अफ्रीकी नागरिकों पर हमला: गृहमंत्री और विदेश मंत्री चिंतित, पांच गिरफ्तार, पढें किसने क्या कहा...

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली : दिल्ली में अफ्रीकी नागरिकों पर हमले का मामला गरमाता जा रहा है. प्राप्त जानकारी के अनुसार दिल्ली में हुई अफ्रीकी छात्र की हत्या को लेकर अफ्रीकी छात्रों के विरोध प्रदर्शन को दिल्ली पुलिस की अनुमति नहीं मिली है. यह प्रदर्शन कल होना है. दिल्ली में मारे गए कांगो छात्र के परिवार वालों से आज जॉइंट सेक्रेटरी (वेस्ट अफ्रीका) बिरेन्द्र यादव ने मुलाकात की और बताया कि मृतक के शव को भेजने का खर्चा भारत सरकार उठाएगी. जॉइंट सेक्रेटरी ने मृत कांगो छात्र के परिजनों को बताया कि विदेश मंत्री ने मामले के फास्ट ट्रायल की मांग की है और आश्वस्त किया है कि तीनों आरोपियों को उचित सजा मिलेगी. आपको बता दें कि हमले के आरोप के बाद नाराजगी के माहौल के बीच मामले में कथित संलिप्तता को लेकर पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है जबकि गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पुलिस को हमलावरों के खिलाफ कडी कार्रवाई करने का और अफ्रीकी नागरिकों की बसावट वाले इलाकों में गश्त तेज करने को कहा है.

विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने कांगो के मारे गए नागरिक के परिवार से की मुलाकात
भारत ने यहां 20 मई को एक झगडे में मारे गए कांगो के एक नागरिक के परिवार को आज मामले की त्वरित सुनवाई और इस अपराध के दोषियों के खिलाफ कानून के अनुसार अभियोग चलाने का आश्वासन दिया. विदेश मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मासोंदा केटाडा ओलिवर के परिजनों से हवाईअड्डे पर मुलाकात की और उन तक सरकार की यह बात पहुंचाई. मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरुप ने कहा कि अधिकारी ने उन्हें यह भी सूचित किया कि ओलिवर के शव को उसके देश भेजने में आने वाले पूरे खर्च को भारत सरकार वहन करेगी. उन्होंने कहा कि परिवार के सदस्यों ने इस सहायता के लिए भारत सरकार को धन्यवाद दिया. परिजनों को बताया गया कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इस मामले की त्वरित सुनवाई के आदेश दिए हैं. एक निजी संस्थान में फ्रेंच भाषा के शिक्षक 23 वर्षीय ओलिवर की ऑटो रिक्शा में बैठने को लेकर हुए झगडे में दक्षिणी दिल्ली के वसंत कुंज में हत्या कर दी गई थी. अफ्रीकी देशों के दूतों ने इस हत्या पर गुस्सा जताया जिसके बाद भारत ने उन्हें अफ्रीकी नागरिकों की सुरक्षा को लेकर आश्वस्त किया.


न्हें किया गया गिरफ्तार
हमले के आरोप में गिरफ्तार किये गये लोगों में नाम निम्न हैं बाबू (32), ओम प्रकाश (24), राहुल (24), अजय (25) और कुणाल (20). पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) ईश्वर सिंह ने बताया कि तीन और लोगों की पहचान की गयी है तथा पुलिस उनकी तलाश कर रही है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पहले कुणाल के नाबालिग होने का संदेह था किन्तु कई दस्तावेजों की पडताल करने के बाद उसकी वास्तविक आयु की पुष्टि हुई.

हमले की घटना रविवार को भी जारी

इस सिलसिले में रविवार को एक नया मामला कैमरून के एक भाई बहन पर हुए कथित हमले को लेकर दर्ज किया गया. इन घटनाओं से पहले कांगो के एक नागरिक की हत्या की गयी थी जिसको लेकर सभी अफ्रीकी देशों के राजदूतों की काफी नाराजगी भरी प्रतिक्रिया आयी थी. उन्होंने पिछले सप्ताह भारत सरकार द्वारा आयोजित अफ्रीकी दिवस समारोह का बहिष्कार करने की धमकी दी थी. हालांकि उन्हें बाद में इसमें भाग लेने के लिए मना लिया गया. पुलिस के अनुसार बृहस्पतिवार को अफ्रीकी नागरिकों के साथ हुई घटनाओं में तेज आवाज में संगीत सुनना और सार्वजनिक तौर पर शराब पीना कारण रहे थे. एक पुलिस अधिकारी ने हमलों में छडों या बल्लों के इस्तेमाल की बात को खारिज करते हुए कहा कि ऐसा होता तो अलग तरह की चोट आतीं. उन्होंने कहा कि एक महिला को नाक में चोट आई है.

गृहमंत्री ने जाहिर की चिंता

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने हमले की निंदा की और दिल्ली पुलिस आयुक्त आलोक वर्मा को अपने आवास पर बुलाकर आरोपियों पर कडी कार्रवाई का निर्देश दिया. सिंह ने रविवार को ट्वीट किया, ‘‘दिल्ली के पुलिस आयुक्त से कुछ अफ्रीकी नागरिकों के खिलाफ हमलों की घटनाओं के संबंध में बात की. इस तरह की घटनाएं निंदनीय हैं.' उन्होंने अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘दिल्ली के पुलिस आयुक्त को हमलावरों के खिलाफ कडी कार्रवाई करने का और सभी की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उनके इलाकों में गश्त बढाने का निर्देश दिया.'

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का ट्वीट

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने गृहमंत्री और दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग से घटना के बारे में बात की थी. उन्होंने कहा कि जिन इलाकों में अफ्रीकी नागरिक रहते हैं, उनमें संवेदनशीलता बढाने के लिए अभियान चलाया जाएगा. विदेश मंत्री ने अपने ट्विटर पर लिखा, ‘‘मैंने दक्षिण दिल्ली में अफ्रीकी नागरिकों पर कल के हमले के बारे में श्री राजनाथ सिंह जी और दिल्ली के उपराज्यपाल से बात की. उन्होंने आश्वासन दिया कि दोषी जल्द ही गिरफ्तार किए जाएंगे और उन क्षेत्रों में लोगों को संवेदनशील बनाने का अभियान भी चलाया जाएगा जहां अफ्रीकी नागरिक रहते हैं.' सुषमा ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, ‘‘मैंने राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह और सचिव अमर सिन्हा को अफ्रीकी छात्रों से मिलने को कहा है जिन्होंने जंतर मंतर पर प्रदर्शन की घोषणा की है.' विदेश मंत्रालय में सचिव :आर्थिक संबंध: सिन्हा हमलों के बाद अफ्रीकी समुदाय के लोगों के साथ संपर्क में हैं. इस बीच विदेश राज्यमंत्री वी के सिंह ने दावा किया कि अफ्रीकी नागरिकों पर हमला मामूली झडप थी और मीडिया इसे अनावश्यक रुप से बढा-चढाकर दिखा रही है जिसे लेकर उन्होंने सवालिया निशान लगाया.

विदेश राज्यमंत्री वी के सिंह का ट्वीट

विदेश राज्यमंत्री वी के सिंह ने ट्वीट कर कहा, ‘‘दिल्ली पुलिस के साथ विस्तृत चर्चा हुई है और पाया गया है कि राजपुर खुर्द में मामूली झडप को मीडिया ने अफ्रीकी नागरिकों पर हमले के तौर पर पेश किया.' उन्होंने कहा, ‘‘मीडिया ऐसा क्यों कर रही है? जिम्मेदार नागरिक उनसे सवाल पूछें और उनका उद्देश्य जानें.' विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरुप ने अलग से कहा कि सरकार मासुंदा कितांदा ओलिवर के शव को वापस उसके वतन भेजेगी, जिसकी दक्षिणी दिल्ली इलाके में इस महीने की शुरआत में हत्या कर दी गयी थी. स्वरुप ने कहा, ‘‘मासुंदा ओलिवर की दुर्भाग्यपूर्ण मौत के मामले में सरकार उनके परिवार को भारत की यात्रा करने और उनके शव को लेने में मदद करेगी। हम अपने खर्च पर उनका पार्थिव शरीर कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य ले जाने का इंतजाम करेंगे.'

अफ्रीकी देशों के राजदूतों ने जताया विरोध

अफ्रीकी देशों के राजदूतों ने ओलिवर की हत्या पर गुरुवार को आक्रोश जताया था जिसके बाद भारत ने अफ्रीकी नागरिकों की सुरक्षा का भरोसा दिलाया था. ताजा घटनाओं के संबंध में पुलिस ने कहा कि ये अलग अलग घटनाएं हैं और संगठित तरीके से हमलों जैसी कोई बात नहीं है. इस बीच शनिवार से पुलिस ने इलाके के कई आवासीय संघों के साथ बैठकें की है. इसी तरह की एक बैठक को संबोधित करते हुए पुलिस उपायुक्त ईश्वर सिंह ने नागरिकों से कहा, ‘‘वे हमारे देश आये हैं. वे हमारे मेहमान हैं. वे केवल इसलिए यहां आये हैं क्योंकि हम पर भरोसा करते हैं.' उन्होंने कहा, ‘‘आप जिस तरह का बर्ताव उनके साथ करते हैं, उसका असर बाहर रहने वाले हमारे भाइयों पर होगा. जिस तरह कांगो के युवक की हत्या के बाद भारतीयों पर हमले किये गये.'

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें