1. home Hindi News
  2. national
  3. congress crisis ashok gehlot rahul gandhi rajasthan madhya pradesh sachin pilot jyotiraditya sindhiya

Congress Crisis : राजस्थान में सरकार बचाने के लिए खुद आगे आईं सोनिया गांधी !

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सोनिया गांधी
सोनिया गांधी
फाइल फोटो.

Congress Crisis : कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी राजस्थान में गहलोत सरकार को बचाने के लिए खुद सामने आईं है. वह आज मामले को लेकर पार्टी के राज्यसभा सदस्यों के साथ डिजिटल बैठक करेंगी. हालांकि इस बैठक में कोरोना महामारी की स्थिति, वर्तमान राजनीतिक हालात, चीन के साथ तनाव और कई अन्य मुद्दों पर भी चर्चा हो सकती है.

इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा : सूत्रों के मुताबिक सोनिया की अगुवाई में यह बैठक गुरुवार सुबह प्रस्तावित है. माना जा रहा है कि इस बैठक में कोरोना महामारी से संबंधित हालात, राजस्थान के राजनीतिक संकट की पृषठभूमि में मौजूदा राजनीतिक परिस्थिति, लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध और अर्थव्यवस्था की स्थिति पर मुख्य रूप से चर्चा होगी.

राजस्थान विधानसभा का सत्र 14 अगस्त से: इधर राजस्थान में विधानसभा सत्र को लेकर राजभवन व सरकार के बीच जारी गतिरोध बुधवार रात समाप्त हो गया. सरकार के संशोधित प्रस्ताव पर राज्यपाल कलराज मिश्र ने विधानसभा सत्र 14 अगस्त से बुलाने को मंजूरी दे दी. राजभवन के प्रवक्ता के अनुसार राज्यपाल मिश्र ने राजस्थान विधानसभा के पांचवें सत्र को मंत्रिमंडल द्वारा भेजे गए 14 अगस्त से आरंभ करने के प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी है.

फिर SC पहुंचे विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी : वहीं विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी फिर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं. उन्होंने हाई कोर्ट के आदेश को चुनौती दी है. इससे पहले राजस्थान में चल रहे सियासी घमासान के बीच राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष डॉ सी पी जोशी ने बुधवार शाम राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र से मुलाकात की.

राहुल को अध्यक्ष बनाने की मांग: यदि आपको याद हो तो कुछ दिनों पहले ही सोनिया ने कांग्रेस के लोकसभा सदस्यों के साथ डिजिटल बैठक की थी जिसमें पार्टी के ज्यादातर सांसदों ने राहुल गांधी को फिर से पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी देने की मांग की थी. आपको बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी को पार्टी की कमान देने की आवाज समय-समय पर देती रहती है. पिछले दिनों कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरिश रावत ने मांग की है कि राहुल गांधी को पार्टी का अध्यक्ष पद दिया जाना चाहिए.

कांग्रेस में संकट के बादल : उल्लेखनीय है कि इस साल कुछ महीनों के भीतर कांग्रेस को दो बड़े युवा नेताओं ज्योतिरादित्य सिंधिया और सचिन पायलट से बड़ा झटका लगा. सिंधिया मार्च महीने में पार्टी छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए तो पायलट ने हाल ही में राजस्थान में अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार के खिलाफ बगावत कर दी. इसके बाद से पार्टी नेताओं की चिंता और बढ गयी है.

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें