1. home Hindi News
  2. national
  3. gujarat science city project is a mixture of entertainment and creativity pm modi said the country is moving forward ksl

गुजरात साइंस सिटी परियोजना मनोरंजन और रचनात्मकता का मिश्रण : PM मोदी, कहा- आगे बढ़ रहा है देश

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री
नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री
सोशल मीडिया

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को गुजरात साइंट सिटी में एक्वेटिक्स एंड रोबोटिक्स गैलरी और नेचर पार्क की शुरुआत की. इस मौके पर उन्होंने कहा कि साइंस सिटी परियोजना मनोरंजन और रचनात्मकता का मिश्रण है. साथ ही कहा कि आज देश का लक्ष्य सिर्फ कंक्रीट के स्ट्रक्चर खड़ा करना नहीं है.

गुजरात साइंस सिटी में एक्वेटिक्स एंड रोबोटिक्स गैलरी और नेचर पार्क की शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि साइंस सिटी परियोजना मनोरंजन और रचनात्मकता का मिश्रण है. जलीय विज्ञान गैलरी और भी दिलचस्प है. ना केवल देश का, बल्कि यह एशिया के शीर्ष एक्वैरियम में से एक है.

उन्होंने कहा कि आज देश का लक्ष्य सिर्फ कंक्रीट के स्ट्रक्चर खड़ा करना नहीं है, बल्कि आज देश में ऐसे इन्फ्रा का निर्माण हो रहा है, जिनका अपना कैरेक्टर हो. बेहतर पब्लिक स्पेस हमारी जरूरत है. हमारे शहरों की बड़ी आबादी क्वॉलिटी पब्लिक लाइफ और क्वॉलिटी पब्लिक स्पेस से वंचित रही है. अब अर्बन डेवलपमेंट की पुरानी सोच को पीछे छोड़ कर, देश आगे बढ़ रहा है.

उन्होंने कहा कि 21वीं सदी के भारत की जरूरत, 20वीं सदी के तौर तरीकों से पूरी नहीं हो सकती है. इसलिए रेलवे में नये सिरे से रिफॉर्म की जरूरत है. हमने रेलवे को सिर्फ एक सर्विस के तौर पर नहीं, बल्कि एक एसेट के तौर पर विकसित करने का काम शुरू किया है.

आज देशभर में प्रमुख रेलवे स्टेशनों का आधुनिकीकरण किया जा रहा है. टियर 2 और टियर 3 शहरों के रेलवे स्टेशन भी अब वाई-फाई सुविधा से लैस हो रहे हैं. ब्रॉड गेज पर मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग को पूरी तरह से खत्म कर दिया गया है. वडनगर की चर्चा करते हुए कहा कि आज वडनगर भी इस विस्तार का हिस्सा बन चुका है.

उन्होंने कहा कि मेरी तो वडनगर स्टेशन से कितनी ही यादें जुड़ी हैं. नया स्टेशन वाकई आकर्षक लग रहा है. नयी ब्रॉडगेज लाइन से वडनगर-मोढेरा-पाटन हेरिटेज सर्किट अब बेहतर रेल सेवा से कनेक्ट हो गया है. नये भारत के विकास की गाड़ी दो पटरियों पर एक साथ चलते हुए ही आगे बढ़ेगी. एक पटरी आधुनिकता की, दूसरी पटरी गरीब, किसान और मध्यम वर्ग के कल्याण की है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें