1. home Home
  2. national
  3. beating farmers is the only solution of farmer protest punjab bjp spokesperson controversial statement prt

पंजाब बीजेपी प्रवक्ता का विवादास्पद बयान, कहा- किसानों को पीटना उनसे निपटने का अंतिम उपाये

किसानों के आंदोलन को लेकर पंजाब के बीजेपी प्रवक्ता हरमिंदर सिंह का बयान, किसानों को पीटना ही उनसे निपटने का एकमात्र उपाये. किसानों के साथ मानवता से पेश आ रहे हैं पीएम मोदी. गौरतलब है कि किसान बीते कई महीनों से आंदोलन कर रहे हैं. किसानों की मांग है कि सरकार तीन नये कृषि कानून को वापस लें.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Farmer Protest
Farmer Protest
PTI

Farmer Protest: किसान आंदोलन को लेकर पंजाब के बीजेपी प्रवक्ता हरमिंदर सिंह का विवादास्पद बयान सामने आया है. बीजेपी प्रवक्ता हरमिंदर सिंहने कहा है कि, 'किसानों को पीटना ही उनसे निपटने का एकमात्र उपाये है'. उन्होंने कहा कि, किसानों के साथ मानवता से पेश आ रहे हैं पीएम मोदी. आजतक न्यूज में दिखाई खबर में कहा जा रहा है कि बीजेपी प्रवक्ता ने कहा है कि जब किसानों को पीटा जाता तो उन्हें समझ आता. गौरतलब है कि किसान बीते कई महीनों से आंदोलन कर रहे हैं. किसानों की मांग है कि सरकार तीन नये कृषि कानून को वापस लें.

वहीं सरकार का कहना है कि किसान की मांग जायज नहीं है. तीन कृषि कानून किसानों के हित के लिए है. इसी को लेकर सरकार और किसानों में कई दौर की बातचीत हो चुकी है लेकिन हर बार नतीजा सिफर रहा है. किसान दिल्ली के बार्डर पर लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं.

पंजाब में धरने का कोई ओचित्य नहीं: वहीं, कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के आंदोलन को लेकर पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि आंदोलन से किसानों को ही नुक्सान ज्यादा हो रहा है. उन्होंने कहा कि किसान कोई बड़े औद्योगिक घरानों से नहीं हैं. से में आंदोंलन से किसानों को ही नुक्सान ज्यादा है. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार ने हमेशा किसानों का साथ दिया है. लेकिन आंदोलन को लेकर पंजाब में धरने का कोई ओचित्य नहीं है.

गौरतलब है कि किसानों बीते कई महीनों से आंदोलनरत हैं. अपने आंदोलन के दौरान उन्होंने रेलवे से लेकर सड़क जाम किया. जिससे आम लोगों को भी काफी परेशानी हुआ. इधर किसानों को सड़क जाम को लेकर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने संज्ञान लिया है. आयोग ने केंद्र सरकार के साथ दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, उत्तर प्रदेश समेत कई और राज्यों की सरकारों को नोटिस जारी कर किसान आंदोलन पर रिपोर्ट मांगी है.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें