1. home Home
  2. national
  3. punjab news terror module busted that attacked pathankot army camp mtj

पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक, पाकिस्तानी नाव की जब्ती के बाद अब पंजाब में ISYF के आतंकी मॉड्यूल का खुलासा

पंजाब की पुलिस ने पठानकोट में दो-दो बार हुए हैंड ग्रेनेड हमले का खुलासा करते हुए 6 लोगों को गिरफ्तार करके इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन के आतंकी मॉड्यूल का खुलासा किया है. डीजीपी ने बड़ी बात कही है...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
ISYF के 6 सदस्यों को हथियार एवं विस्फोटकों के साथ किया गिरफ्तार
ISYF के 6 सदस्यों को हथियार एवं विस्फोटकों के साथ किया गिरफ्तार
Twitter

चंडीगढ़: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक (PM Modi Security Lapse) और पाकिस्तानी नाव की जब्ती के बाद अब पंजाब में एक खतरनाक आतंकवादी मॉड्यूल का खुलासा (Terror Module Busted in Punjab) हुआ है. पंजाब पुलिस ने ग्रेनेड हमला (GranadeAttack) और पठानकोट आर्मी कैंप पर हमला के मामले को सुलझा लेने का भी दावा किया है. पंजाब पुलिस ने कहा है कि पठानकोट आर्मी कैंप पर जिन आतंकवादियों ने हमला किया था, उन्हें इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन (ISYF) समूह का समर्थन प्राप्त था. पुलिस ने इस समूह के 6 आतंकवादियों को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस ने बताया है कि आतंकवादी मॉड्यूल के जिन सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है, उनकी पहचान अमनदीप उर्फ मंत्री, गुरविंदर सिंह उर्फ गिंदी, परमिंदर कुमार उर्फ रोहित, राजिंदर सिंह उर्फ मालही, हरप्रीत सिंह उर्फ ढोलकी और रमन कुमार के रूप में हुई है. ये सभी गुरदासपुर के निवासी बताये गये हैं. पंजाब के डीजीपी वीके भावरा ने बताया है कि एसबीएस नगर पुलिस ने इनके पास से 6 हैंड ग्रेनेड (86P), 9 एमएम की एक पिस्टल, .30 बोर की एक राइफल के अलावा जिंदा कारतूस और मैगजीन बरामद हुए हैं.

पंजाब पुलिस की ओर से मीडिया को बताया गया है कि दो मौकों पर अज्ञात लोगों ने पठानकोट में हैंड ग्रेनेड से हमला किया था. 11 नवंबर 2021 को एक बार चक्की पुल के पास ग्रेनेड से हमला किया गया, जबकि दूसरी बार 21 नवंबर को पठानकोट स्थित सेना के 21 सब-एरिया के त्रिवेणी द्वार के बाहर हमला किया गया था. ज्ञात हो कि हाल ही में पंजाब में पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक का मामला सामने आया था. प्रदर्शनकारियों ने पीएम के काफिले का रास्ता रोका और प्रधानमंत्री को 20 मिनट तक फ्लाईओवर पर रुकना पड़ा.

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक के बाद फिरोजपुर जिला में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने सीमा चौकी के पास से एक पाकिस्तानी नाव को जब्त किया था. इससे पहले, कई पाकिस्तानी ड्रोनों ने जिला में भारतीय सीमा में सेंध लगायी थी. बीएसएफ के एक सीनियर ऑफिसर ने बताया कि लकड़ी की नाव को इंटरनेशनल बॉर्डर पर डीटी मॉल सीमा चौकी के पास गश्ती के दौरान बीएसएफ के 136 बटालियन के जवानों ने देखा. ऐसी नावों का इस्तेमाल सीमा पार से ड्रग्स और हथियार भेजने के लिए किये जाते हैं.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें