1. home Home
  2. national
  3. kerala cm p vijayan on love jihad narcotic jihad remark no case against pala bishop mtj

लव जिहाद-नारकोटिक्स जिहाद पर केरल के CM विजयन ने पहली बार मुंह खोला, पाला के बिशप पर कही ये बात

Kerala CM on Pala Bishop's 'Love Jihad & Narcotic Jihad' remark|केरल के मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ ऐसी ताकतें हैं, जो राज्य की शांति को भंग करना चाहते हैं. लेकिन, केरल की जनता ऐसा होने नहीं देगी.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन
केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन
Twitter

तिरुवनंतपुरमः केरल में बिशप के लव जिहाद और नारकोटिक्स जिहाद संबंधी बयान पर प्रदेश के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने बुधवार को पहली बार मुंह खोला. उन्होंने कहा कि सरकार पाला के बिशप के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने जा रही है.

केरल के मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ ऐसी ताकतें हैं, जो राज्य की शांति को भंग करना चाहते हैं. लेकिन, कुल मिलाकर केरल की जनता ऐसा होने नहीं देगी. यहां की जनता सेक्युलर है. इसलिए सभी लोगों को मिल-जुलकर सांप्रदायिक सौहार्द को बनाये रखने के लिए काम करना चाहिए.

केरल के मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार पाला के बिशप के खिलाफ कोई मुकदमा भी दर्ज नहीं करवायेगी. उन्होंने कहा कि समाज की विशेषता को कायम रखना जरूरी है. पी विजयन ने कहा कि केरल के समाज की यह खूबी है कि हम सभी के विचारों का सम्मान करते हैं. अगर कोई समस्या है, तो हम मिल-बैठकर उस पर चर्चा करेंगे और उचित समाधान ढूंढ़ेंगे.

पिनराई विजयन ने विपक्षी दल कांग्रेस को भी आड़े हाथ लिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अब खात्मे की कगार पर है. लोग पार्टी छोड़कर दूसरे दलों में शामिल हो रहे हैं. उन्हें भी अहसास हो चुका है कि कांग्रेस पार्टी का अब कोई भविष्य नहीं रह गया है.

पी विजयन ने कहा कि यह स्वाभाविक ही है कि जब कोई पार्टी बर्बादी की कगार पर पहुंच जाये, तो उसके लोग अपने के लिए सुरक्षित ठिकाना तलाश लेते हैं. कांग्रेस के साथ भी ऐसा ही हो रहा है. उन्होंने कहा कि काफी संख्या में ऐसे नेता हैं, जिन्हें लगता है कि कांग्रेस पार्टी भारतीय जनता पार्टी का मुकाबला नहीं कर सकती. कांग्रेस में सेक्युलर मूल्यों को बरकरार रखने की क्षमता नहीं रही. इसलिए लोग माकपा (सीपीएम) में आ रहे हैं.

लव जिहाद और नारकोटिक्स जिहाद पर बिशप का बयान

ज्ञात हो कि पाला के बिशप ने कहा था कि एक साजिश के तहत केरल में गैर-मुस्लिमों को बर्बाद करने की साजिश रची जा रही है. वे लोग तालिबान की तरह सीधे हमला करके लोगों को खत्म नहीं कर सकते, इसलिए लव जिहाद और नारकोटिक्स जिहाद को हथियार बनाया गया है. मादक पदार्थों की तस्करी से मिलने वाले पैसे का इस्तेमाल केरल में आतंकवाद फैलाने के लिए किया जा रहा है.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें