1. home Hindi News
  2. national
  3. ban on crackers in diwali pollution is the biggest reason in delhi pkj

दिवाली में नहीं चला सकेंगे पटाखे, इन राज्यों में 30 नवंबर तो लग सकती है रोक

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
पटाखों पर लग सकता है  प्रतिबंध
पटाखों पर लग सकता है प्रतिबंध
फाइल फोटो

इस बार दिपावली में पटाखे का शोर थम सकता है. नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) ने अनुरोध किया है कि पटाखे पर प्रतिबंध लगाया जाये. केंद्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्रालय तथा चार राज्य सरकारों से अनुरोध किया है. एनजीटी ने यह रोक 30 नवंबर तक लागू करने की अपील की है.

एनजीटी ने ने पर्यावरण एवं वन मंत्रालय, केंद्रीय प्रदूषषण नियंत्रण बोर्ड, दिल्ली प्रदूषषण नियंत्रण कमेटी, दिल्ली पुलिस आयुक्त और दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश एवं राजस्थान से जवाब मांगा है. एनजीटी को यह क्या जवाब देते हैं और एनजीटी के आदेश से कितनी सहमति बनती है इसके बाद फैसला होगा.

ट्रिब्यूनल ने वरिष्ठ अधिवक्ता राज पंजवानी और शिवानी घोष को इस मामले में सहयोग के लिए न्याय मित्र के तौर पर नियुक्त किया है. दिल्ली एनसीआर में वायु की गुणवत्ता खराब हो चुकी है. बढ़ता प्रदूषण कोरोना महामारी के संकट को और बढ़ा सकता है. इससे बचने के लिए इंडियन सोशल रेस्पांसिबिलिटी नेटवर्क ने एनजीटी के समक्ष याचिका देकर एनसीआर में पटाखों पर प्रतिबंध के लिए कदम उठाने की अपील की है .

इस याचिका में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री और दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री के बयानों का भी हवाला दिया गया है, जिनमें कहा गया था कि वायु प्रदूषषण के कारण त्योहारों के मौसम में दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ सकते हैं.

याचिका में कहा गया कि कोरोना से संक्रमित लोगों पर प्रदूषण का दुष्प्रभाव ज्यादा याचिका में कहा गया है, 'प्रदूषण बढ़ने से ऐसे लोगों पर दुष्प्रभाव पड़ सकता है, जिन पर पहले से ही कोरोना संक्रमण का खतरा ज्यादा है. साथ ही इससे मृत्यु दर भी बढ़ सकती है.

Posted By - Pankaj Kumar Pathak

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें