23.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

पीएम मोदी की लक्षद्वीप यात्रा से क्यों भड़का मालदीव? जानें यहां

पीएम मोदी के लक्षद्वीप यात्रा के बाद मालदीव भड़क गया है. मालदीव मंत्री के द्वारा कहा गया कि भारत को समुद्र तट पर्यटन में मालदीव के साथ कंपटीशन में महत्वपूर्ण चुनौतियों का सामना करना पड़ता है. जानें पूरा मामला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर पिछले दिनों बहुत वायरल हुई जो लक्षद्वीप की थी. इसपर यूजर लगातार प्रतिक्रिया देते नजर आए. इस बीच, पीएम मोदी के लक्षद्वीप द्वीपसमूह की यात्रा के कुछ दिनों बाद मालदीव के एक मंत्री के ट्वीट ने सोशल मीडिया पर विवाद पैदा कर दिया है. बताया जा रहा है कि देश के 32 वर्ग किमी क्षेत्रफल वाले 36 द्वीप वाले सबसे छोटे केंद्र शासित प्रदेश में उनकी यात्रा द्वीप पर पर्यटन को बढ़ावा देने की ओर एक कदम के रूप में है. पीएम मोदी की इस यात्रा के बाद मालदीव के एक मंत्री ने सोशल मीडिया पर प्रतिक्रिया दी और उन्होंने भारत पर मालदीव को निशाना बनाने का आरोप लगा दिया. मंत्री के द्वारा कहा गया कि भारत को समुद्र तट पर्यटन में मालदीव के साथ कंपटीशन में महत्वपूर्ण चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है.

#boycottmaldives सोशल मीडिया पर कर रहा है ट्रेंड

मालदीव के मंत्री के ट्वीट को लेकर भारतीय इंटरनेट यूजर्स भड़के गये हैं. वे मंत्री को अपडेट रहने की सलाह देते नजर आ रहे हैं. यूजर का कहना है कि भारत के पास मालदीव से खूबसूरत सी-बीच लक्षद्वीप में हैं. अब हमें विदेश जाने की जरूरत नहीं है. इस बीच #boycottmaldives सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है.

Also Read: कहां है लक्षद्वीप? जहां पीएम मोदी गए थे घूमने, यहां हैं एंजॉय करने के लिए खूबसूरत जगहें, आप भी बना लें प्लान

मालदीव के मंत्री का यह ट्वीट लक्षद्वीप में स्नॉर्केलिंग के बारे में एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर पीएम मोदी की पोस्ट के वायरल होने के बाद आया, जिसमें भारत में सोशल मीडिया यूजर मालदीव के वैकल्पिक पर्यटन स्थल के रूप में द्वीप केंद्र शासित प्रदेश का सुझाव देते नजर आए. आपको बता दें कि राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू के सत्ता में आने के बाद पिछले कुछ महीनों में भारत-मालदीव संबंध तनावपूर्ण हो गये हैं जिसके बाद इस तरह की खबर चर्चा का केंद्र बन गया है.

चीन के दौरे पर मुइज्जू

गौर हो कि मुइज्जू ने नवंबर 2023 में राष्ट्रपति के रूप में पदभार संभाला. अपनी चुनावी घोषणा में उन्होंने कहा था कि वह अपने द्वीप राष्ट्र में लगभग 75 भारतीय सैन्य कर्मियों की छोटी टुकड़ी को हटाने का काम करेंगे. मालदीव की ‘इंडिया फस्ट’ नीति को बदल देंगे. इस बीच चीनी विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी किया है जिसमें कहा गया है कि मुइज्जू का सोमवार को चीन का दौरा करने वाले हैं. चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने शुक्रवार को कहा कि चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने उन्हें आमंत्रित किया है.

Also Read: मालदीव में भीषण आग, 10 लोगों की मौत, मृतकों में 8 भारतीय

भारत विरोधी हैं मुइज्जू ?

मुइज्जू को चीन समर्थक राजनेता के रूप में देखा जाता है. उन्होंने सितंबर में हुए राष्ट्रपति पद के चुनाव में अपने भारत-समर्थक पूर्ववर्ती इब्राहिम मोहम्मद सोलिह को हराने के बाद मालदीव के आठवें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी.

पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने कह दी ये बात

इधर, मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर लिखा कि मालदीव सरकार की अधिकारी मरियम शिउना ने एक प्रमुख सहयोगी के नेता के प्रति कितनी ओछी भाषा का इस्तेमाल किया है, जो मालदीव की सुरक्षा और समृद्धि के लिए महत्वपूर्ण है. डॉ. मोहम्मद मुइज्जू सरकार को इन टिप्पणियों से दूरी बनानी चाहिए.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें