1. home Home
  2. national
  3. details of prime minister narendra modi pm narendra modi us visit pkj

आज यूएनजीए के 76वें सत्र को संबोधित करेंगे पीएम मोदी, जानें पूरा कार्यक्रम

यहां भी प्रधानमंत्री का जोरदार स्वागत हुआ. एयरपोर्ट के बाहर भारतीय खड़े रहे. संयुक्त राष्ट्र महासभा का यह 76 वां सत्र कई मायनों में भारत के लिए अहम है क्योंकि भारत इसकी अध्यक्षता कर रहा है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
 prime minister narendra modi
prime minister narendra modi
file

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन दिनों की अमेरिका यात्रा पर हैं. शुक्रवार को हुई क्वाड देशों की बैठक में शामिल होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संयुक्त राष्ट्र महासभा की 76 वें सत्र को संबोधित करने के लिए न्यूयॉर्क पहुंच गये हैं.

यहां भी प्रधानमंत्री का जोरदार स्वागत हुआ. एयरपोर्ट के बाहर भारतीय खड़े रहे. संयुक्त राष्ट्र महासभा का यह 76 वां सत्र कई मायनों में भारत के लिए अहम है क्योंकि भारत इसकी अध्यक्षता कर रहा है. भारत मजबूती से अपनी बात यहां रख सकेगा जलवायु परिवर्तन, सतत विकास, वैक्सीन की उपलब्धता, आर्थिक मंदी, महिला सशक्तिकरण, महिलाओं की सरकार में भागेदारी, आतंकवाद जैसे मुद्दों पर विशेष चर्चा की जाएगी.

इस संबंध में संयुक्त राष्ट्र संघ में भारत के स्थाई प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने साक्षात्कार में बताया है कि यह बेहद महत्वपूर्ण है. अमेरिका में महामारी की स्थिति में मामूली सुधार और किए गए टीकाकरण उपायों के बाद संयुक्त राष्ट्र को 76वें यूएनजीए को हाइब्रिड प्रारूप में आयोजित करने की अनुमति दी है. इसके अलावा आर्थिक मंदी, आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन, मध्य एशिया व अफ्रीका में छिड़े सीमा विवाद जैसे मुद्दों पर भी चर्चा होगी.

बल सिटीजन लाइव’ एक 24 घंटे का कार्यक्रम है, जो 25 और 26 सितंबर को होगा. इसके तहत मुंबई, न्यूयॉर्क, पेरिस, रियो डि जेनेरो, सिडनी, लॉस एंजिलिस, लागोस और सियोल सहित प्रमुख शहरों में सजीव कार्यक्रम होंगे. इन कार्यक्रमों का 120 देशों और कई सोशल मीडिया चैनलों पर प्रसारण किया जायेगा.

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री की तीन दिवसीय अमेरिका यात्रा का शनिवार को समापन हो रहा है. ‘ग्लोबल सिटीजन लाइव’ कार्यक्रम को संबोधित करने से पहले पीएम मोदी संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र को संबोधित करेंगे. संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र में पीएम मोदी अफगानिस्तान में सत्ता परिवर्तन समेत तमाम क्षेत्रीय मुद्दों और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के ढांचे में बदलाव की वकालत कर सकते हैं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें