1. home Home
  2. national
  3. congress mp shashi tharoor reaction on one of the posters released by ichr on 75 years of independence smb

75वें साल पर बने पोस्टर में नेहरू की तस्वीर नहीं, शशि थरूर ने कसा तंज- यह बिना हीरो के फिल्मी Poster जैसा

ICHR Posters on 75 Years of Independence आजादी के 75वें साल के मौके पर बने पोस्टर पर देश के पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की तस्वीर नहीं होने को लेकर सियासत तेज हो गई है. इसको मामले को लेकर कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए केंद्र सरकार को निशाने पर लिया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
वरिष्ठ कांग्रेसी नेता शशि थरूर.
वरिष्ठ कांग्रेसी नेता शशि थरूर.
फाइल फोटो.

ICHR Posters on 75 Years of Independence आजादी के 75वें साल के मौके पर बने पोस्टर पर देश के पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की तस्वीर नहीं होने को लेकर सियासत तेज हो गई है. इसको मामले को लेकर कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए केंद्र सरकार को निशाने पर लिया है. शशि थरूर ने कहा कि इन पोस्टरों पर जवाहरलाल नेहरू की तस्वीर नहीं होना ऐसा है, जैसे कोई फिल्म का पोस्टर बन रहा हो, लेकिन उस पर हीरो की तस्वीर ही न हो.

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की तस्वीर इन पोस्टरों पर होनी ही चाहिए. शशि थरूर ने आईसीएचआर (ICHR) पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि इतिहास को फिर से लिखने की कोशिश नहीं होनी चाहिए. बता दें कि आजादी के 75वें साल के मौके पर आईसीएचआर ने पोस्टर जारी किए हैं. यह पोस्टर आजादी का अमृत महोत्सव जश्न के तहत जारी किए गए हैं. इन पोस्टर पर तमाम उन नेताओं की तस्वीरें हैं, जिन्होंने देश को आजादी दिलाने में अहम योगदान दिया है. हालांकि इस पर जवाहरलाल नेहरू की तस्वीर नहीं होने से यह पोस्टर विवादों के घेरे में आ गया.

प्रमुख विपक्षी दलों ने देश के पहले प्रधानमंत्री की तस्वीर पोस्टर में नहीं होने पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. आरोप लगाया है कि ऐसा जानबूझकर किया गया है. शशि थरूर से पहले कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने इस मामले पर कहा था कि आईसीएचआर के आजादी 75वें उत्सव से नेहरू की तस्वीर गायब होने पर प्रधानमंत्री क्यों चुप हैं. वहीं कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने भी आईसीएचआर को लेकर हुए विवाद पर निशाना साधते हुए कहा कि इसको लेकर जो सफाई दी जा रही है, वह हास्यास्पद है.

इन सबके बीच, आईसीएचआर के एक शीर्ष अधिकारी ने आलोचना को खारिज करते हुए कहा कि हम आजादी की लड़ाई में किसी की भूमिका को कमतर करने का प्रयास नहीं कर रहे हैं. जिस पोस्टर को लेकर विवाद हुआ है वह आजादी का अमृत महोत्सव जश्न के तहत जारी होने वाले कई पोस्टरों में से एक है. साथ ही उन्होंने आश्वस्त किया कि आगे के पोस्टरों पर नेहरू की तस्वीर रहेगी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें