, संगरूर के एसएसपी मनदीप एस सिद्धू पंजाब में आर्थिक तंगी की वजह से आत्महत्या करने वाले किसानों की बेटियों की अच्छी पढ़ाई के लिए अपने वेतन का एक बड़ा हिस्सा दान करने का फैसला किया है. रिपोर्ट के अनुसार, एसएसपी मनदीप सिंह ने किसानों की बेटियों की शिक्षा के लिए सबसे पहले अपने वेतन से 51,000 रुपये दान किए हैं. इसके बाद, उन्होंने इस मद के लिए अपने वेतन से हर महीने करीब 21,000 रुपये दान करने का फैसला किया है.

एक छोटा सा प्रयास

मीडिया से बात करते हुए पंजाब के संगरूर के एसएसपी मनदीप एस सिद्धू ने कहा कि आर्थिक तंगी की वजह से आत्महत्या करने वाले किसानों की बेटियों की मदद करने के लिए यह एक छोटा सा प्रयास है. उन्होंने कहा कि मैंने अपने वेतन से सबसे पहले 51,000 रुपये दिए हैं. इसके साथ ही, उन्होंने यह भी कहा कि जब तक मैं यहां पदस्थापित रहूंगा, हर महीने 21,000 रुपये देता रहूंगा.

दो उद्यमियों ने बढ़ाया मदद का हाथ

इसके साथ ही, संगरूर के एसएसपी मनदीप एस सिद्धू ने यह भी कहा कि मेरी पहल पर दो उद्यमी भी प्रेरित हुए हैं. उन्होंने कहा कि इनमें से एक ने 21 लाख रुपये देने का फैसला किया है. वहीं, दूसरे उद्योगपति ने धुरी के 13 सरकारी स्कूलों को 9 से 12वीं कक्षा में पढ़ाई करने वाली छात्रों के लिए 26 लाख रुपये का चेक दिया है. उन्होंने कहा कि इन सभी विद्यार्थियों को इस साल किसी प्रकार की फीस का भुगतान नहीं करना पड़ेगा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें