1. home Hindi News
  2. national
  3. pranab mukherjee asked for jackfruit from village pranabs son abhijit says health updates kathal pranab da amh

Pranab Mukherjee Health Updates : प्रणब मुखर्जी की सेहत में कोई सुधार नहीं, बीमार होने से पहले बेटे से किया था यह डिमांड

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Pranab Mukherjee Health Updates
Pranab Mukherjee Health Updates
PTI

Pranab Mukherjee Health Updates : पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में आज सुबह कोई बदलाव नहीं आया. वह देखभाल और वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं. उनके महत्वपूर्ण पैरामीटर फिलहाल स्थिर हैं. यह जानकारी आर्मी रिसर्च एंड रेफरल(आर एंड आर) अस्पताल ने शुक्रवार सुबह दी. प्रणब मुखर्जी (84) को 10 अगस्त को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उनकी ब्रेन सर्जरी की गई थी और कोविड-19 जांच में उनके संक्रमित होने की भी पुष्टि हुई थी.

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक वेंटिलेंटर पर जाने से कुछ दिन पहले ही पूर्व राष्ट्रपति ने अपने बेटे अभिजीत मुखर्जी को कॉल किया था. बातचीत के दौरान वे गांव में बिताए पल को याद कर रहे थे. प्रणब मुखर्जी को गांव की याद आ रही थी इसलिए उन्होंने अपने बेटे से कहा कि कटहल नीये आये…इसका मतलब मुझे कटहल लाकर दो…

यहां आपको बता दें कि अभिजीत कांग्रेस नेता हैं और पश्चिम बंगाल में रहते हैं. पिता के आग्रह पर अभिजीत कटहल लाने के लिए कोलकाता से बीरभूम स्थित गांव मिराती गये और 25 किलो का एक पका हुआ फल लिया. इसके बाद उन्होंने 3 अगस्त को दिल्ली के लिए ट्रेन पकड़ी और उनसे अपने पिता से मिले. अपना पसंदीदा फल देखकर प्रणब मुखर्जी बहुत प्रसन्न नजर आये.

प्रणब मुखर्जी ने उस दिन थोड़ा कटहल खाया….अभिजीत बताते हैं कि कटहल खाने के बाद भी उनका शुगर लेबल कंट्रोल था. वह बहुत खुश थे...उस वक्त वह बीमार नहीं थे… लेकिन एक हफ्ते बाद ही वह अचानक बीमार पड़ गए. आपको बता दें कि प्रणब मुखर्जी 2012 से 2017 तक भारत के राष्ट्रपति रहे हैं.

अभिजीत मुखर्जी का ट्वीट : अभिजीत मुखर्जी ने गुरुवार को ट्वीट किया, मेरे पिता जुझारू हैं और हमेशा रहे हैं. उपचार का उन पर धीरे-धीरे असर हो रहा है. मैं अपने पिता के शीघ्र स्वस्थ होने की सभी शुभेच्छुओं से कामना करने की अपील करता हूं. हमें उनकी जरूरत है… पूर्व राष्ट्रपति के स्वास्थ्य को लेकर अफवाहों से नाराज अभिजीत मुखर्जी ने कहा, मेरे पिता श्री प्रणब मुखर्जी अब भी जिंदा है और ‘हेमोडायनामिक' तौर पर स्थिर हैं. उन्होंने लिखा, कई वरिष्ठ पत्रकारों के सोशल मीडिया पर गलत खबरें फैलाने से स्पष्ट हो गया है कि भारत में मीडिया फर्जी खबरों की एक फैक्टरी बन गई है. जब मैं देखता हूं कि भारत में कोरपोरेट मीडिया घराने, कुछ पत्रकारों और सोशल मीडिया पर लोग सुर्खियों में रहने के लिए जानबूझकर फर्जी खबरों का धंधा करने लगते हैं तो मेरा सिर शर्म से झुक जाता है. एक ही झटके में एक जीवित व्यक्ति को मृत बनाने के लिए कितना गिर जाते हैं वे….

शर्मिष्ठा मुखर्जी का ट्वीट: प्रणब मुखर्जी की बेटी एंव कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने भी ट्वीट किया, मेरे पिता के बारे में आ रही खबरें गलत हैं… मैं विशेषकर मीडिया से अनुरोध करती हूं, कि मुझे फोन ना करें.... ताकि अस्पताल से कोई भी अद्यतन जानकारी आने के समय मेरा फोन ‘बिजी' ना हो…

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें