30.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

राजस्थान में चुनावी मुद्दा बना बीकानेर का रेलवे ट्रैक, एलिवेटेड रोड बनाने की मांग ने पकड़ी रफ्तार

रेलवे ट्रैक बीकानेर शहर पर एक बोझ है. सिर्फ इस रेल लाइन की वजह से पूरे शहर का विकास बाधित है. शहर दो भाग पूर्व और पश्चिम में बंटा हुआ है. इलाके में जाम लग जाता है, तो चिकित्सकीय आपात स्थिति जैसे हालात में खासी दिक्कत होती है.

बीकानेर : राजस्थान विधानसभा चुनाव की तारीख नजदीक आ गई है. इस चुनाव में बीकानेर बाजार का रेलवे ट्रैक चुनावी मुद्दा बन गया है. राजस्थान के प्रमुख शहरों में से एक बीकानेर के मुख्य बाजार से होकर गुजरने वाली रेल लाइन बड़ा चुनावी मुद्दा बन गई है. यह रेल लाइन बीकानेर को एक तरह से पूर्व और पश्चिम बीकानेर भाग में बांटती है. स्थानीय लोगों की मांग है कि रेल लाइन के कारण लगने वाला ट्रैफिक जाम बंद होना चाहिए और नेता एलिवेटेड रोड उपलब्ध कराने का अपना वादा पूरा करें. शहर के लोगों ने कहा कि रेल लाइन के कारण पूरे बाजार में रोजाना ट्रैफिक जाम होता है.

बीकानेर पर बोझ बना रेलवे ट्रैक

बीकानेर के निवासी केके गहलोत ने मीडिया को बताया कि यह शहर पर एक बोझ है. सिर्फ इस रेल लाइन की वजह से पूरे शहर का विकास बाधित है. शहर दो भागों में बंटा हुआ है – पूर्व और पश्चिम. इलाके में जाम लग जाता है, तो चिकित्सकीय आपात स्थिति जैसे हालात में खासी दिक्कत होती है, क्योंकि यातायात को सुचारू होने में कम से कम एक घंटा लगता है.

बजट में बाईपास बनाने का प्रस्ताव खटाई में

इससे पहले, विधानसभा बजट सत्र में बाईपास के लिए एक प्रस्ताव पारित किया गया था, लेकिन बाद में कुछ भी नहीं हुआ. यह प्रस्ताव भी खटाई में पड़ गया है. केके गहलोत ने आरोप लगाया कि किसी भी पार्टी के नेता ने इस मुद्दे को हल करने के लिए कोई पहल नहीं की है. उन्होंने कहा कि राजनीतिक पार्टी के नेता केवल आरोप-प्रत्यारोप में शामिल हो सकते हैं. वे बस यही करते हैं.

रोजाना 30-35 की आवाजाही

उन्होंने कहा कि कोटे गेट और शीतला गेट के पास के बाजारों में स्थित रेल लाइन बीकानेर को पूर्व और पश्चिम भाग में बांटती है. इस ट्रैक पर हर दिन लगभग 30 से 35 ट्रेनें 30 मिनट से एक घंटे के अंतराल पर दौड़ती हैं. बताते चलें कि बीकानेर पूर्व से मौजूदा विधायक भाजपा की सिद्धि कुमारी अपनी पार्टी के टिकट पर दोबारा किस्मत आजमा रही हैं. वहीं, कांग्रेस नेता बुलाकी दास कल्ला बीकानेर पश्चिम से विधायक हैं और दोबारा चुनाव मैदान में हैं.

Also Read: BH-Series : भारत नंबर से लेंगे गाड़ी तो होगा बड़ा फायदा, जानिए क्या है प्रोसेस

40 साल से बनी है समस्या

बीकानेर पश्चिम निवासी गणेश खत्री ने मीडिया को बताया कि हम चाहते हैं कि इस समस्या का जल्द समाधान हो. पिछले चार दशकों से हम इस समस्या का सामना कर रहे हैं और इसका समाधान खोजने की हमारी मांग अभी तक पूरी नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि पूरे शहर के नागरिक इस समस्या से तंग आ चुके हैं. अगर एलिवेटेड रोड बना दी गई होती, तो शायद हमें इतनी समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ता. बीकानेर पश्चिम के एक अन्य निवासी ने कहा कि इस क्षेत्र के आसपास यातायात जाम आम समस्या है. यह पूरे दिन होता है. यहां तक कि एम्बुलेंस के लिए भी कोई वैकल्पिक मार्ग नहीं है.

Also Read: हाईवे पर ड्राइवर कैसे चलाते हैं स्कूल बस! कहीं आपके नौनिहाल खतरे में तो नहीं? जानें SC की गाइडलाइन्स

क्या कहते हैं जनप्रतिनिधि

इस मुद्दे पर निवर्तमान विधायक और बीकानेर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी बुलाकी दास कल्ला ने कहा कि अगर वह फिर से सत्ता में आए, तो एलिवेटेड रोड बनाकर रेलवे ट्रैक का मुद्दा सात महीने में हल कर दिया जाएगा. कल्ला ने बताया कि मैं विकास कार्यों के आधार पर चुनाव लड़ रहा हूं. अगले सात महीनों में अगर कोई कानूनी बाधा नहीं हुई, तो लोगों को शहर के ठीक बीच में रेलवे ट्रैक पर इंतजार नहीं करना पड़ेगा. उन्होंने आगे कहा कि रानी बाजार में अंडरब्रिज का निर्माण दो महीने पहले शुरू हुआ था. शहर के अन्य हिस्सों में 75 फीसदी सड़कें ठीक हो चुकी हैं, बाकी पर काम अभी भी चल रहा है. बता दें कि राजस्थान में विधानसभा चुनाव के लिए 25 नवंबर को मतदान होगा तथा मतगणना तीन दिसंबर को होगी.

Also Read: इसरो रोबोटिक्स चैलेंज 2024 : Rover में अब लगेगा टायर वाला चक्का, छात्र तैयार करेंगे डिजाइन

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें