1. home Hindi News
  2. national
  3. sa bobde wanted to involve shahrukh khan in ayodhya case and he wanted foundation of ram temple to muslim rkt

शाहरुख खान चाहते थे अयोध्या में राम मंदिर की नींव मुसलमान रखे, CJI बोबडे के रिटायरमेंट के दिन हुआ बड़ा खुलासा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
शाहरुख खान चाहते थे अयोध्या में राम मंदिर की नींव मुसलमान रखे
शाहरुख खान चाहते थे अयोध्या में राम मंदिर की नींव मुसलमान रखे
फोटो - ट्वीटर

Shahrukh Khan Ayodhya News: चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एस. ए. बोबडे (Chief Justice of India SA Bobde) शाहरुख खान से अयोध्या विवाद में मध्यस्थता कराना चाहते थे. जी हां आप सही सुन रहे हैं बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान से अयोध्या विवाद में मध्यस्थता कराना चाहते थें CJI. इस बात का खुलासा किया है सुप्रीम कोर्ट के सीनियर एडवोकेट विकास सिंह ने. भारत के 47वें मुख्य न्यायाधीश शरद अरविंद बोबडे कल शुक्रवार को सेवानिवृत्त हो गए. चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया के विदाई समारोह में में यह दिलचस्प जानकारी निकलकर सामने आयी.

अयोध्या केस में शाहरुख खान को बनाना चाहते थे मध्यस्थ

बता दें कि शुक्रवार को चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया शरद अरविंद बोबडे का कार्यकाल के अंतिम दिन था और उन्हें विदाई दी जा रही थी. सुप्रीम कोर्ट के सीनियर एडवोकेट विकास सिंह ने इस विदाई समारोह के दौरान एक दिलचस्प जानकारी दी. विकास सिंह ने बताया कि जस्टिस बोबडे ने उनसे शाहरुख खान के लिए इस मामले में मध्यस्थता करने के लिए कहा था। बाद में शाहरुख खान ने इस पर सहमति भी जता दी थी. यह उस समय की बात है जब मध्यस्थता बहुत प्रारंभिक चरण में थे और न्यायमूर्ति बोबड़े, अयोध्या पीठ के सदस्य थें जिनका दृढ़ विचार था कि अयोध्या विवाद को मध्यस्थता के माध्यम से हल किया जाना चाहिए .

शाहरुख चाहते थे मंदिर की नींव मुसलमान, मस्जिद की नींव रखे हिंदू

विकास सिंह ने आगे बताया कि जब उन्होंने शाहरुख खान से बात की तो उनकी इच्छा मध्यस्थता प्रक्रिया का हिस्सा बनने के लिए थी क्योंकि उन्हें लगा कि यह सबसे अच्छा तरीका यह है कि जब हिंदू और मुस्लिम इस देश में शांति से रह सकते हैं. उन्होंने आगे यह भी बताया कि खान ने यहां तक कहा कि मंदिर की नींव मुसलमानों द्वारा रखी जाए, और मस्जिद की नींव हिंदुओं द्वारा. लेकिन मध्यस्थता प्रक्रिया विफल हो गई और इसलिये यह योजना छोड़ दी गई. बता दें कि 8 मार्च 2019 को अयोध्या मामले की सुनवाई के दौरान जस्टिस बोबडे ने ही एक मध्यस्थता कमिटी के गठन का सुझाव दिया था.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें