1. home Hindi News
  2. national
  3. new turn in india china border dispute chinese diplomat linked case to kashmir article 370

लद्दाख में भारत-चीन विवाद का क्या कश्‍मीर से है कोई कनेक्शन ? सेना प्रमुख ने कहा- बातचीत जारी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
लद्दाख में भारत-चीन विवाद का क्या कश्‍मीर से है कोई कनेक्शन ? सेना प्रमुख ने कहा- बातचीत जारी
लद्दाख में भारत-चीन विवाद का क्या कश्‍मीर से है कोई कनेक्शन ? सेना प्रमुख ने कहा- बातचीत जारी
twitter

चीन और भारत के बीच लद्दाख में जारी सीमा विवाद पर सेना प्रमुख जनरल एम.एम.नरवाने ने कहा है कि मैं देश के लोगों को इस बात का विश्वास दिलाना चाहूंगा कि चीन के साथ हमारे बॉर्डर की पूरी स्थिति नियंत्रण में है. हमारी चीन के साथ बातचीत लगातार जारी है. हमें उम्मीद है कि हमारे बीच लगातार हो रही इस बातचीत से विवाद का समाधान निकलेगा. इस बयान के बीच हम आपको इस सीमा विवाद से जुड़ी एक खबर के बारे में बताते हैं जिसकी चर्चा हो रही है.

दरअसल, पाकिस्तान में चीनी दूतावास के प्रवक्ता ने भारतीय और चीनी सीमा पर सैनिकों के बीच गतिरोध को जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटाए जाने से जोड़ दिया है. वांग जियानफ़ेंग नामक इस शख्‍स के ट्विटर बायो की मानें तो वे इस्लामाबाद में चीनी मिशन में प्रेस अधिकारी हैं. वांग ने ट्वीट कर चीन के राज्य मंत्रालय या मुख्य खुफिया एजेंसी से जुड़े एक प्रभावशाली थिंक टैंक के एक विद्वान का एक लेख शेयर किया है जिसमें कहा गया है कि भारत-चीन सीमा तनाव और कश्मीर की स्थिति में बदलाव के बीच संबंध है.

वांग ने ट्वीट किया कि भारत ने कश्मीर की यथास्थिति को एकतरफा बदलने का काम किया है. साथ ही क्षेत्रीय तनावों को जारी रखने के लिए चीन और पाकिस्तान की संप्रभुता को चुनौती दी है. आगे उन्होंने कहा कि भारत-पाकिस्तान संबंध और चीन-भारत संबंध को और अधिक जटिल हो गये हैं. हालांकि इस ट्वीट के संबंध में जानकार कह रहे हैं कि ये उनकी निजी राय हो सकती है. आपको बता दें कि यह पहली बार है जब किसी चीनी अधिकारी ने कश्मीर की स्थिति में बदलाव के साथ सीमावर्ती गतिरोध को जोड़ने के संबंध में बयान दिया है.

पिछले दिनों हुई उच्चस्तरीय सैन्य बातचीत : भारत और चीन की सेनाओं ने पिछले दिनों सकारात्मक रुख के साथ उच्चस्तरीय सैन्य बातचीत की और पूर्वी लद्दाख में करीब एक महीने से सीमा पर जारी गतिरोध को शांतिपूर्ण संवाद के माध्यम से समाप्त करने का संकेत दिया. भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व लेह स्थित 14वीं कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह ने किया, जबकि चीनी पक्ष का नेतृत्व तिब्बत सैन्य जिले के कमांडर कर रहे थे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें