32.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले केजरीवाल में जोश भर रहे हैं हार्दिक पटेल

अहमदाबाद : पटेल कोटा आंदोलन नेता हार्दिक पटेल गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल में जोश भरते नजर आ रहे हैं. दरअसल उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री के समर्थन में बयान जारी किए हैं और उन्हें यह बताने की अपील की है कि वह उनके समुदाय के लिए क्या कर सकते हैं. केजरीवाल […]

अहमदाबाद : पटेल कोटा आंदोलन नेता हार्दिक पटेल गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल में जोश भरते नजर आ रहे हैं. दरअसल उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री के समर्थन में बयान जारी किए हैं और उन्हें यह बताने की अपील की है कि वह उनके समुदाय के लिए क्या कर सकते हैं. केजरीवाल गुजरात की चार दिनों की यात्रा पर है. इसे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गृह राज्य में मजबूत पटेल समुदाय को रिझाने के तौर पर व्यापक रूप से देखा जा रहा है. राज्य में भाजपा लंबे समय से सत्ता में है लेकिन अब यह चुनौतियों का सामना कर रही है. जेल से बाहर आने के बाद हार्दिक को गुजरात की सभी राजनीतिक पार्टियां रिझा रही हैं.

उन्होंने घोषणा की है कि यदि उनके समुदाय के सदस्यों ने चाहा तो वह राजनीति में उतर सकते हैं. पटेल के आप और केजरीवाल की ओर झुकाव को उनके संगठन पटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) की रणनीति में बदलाव के तौर पर देखा जा रहा है. पीएएएस ने अब तक राजनीतिक दलों से दूरी बनाए रखी है लेकिन जब कभी भाजपा और कांग्रेस ने पटेल के वर्चस्व वाले इलाकों में कार्यक्रम आयोजित करने की कोशिश की तब उन्होंने इनके नेताओं से दूरी बनाए रखी. हार्दिक ने कल केजरीवाल के समर्थन मे एक बयान जारी किया. हालांकि सेना के ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ पर की गई उनकी टिप्पणी को लेकर एक स्थानीय संगठन युवा आजादी के सदस्यों ने प्रदर्शन किया.

पटेल ने उदयपुर से अपने संदेश में कहा, ‘आपको दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का उस वक्त विरोध नहीं करना चाहिए जब वह उन लोगों के परिजनों से मिलने आ रहे हैं जो पटीदार समुदाय के आरक्षण आंदोलन के दौरान मारे गये हैं. वह हमारी दशा के बारे में शेष देश को बताएंगे.’ बाद में हार्दिक ने अपने संगठन के सदस्यों के जरिए मेहसाना में एक लिखित ज्ञापन केजरीवाल को सौंपा जिसमें उन्होंने आप नेता से यह बताने को कहा कि वह पटेल समुदाय के लिए क्या कर सकते हैं.

पटेल ने केजरीवाल को लिखे ज्ञापन में कहा, ‘कोटा आंदोलन के दौरान हमारे युवकों ने जान गंवाई, आंदोलन करने को लेकर हमारे खिलाफ मामले दर्ज किए गए. अपनी यात्रा के दौरान कृपया आप बताएं कि आप हमारे लिए क्या कर सकते हैं.’ उन्होंने कहा, ‘हमारी मुख्य मांग हमारे समुदाय के लिए आरक्षण की है और आपको बताना चाहिए कि आप हमें आरक्षण देने के लिए क्या कर सकते हैं.’ हार्दिक के ज्ञापन में कहा गया है, ‘भाजपा ने गुजरात में लोकतंत्र को खत्म कर दिया. आप दिल्ली के मुख्यमंत्री हैं और आप जो कुछ कहेंगे उसे पूरे देश में सुना जाएगा। मैं आपसे वह सब कुछ करने का अनुरोध करता हूं जो हमारे समुदाय के लिए संभव हो.’

इसके जवाब में केजरीवाल ने कहा, ‘यह जरुरी है कि पटेल प्रदर्शनकारियों पर जिन नेताओं ने गोली चलाने (अगस्त 2015 में कोटा आंदोलन के दौरान) का आदेश दिया था उन्हें दंडित किया जाए.’ इससे पहले पीएएस सदस्यों ने हार्दिक के आह्वान पर भाजपा प्रमुख अमित शाह की एक रैली को बाधित किया था. संगठन ने अपने वर्चस्व वाले इलाकों में कांग्रेस और भाजपा नेताओं के प्रवेश करने पर भी रोक लगा दी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें