1. home Hindi News
  2. national
  3. delimitation commission meeting with the political parties and officials of jammu and kashmir today the exercise of elections intensified aml

परिसीमन आयोग की टीम 4 दिनों के लिए जम्मू-कश्मीर में पीडीपी नहीं होगी बैठक में शामिल

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
गुपकर एलायंस के नेता
गुपकर एलायंस के नेता
PTI

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव (J&K Vidhansabha Chunav) की कवायद शुरू हो गयी है. परिसीमन आयोग (Delimitation Commission) की एक टीम आज जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) पहुंचेगी और वहां राजनीतिक दलों, जिला अधिकारियों और इससे जुड़े अन्य लोगों से मुलाकात करेगी. जम्मू कश्मीर में परिसीमन को लेकर चल रही प्रक्रिया पर पहली जानकारी एकत्र करेगी. आयोग के सदस्य चार दिवसीय यात्रा पहलगाम से शुरू करेंगे, जहां वे दक्षिण कश्मीर के चार जिलों अनंतनाग, पुलवामा, कुलगाम और शोपियां के अधिकारियों से मुलाकात करेंगे.

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक इसके बाद शाम को परिसीमन आयोग की टीम श्रीनगर की यात्रा करेगी, जहां उनका स्थानीय अधिकारियों और राजनीतिक नेताओं से मिलने का कार्यक्रम है. टीम का दौरा नौ जुलाई को समाप्त होगा. कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को छोड़कर, नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी), पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी), सीपीआई (एम) और नेशनल पैंथर्स पार्टी (एनपीपी) सहित अन्य सभी प्रमुख राजनीतिक दलों का टीम के साथ बैठक पर असमंजस की स्थिति में हैं.

नेकां और पीडीपी सहित छह दलों के गठबंधन पीपुल्स अलायंस फॉर गुपकर डिक्लेरेशन (पीएजीडी) ने सोमवार को कहा कि आयोग की कार्यवाही में हिस्सा लेने पर कोई संयुक्त निर्णय नहीं लिया गया है. गठबंधन ने यह भी कहा कि यह अलग-अलग पार्टियों पर निर्भर करता है कि वे परिसीमन आयोग के प्रतिनिधिमंडल से मिलना चाहते हैं या नहीं.

गुपकर के एक प्रवक्ता ने कहा कि जहां तक ​​गुपकर एलायंस का सवाल है, हमारा स्टैंड यह है कि ये स्वायत्त निकाय हैं और संबंधित राजनीतिक दल आयोग की बैठक में भाग लेने के बारे में फैसला करेंगे. पार्टियां जो भी सोचती हैं, वे उसके अनुसार कदम उठाएंगी. इसके लिए वे स्वतंत्र हैं. बता दें कि टीम का यह दौरा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिल्ली में एक सर्वदलीय बैठक में चर्चा के बाद हो रहा है.

2019 में अनुच्छेद 370 और 35A को खत्म करने के बाद केंद्र सरकार और कश्मीर के राजनीतिक नेतृत्व के बीच यह पहली उच्च स्तरीय बातचीत थी. 24 जून को जम्मू-कश्मीर के आठ दलों के 14 नेताओं के साथ बैठक के दौरान, पीएम मोदी ने कहा कि परिसीमन की कवायद जल्दी होनी चाहिए ताकि केंद्र शासित प्रदेश में एक निर्वाचित सरकार को स्थापित करने के लिए चुनाव हो सकें जो इसके विकास पथ को ताकत देगी.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें