1. home Home
  2. national
  3. gujarat deputy cm nitin patel in tears new chief minister bhupendra patel amit shah pm modi amh

Gujarat Latest Updates : नितिन पटेल की एक ना चली! आंख में आंसू लिए बोले- कोई नाराजगी नहीं

नितिन पटेल ने कहा कि मैं अपसेट नहीं हूं. मैं भाजपा के साथ उस वक्त से काम कर रहा हूं जब मैं 18 साल का था. मैं आगे भी पार्टी के लिए काम करता रहूंगा. मैं पार्टी के किसी भी पद पर रहूं या ना रहूं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
नितिन पटेल ने कहा कि मैं अपसेट नहीं हूं.
नितिन पटेल ने कहा कि मैं अपसेट नहीं हूं.
pti

Gujarat Latest Updates : पहली बार विधायक बने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक भूपेंद्र पटेल सोमवार को गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. शपथ लेने के पहले भूपेंद्र पटेल ने सोमवार सुबह सीएम की रेस में सबसे आगे चल रहे नितिन पटेल से मुलाकात की. माना जा रहा है कि नितिन पटेल पार्टी से नाराज़ हैं. हालांकि, सोमवार को आंख में आंसू के साथ नितिन पटेल ने किसी तरह की नाराज़गी से इनकार किया है.

मीडिया से बाम करते हुए नितिन पटेल ने कहा कि मैं अपसेट नहीं हूं. मैं भाजपा के साथ उस वक्त से काम कर रहा हूं जब मैं 18 साल का था. मैं आगे भी पार्टी के लिए काम करता रहूंगा. मैं पार्टी के किसी भी पद पर रहूं या ना रहूं. पार्टी की भलाई के लिए काम करता रहूंगा. आगे नितिन पटेल ने कहा कि भूपेंद्र पटेल मेरे पुराने पारिवारिक मित्र हैं. मैंने उन्हें बधाई दी. उन्हें सीएम के रूप में शपथ लेते देखकर हमें खुशी होगी. जरूरत पड़ने पर उन्होंने मेरा मार्गदर्शन भी मांगा है.

यदि आपको याद हो तो नाम के ऐलान के पहले नितिन पटेल ने कहा था कि हमें ऐसे नाम का चुनाव करना चाहिए जिसकी गुजरात में पहचान हो और उसे सूबे के लोग जानते हों. यहां चर्चा कर दें कि भूपेंद्र पटेल विजय रूपाणी की जगह लेंगे. विजय रूपाणी राज्य में विधानसभा चुनाव से 15 महीने पहले शनिवार को अचानक पद से इस्तीफा दे दिया था. पटेल (59) को रविवार को भाजपा विधायक दल की बैठक में सर्वसम्मति से नेता चुन लिया गया और वह अपराह्न 2:20 बजे राज्य के 17वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करेंगे.

पहली बार के विधायक पटेल का नाम शीर्ष पद के लिए सामने आने पर कई लोगों को हैरानी हुई क्योंकि राजनीतिक हलकों में मुख्यमंत्री के लिए जिन नामों की अटकलें चल रही थी, उनमें कहीं भी उनका नाम नहीं था. पार्टी सूत्रों ने बताया कि सोमवार के शपथ ग्रहण समारोह में केवल पटेल शपथ लेंगे और गुजरात के नए मंत्रिमंडल के बारे में निर्णय बाद में लिया जाएगा.

गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने पटेल को मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के लिए रविवार को आमंत्रित किया. राज्यपाल ने ट्वीट किया कि भाजपा विधायक दल के नए नेता भूपेंद्रभाई पटेल ने अपने नेतृत्व में सरकार बनाने का प्रस्ताव प्रस्तुत किया था. प्रस्ताव को स्वीकार करते हुए उन्हें 13 सितंबर को अपराह्न 2:20 बजे मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के लिए आमंत्रित किया गया है.

शपथ ग्रहण समारोह में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भाग ले सकते हैं. शाह ने कल ट्वीट किया था कि मुझे विश्वास है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिशानिर्देश में और पटेल के नेतृत्व में राज्य की विकास यात्रा को नयी ऊर्जा और गति मिलेगी. भाजपा के एक प्रवक्ता ने बताया कि मोदी ने रविवार को पटेल से फोन पर बात की और उन्हें बधाई दी. पटेल इससे पहले राज्य सरकार में मंत्री भी नहीं रहे, जिस तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 साल पहले गुजरात का मुख्यमंत्री बनने से पहले कभी मंत्री नहीं रहे थे.

मोदी को सात अक्टूबर, 2001 मुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गयी थी और वह राजकोट विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में जीत हासिल कर 24 फरवरी, 2002 को विधायक चुने गये थे. पटेल को मृदुभाषी कार्यकर्ता के रूप में जाना जाता है, जिन्होंने नगरपालिका स्तर के नेता से लेकर प्रदेश की राजनीति में शीर्ष पद तक का सफर तय किया है. पटेल 2017 के विधानसभा चुनाव में राज्य की घाटलोडिया सीट से पहली बार चुनाव लड़े थे और जीते थे. उन्होंने कांग्रेस के शशिकांत पटेल को एक लाख से अधिक वोटों से हराया था, जो उस चुनाव में जीत का सबसे बड़ा अंतर था.

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें