1. home Hindi News
  2. national
  3. dharm sansad supreme court directs uttarakhand govenment to prevent hate speeches in roorkee smb

Dharm Sansad: धर्म संसद पर SC सख्त, उत्तराखंड सरकार को फटकार, कहा- हेट स्पीच पर रोक के लिए उठाए कदम

उत्तराखंड के रुड़की में 27 अप्रैल को होने जा रहे धर्म संसद के लिए सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार फटकार लगाई है. शीर्ष अदालत ने मंगलवार को उत्तराखंड सरकार को चेताते हुए कहा कि भड़काऊ भाषण पर लगाम नहीं लगी, तो वरिष्ठ अफसरों को इसके लिए जिम्मेदार माना जाएगा.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Dharm Sansad: Supreme Court warns Uttarakhand over hate speech
Dharm Sansad: Supreme Court warns Uttarakhand over hate speech
File

Dharm Sansad: उत्तराखंड के रुड़की में 27 अप्रैल को होने जा रहे धर्म संसद के लिए सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार फटकार लगाई है. शीर्ष अदालत ने मंगलवार को उत्तराखंड सरकार को चेताते हुए कहा कि भड़काऊ भाषण पर लगाम नहीं लगी, तो वरिष्ठ अफसरों को इसके लिए जिम्मेदार माना जाएगा. सुप्रीम कोर्ट ने उत्तराखंड के मुख्य सचिव को एक हलफनामा दायर कर यह स्पष्ट करने के लिए भी कहा है कि कार्यक्रम में कुछ गलत होने से रोकने के लिए कदम उठाए गए हैं.

धर्म संसद पर हिमाचल को भी नोटिस जारी

वहीं, हिमाचल के ऊना में 17 अप्रैल को हुई धर्म संसद पर भी सुप्रीम कोर्ट ने आज नोटिस जारी किया है. याचिकाकर्ता के वकील कपिल सिब्बल ने कहा था कि प्रशासन ने भड़काऊ बातों से रोकने के लिए जरूरी कदम नहीं उठाए. देश की शीर्ष अदालत ने पूछा है कि ऐसे मामलों के लिए पहले आ चुके निर्देशों के पालन के लिए लिए क्या कदम उठाए गए है.

जानिए क्या है विवाद

छत्तीसगढ़ के रायपुर की एक संगठन द्वारा आयोजित धर्म संसद में कालीचरण महाराज ने महात्मा गांधी के बारे में अपमानजनक शब्द कहे थे. साथ ही नाथूराम गोडसे को बापू की हत्या के लिए सही ठहराया था. कालीचरण महाराज ने कहा कि लोगों को धर्म की रक्षा के लिए एक कट्टर हिंदू नेता को सरकार का मुखिया चुनना चाहिए. उन्होंने कहा था कि इस्लाम का लक्ष्य राजनीति के माध्यम से राष्ट्र पर कब्जा करना है. हमारी आंखों के सामने उन्होंने 1947 में कब्जा कर लिया था. हालांकि, इस विवाद के बाद कालीचरण महाराज को अरेस्ट कर लिया गया था.

हरिद्वार धर्म संसद में हिंदुओं से की गई ये अपील

वहीं, हरिद्वार में हुई धर्म संसद में हेट स्पीच का एक वीडियो सामने आने के बाद से हड़कंप मच गया था. इस धर्म संसद में एक वक्ता ने विवादित भाषण देते हुए कहा था कि धर्म की रक्षा के लिए हिंदुओं को हथियार उठाने की जरूरत है और मुस्लिम आबादी बढ़ने पर रोक लगानी होगी. वक्ता ने यह भी कहा कि किसी भी हालत में देश में मुस्लिम प्रधानमंत्री न बने.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें