1. home Hindi News
  2. national
  3. nepal tourism tourists from gujarat did not get entry in nepal pkj

गुजरात के पर्यटकों को नेपाल में नहीं मिली इंट्री

By संवाद न्यूज एजेंसी
Updated Date
गुजरात के पर्यटकों को नेपाल में नहीं मिली इंट्री
गुजरात के पर्यटकों को नेपाल में नहीं मिली इंट्री
फाइल फोटो

भारत नेपाल सीमा सोनौली बॉर्डर से नेपाल जा रहे 50 भारतीय. गुजराती पर्यटकों को नेपाल पुलिस ने नेपाल प्रवेश के दौरान रोक दिया. उन्हें भारत वापस भेज दिया गया. सभी पर्यटक नेपाल के लुम्बिनी और काठमांडू में पशुपतिनाथ मंदिर जाना चाहते थे. इसके साथ ही नेपाल पुलिस ने भारत में बढ़ते कोरोना के मरीजों की संख्या को देखते हुए सीमा पर कड़ाई शुरू कर दी है. नेपाल की राजधानी काठमांडू के अलावा पोखरा जाने वाले सीमावर्ती क्षेत्र के भारतीय लोगों को सरहद से वापस किया जा रहा है.

नेपाल के बेलहिया क्षेत्र के इंस्पेक्टर ईश्वरी अधिकारी के मुताबिक उच्चाधिकारियों के निर्देश पर पर्यटकों को रोका गया है. शुक्रवार की सुबह करीब दस बजे गुजरात से एक 50 पर्यटकों का समूह नेपाल के धार्मिक स्थलों के  लिए अहमदाबाद से सोनौली पहुंचा. सोनौली में बस खड़ी कर सभी पैदल नेपाल जाने के लिए सरहद पर पहुंचे. नेपाल में इंट्री के दौरान गुजरात के पर्यटकों को बिना कोविड सर्टिफिकेट के प्रवेश से रोक दिया गया.

नेपाल पुलिस ने लॉकडाउन का हवाला देकर उन्हें भारत वापस भेज दिया. भारत में कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए नेपाल प्रशासन ने गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली सहित दूर-दूर से आने वाले भारतीय पर्यटकों को सीमा से लौटा दिया. अहमदाबाद निवासी रंजन कुमार और शीला ने बताया कि उन्हें पता था कि बॉर्डर खुला है.लोगों को पैदल आने जाने दे रहे हैं. भगवान पशुपतिनाथ के दर्शन के लिए गुजरात से चलकर यहां पहुंचे हैं.

50 लोगों का एक दल है. बाबा पशुपतिनाथ के दर्शन की इचछा अधूरी रह गई. सिद्धार्थ होटल एसोसिएशन, लुंबिनी के अध्यक्ष सीपी श्रेष्ठ ने बताया कि नेपाल में कोविड न फैले, इसलिए प्रशासन सख्त है. यात्रियों के रोके जाने को लेकर डीएम से वार्ता की जाएगी. इसके बाद अनुमति मिलने पर ही पर्यटकों को नेपाल जाने की अनुमति मिलेगी.

व्यापार मंडल नौतनवां तहसील अध्यक्ष सुभाष जायसवाल ने बताया कि एक वर्ष से सीमा बंद है. व्यापार वैसे भी चौपट है. पैदल यात्री आवागमन से कुछ व्यापार बढ़ा था. अब लगता है की फिर से समस्या बढ़ेगी. टूर एंड ट्रेवल्स कारोबारी श्रीचंद्र गुप्ता ने कहा एक वर्ष बाद कुछ यात्री नेपाल के लिए आ रहे थे, अब यात्रियों को रोकने के कारण भारतीय पर्यटक नेपाल आने से कतराएंगे .

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें