24.7 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Hathras Stampede Video: मंच से उतर रहे थे ‘बाबा भोले’, पैर छूने के लिए दौड़े लोग और… ऐसे मची हाथरस में भगदड़

Hathras Stampede: उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले के सिकंदराराऊ क्षेत्र में आयोजित एक सत्संग में मंगलवार को भगदड़ मच गयी, जिसमें 116 लोगों की मौत हो गयी और कई अन्य घायल हो गये.

Hathras Stampede: अलीगढ़ के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) शलभ माथुर ने बताया कि हाथरस में भगदड़ की घटना में 116 लोगों की मौत हो गई है. एटा और हाथरस सटे जिले हैं और सत्संग में एटा के लोग भी शामिल होने पहुंचे थे. एटा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह ने बताया कि यह घटना पुलराई गांव में सत्संग में हुई, जिसमें शामिल होने के लिये बड़ी संख्या में लोग आए थे.

कैसे मची भगदड़, सीएम योगी ने बताई पूरी कहानी

हाथरस भगदड़ पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, घटना अत्यंत दुखद और हृदय विदारक है. जनपद हाथरस के सिकंदराराऊ में ये पूरा हादसा घटित हुआ है. स्थानीय आयोजकों द्वारा वहां पर भोले बाबा के सत्संग का आयोजन स्थानीय गांवों में किया जाते रहे हैं. स्थानीय भक्तगण उन कार्यक्रमों में भाग लेते रहे हैं. जब सत्संग के प्रवचनकर्ता मंच से उतर रहे थे तो अचानक भक्तों की भीड़ उन्हें छूने के लिए वहां जा रही थी और सेवादारों के द्वारा रोकने पर ये हादसा वहां पर घटित हुआ.

सीएम योगी ने घटना की जांच का दिया आदेश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाथरस मामले की जांच का आदेश दिया है. उन्होंने बताया, इस पूरे मामले की जांच के लिए हमने एडिशनल DG आगरा की अध्यक्षता में मंडलायुक्त अलीगढ़ को शामिल करते हुए एक टीम बनाकर उन्हें अविलंब रिपोर्ट उपलब्ध करवाने के लिए कहा है. उन्होंने कहा, राज्य सरकार इस पूरी घटना की तह में जाएगी.

पीएमओ और सीएम योगी ने मुआवजे की घोषणा की

सीएम योगी ने हाथरस हादसे को लेकर मुआवजे की घोषणा की है. जिसमें मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए की और गंभीर रूप से घायल नागरिकों के लिए भी 50-50 हजार रुपए की सहायता देने की घोषणा की है. प्रधानमंत्री कार्यालय ने मृतकों के परिजनों के लिये दो-दो लाख रुपये और घायलों के लिये 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दिये जाने की घोषणा की.

प्रत्यक्षदर्शियों ने क्या बताया

हाथरस के जिलाधिकारी आशीष कुमार ने बताया था कि सिकंदराराऊ में ‘भोले बाबा’ का समागम हो रहा था और जब समागम का अंत हो रहा था तब उमस काफी थी, ऐसे में लोगों के बाहर निकलते समय भगदड़ मच गयी. प्रत्यक्षदर्शी शकुंतला देवी ने बताया, भोले बाबा का सत्संग चल रहा था. सत्संग खत्म होते ही कई लोग वहां से निकलने लगे. सड़क उबड़-खाबड़ होने के कारण भगदड़ मच गई और लोग एक-दूसरे पर गिर पड़े. उन्होंने बताया कि लोग एक-दूसरे के ऊपर गिरते चले गए.

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने भी जताया दुख

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने भगदड़ की घटना में लोगों की हुई मौत को ‘हृदय विदारक’ बताया और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाथरस घटना में लोगों की मौत पर दुख जताते हुए पीड़ितों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया. प्रधानमंत्री ने लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा के जवाब के दौरान कहा, चर्चा के बीच मुझे अभी एक दुखद खबर दी गई है. उत्तर प्रदेश के हाथरस में एक कार्यक्रम में भगदड़ मचने से कई लोगों की दुखद मृत्यु की सूचना आ रही है. मैं मृतकों के प्रति अपनी संवेदना (शोक) व्यक्त करता हूं. मैं सभी घायलों के जल्द से जल्द ठीक होने की कामना करता हूं. बाद में पीएम ने सीएम योगी से फोन पर बात भी की और पूरी घटना के बारे में जानकारी ली.

गृह मंत्री अमित शाह ने सीएम योगी से की बात, केंद्र से मदद का दिया आश्वासन

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को हाथरस में भगदड़ की घटना के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात की और केंद्र सरकार से हर संभव मदद का आश्वासन दिया. मुख्यमंत्री योगी ने शाह को इस दुखद घटना के बारे में भी अवगत कराया.

Also Read: Hathras Stampede: कौन हैं भोले बाबा उर्फ नारायण साकार हरि, जिनके सत्संग में मची भगदड़ बनी लोगों का काल

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें