27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Rajkot Fire : क्या इस वजह से लगी आग? राजकोट के ‘गेम जोन’ में आग ने मचाया कोहराम, 27 की मौत

Rajkot Fire : गुजरात के राजकोट शहर से शनिवार को एक बड़ी खबर आई. यहां के एक ‘गेम जोन’ में भीषण आग लग गई जिससे 27 लोगों की मौत हो गई. आग की वजह आई सामने

Rajkot Fire : गुजरात के राजकोट शहर में शनिवार शाम एक ‘गेम जोन’ में भीषण आग लग गई जिससे चार बच्चों समेत कम से कम 27 लोगों की मौत हो गई. अभी भी आशंका व्यक्त की जा रही है कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है. पुलिस की ओर से जानकारी दी गई है कि ‘गेम जोन’ के मालिक और प्रबंधक को हिरासत में लिया गया. उन्हें पूछताछ के लिए थाने ले जाया गया है. वहीं गुजरात सरकार ने मामले की जांच के लिए विशेष जांच दल का गठन किया है. वहीं, इस अग्निकांड पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, पीएम नरेंद्र मोदी, कांग्रेस नेता राहुल गांधी सहित सभी राजनीतिक हस्तियों ने दुख व्यक्त किया है.

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष सांघवी ने क्या कहा

इस अग्निकांड पर गुजरात के गृह मंत्री हर्ष सांघवी ने कहा कि राजकोट में बहुत दुखद घटना हुई, कई परिवार के सदस्यों ने अपने प्रियजनों को खो दिया है जबकि घटना में कई बच्चों की भी जान गई है. एसआईटी को जांच शुरू करने का निर्देश दिया गया है. उन्होंने कहा कि सभी प्रकार की जांच आज ही शुरू हो जाएगी और जल्द ही कार्रवाई की जाएगी. हमारी पहली प्राथमिकता यह है कि हमारे पास जानकारी उपलब्ध है, एक व्यक्ति अभी भी लापता है और उसे ढूंढना हमारी जिम्मेदारी है.

राजकोट अग्निकांड पर एसआईटी प्रमुख सुभाष त्रिवेदी ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना है…इसकी जांच के लिए एसआईटी टीम का गठन किया जा चुका है. किस विभाग ने क्या-क्या किया, इसकी पूरी जांच की जाएगी. इसके लिए कौन जिम्मेदार है और क्या-क्या गलतियां हुई हैं, इसकी जांच की जाएगा. उन्होंने कहा कि भविष्य में ऐसी घटना न हो, इसके लिए क्या किया जाना चाहिए, इन सभी बातों का ध्यान रखते हुए जांच को आगे बढ़ाया जाएगा.

मृतकों में 12 साल से कम उम्र के कम से कम चार बच्चे

अधिकारियों की ओर से जो जानकारी दी गई है उसके अनुसार, गेमिंग के लिए बनाए गए फाइबर के एक ढांचे में शाम करीब साढ़े चार बजे आग लग गई, जिसके बाद प्रभावित टीआरपी गेम जोन में राहत एवं बचाव अभियान जारी है. सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) राधिका भराई ने बताया कि आग की घटना में 27 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है. शव पूरी तरह से जल गए हैं. शवों की पहचान करना मुश्किल है. एसीपी विनायक पटेल ने कहा कि मृतकों में 12 साल से कम उम्र के कम से कम चार बच्चे शामिल हैं.

प्रत्यक्षदर्शियों ने क्या कहा

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो, नाना-मावा रोड स्थित गेम जोन में यह हादसा उस समय हुआ जब बच्चों सहित कई लोग गेम का आनंद ले रहे थे. राजकोट के जिलाधिकारी प्रभाव जोशी ने बताया कि गेम जोन में आग लगने की सूचना अग्नि नियंत्रण कक्ष को शाम करीब 4:30 बजे मिली. आग बुझाने के लिए दमकल गाड़ियां और एंबुलेंस मौके पर पहुंचीं और मलबा हटाने में जुट गईं.

Read Also : Gujarat Fire: गुजरात में ‘गेमिंग जोन’ में लगी भीषण आग, बच्चों समेत 20 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख

क्या इस वजह से आग तेजी से फैली

इस बीच खबर है कि गुजरात सरकार ने मृतकों के परिवारों को 4 लाख रुपये और घायलों को 50 हजार रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, टीआरपी गेम जोन में डीजल जनरेटर के लिए, गो कार रेसिंग के लिए पेट्रोल एकत्रित करके रखा गया था. यही वजह रही कि आग इतनी फैली और पूरा स्ट्रक्चर जल कर राख में तब्दील हो गया. यही नहीं, गेम जोन से बाहर निकलने और इंट्री के लिए 6 से 7 फीट का एक ही रास्ता था. बताया जा रहा है कि शनिवार को एंट्री के लिए 99 रुपये की स्कीम थी जिसकी वज़ह से भीड़ कुछ ज्यादा थी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें