1. home Hindi News
  2. national
  3. raids at 12 locations including house of aphc pakistan president in jammu kashmir against terror funding vwt

जम्मू-कश्मीर : टेरर फंडिंग के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, SIA ने पाक आतंकियों के संभावित 12 ठिकानों पर मारे रेड

अधिकारियों के मुताबिक, जांच एजेंसी एसआईए की एक टीम ने शुक्रवार को स्थानीय पुलिस की मदद से जम्मू, कठुआ, डोडा और कश्मीर के दर्जनभर ठिकानों पर छापे मारे. उन्होंने भद्रवाह के मस्जिद मोहल्ला इलाके में स्थित एक मकान की भी तलाशी ली.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
जम्मू-कश्मीर में छापेमारी करती एसआईए की टीम
जम्मू-कश्मीर में छापेमारी करती एसआईए की टीम
फोटो : ट्विटर

जम्मू/भद्रवाह : जम्मू-कश्मीर में टेरर फंडिंग के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की जा रही है. इस सिलसिले में स्टेट इन्वेस्टिगेटिंग एजेंसी (एसआईए) ने भद्रवाह में एपीएचसी पाकिस्तान के अध्यक्ष के पैतृक आवास समेत 12 ठिकानों पर छापेमारी की. अधिकारियों ने बताया कि गांधीनगर पुलिस थाने में एक मामला दर्ज किया गया था. इसके बाद इसे गहन जांच के लिए एसआईए को सौंप दिया गया.

अधिकारियों के मुताबिक, जांच एजेंसी एसआईए की एक टीम ने शुक्रवार को स्थानीय पुलिस की मदद से जम्मू, कठुआ, डोडा और कश्मीर के दर्जनभर ठिकानों पर छापे मारे. उन्होंने भद्रवाह के मस्जिद मोहल्ला इलाके में स्थित एक मकान की भी तलाशी ली. खबरों के अनुसार, इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद बेचने वाले एक व्यक्ति के आवास और दुकान पर छापे मारे गए.

अधिकारियों ने बताया कि एसआईए ने मस्जिद मोहल्ला इलाके में जुबैर खतीब के मकान की तलाशी ली. बताया जाता है कि जुबैर का पिता हुसैन खतीब 20 साल से अधिक समय से पाकिस्तान में है. वह प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन से जुड़ा हुआ है. खबरों के मुताबिक, जुबैर की दुकान से एक वाई-फाई राउटर जब्त किया गया है.

टेरर फंडिंग के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल

उधर, खबर यह भी है कि एसआईए ने टेरर फंडिंग से जुड़े एक मामले में यहां एक अदालत में आरोपपत्र दाखिल किया. अधिकारियों ने बताया कि इस मामले में आतंकवादियों के तीन साथियों को पिछले साल सिधरा पुल इलाके से गिरफ्तार किया गया था. उनके पास से 43 लाख रुपये की नकदी बरामद की गई थी. अधिकारियों के मुताबिक, गिरफ्तार लोगों से बरामद पैसा पंजाब से दक्षिण कश्मीर लाया जा रहा था. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने पिछले साल इस मामले की जांच एसआईए को सौंप दी थी. एक अधिकारी ने कहा कि एसआईए ने शुक्रवार को अदालत में टेरर फंडिंग मामले में एक आरोपपत्र दाखिल किया.

पंजाब से दक्षिण कश्मीर लाई जा रही थी नकदी

मामले की जानकारियों के अनुसार, पंजाब से दक्षिण कश्मीर में नकदी की एक खेप लाई जा रही थी, जिसकी सूचनी मिलने पर एक विशेष दल गठित किया गया. जानकारी के मुताबिक, विशेष दल ने पिछले साल 17 नवंबर को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर नगरोटा इलाके में सिधरा पुल पर एक जांच चौकी बनाई और एक वाहन को रोका. अधिकारियों ने बताया कि वाहन में सवार यात्रियों से उनकी गतिविधियों को लेकर पूछताछ की गई, लेकिन वे संतोषजनक जवाब नहीं दे सके.

जैश की ओर से कश्मीर भेजा जा रहा था पैसा

अधिकारियों के अनुसार, वाहन की सघन तलाशी में दो बैग मिले. इन दोनों बैग में 43 लाख रुपये की नकदी मौजूद थी. अधिकारियों के अनुसार, आरोपियों से और पूछताछ करने पर पता चला कि यह पैसा प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) की आतंकी गतिविधियों के वित्त पोषण के लिए पंजाब से दक्षिण कश्मीर ले जाया जा रहा था. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपी सीमा पार अपने आकाओं और दक्षिण कश्मीर में आतंकवादियों के लगातार संपर्क में थे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें