चुनाव से पहले चुस्त हुई पुलिस: दिल्ली में नहीं थम रहा अवैध शराब, नकदी और हथियारों का दौर

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली : दिल्ली में चुनाव के दौरान अवैध शराब, नकदी और हथियारों के इस्तेमाल की समस्या चुनाव दर चुनाव गहराती जा रही है. दिल्ली पुलिस ने चुनाव आयोग को दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले तैयारियों को लेकर सौंपी अपनी रिपोर्ट में इस तथ्य के मद्देनजर पिछले चुनावों की तुलना में इस बार अधिक सुरक्षा बल तैनात करने को जरूरी बताया है.

दिल्ली विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर पिछले सप्ताह मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा की अध्यक्षता में दिल्ली चुनाव आयोग, दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस के साथ हुई बैठक में पेश आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल मई में हुई लोकसभा चुनाव में राजधानी में 1.55 लाख लीटर अवैध शराब जब्त की गयी थी. जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में यह मात्रा 45,735 हजार लीटर, 2015 के विधानसभा चुनाव में 35,175 लीटर और 2013 के विधानसभा चुनाव में 32,503 लीटर थी.

इसी प्रकार चुनाव के दौरान अवैध नकदी की जब्ती में भी तीन से चार गुना तक की बढ़ोतरी दर्ज की गयी है. दिल्ली पुलिस द्वारा पेश आंकड़ों के अनुसार लोकसभा चुनाव 2019 में 4.38 करोड़ रुपये की अवैध नकदी जब्त की गयी. लोकसभा चुनाव 2014 में इसकी मात्रा 1.09 करोड़ रुपये थी जो कि 2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में घटकर 33.38 लाख रुपये रह गयी, हालांकि 2013 के विधानसभा चुनाव में इसकी मात्रा 1.76 करोड़ रुपये थी.

दिल्ली पुलिस ने इसके मद्देनजर आयोग को अवगत कराया है कि दिल्ली में अवैध वस्तुओं की आवाजाही वाले 150 से अधिक चिन्हित स्थलों को ध्यान में रखते हुए अगले महीने संभावित विधानसभा चुनाव में केन्द्रीय सुरक्षा बलों की 179 कंपनियों को तैनात किया जायेगा. इससे पहले 2015 के विधानसभा चुनाव में सुरक्षा बलों की 149 और 2013 के विधानसभा चुनाव में 107 कंपनियां तैनात की गयी थीं. इसके अलावा चुनाव में दिल्ली पुलिस के 38 हजार और होमगार्ड के 19 हजार जवान भी चुनाव में मुस्तैद रहेंगे. साथ ही मतदान और मतगणना के दिन दिल्ली ट्रैफिक पुलिस और पीसीआर वैन के साथ लगभग 30 हजार अतिरिक्त जवान पूरी दिल्ली में तैनात रहेंगे.

इसके अलावा पड़ोसी राज्यों उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के होम गार्ड महानिदेशकों से होम गार्ड के 15 हजार जवानों को जरूरत पड़ने पर मुहैया कराने का अनुरोध किया गया है. आयोग के समक्ष दिल्ली पुलिस द्वारा पिछले साल 15 नवंबर से 13 दिसंबर के बीच अवैध शराब, नकदी और हथियारों की जब्ती के बारे में पेश किये साप्ताहिक आंकडों के आधार पर स्पष्ट होता है कि दिल्ली में चुनाव के मद्देनजर अवैध वस्तुओं की आवाजाही तेज हो गयी है. इसके अनुसार 15 नवंबर से 13 दिसंबर के बीच पांच सप्ताह में पकड़ी गयी अवैध शराब पहले सप्ताह में 7231 लीटर से बढ़कर 8841 लीटर हो गयी. पुलिस ने दिल्ली में महज पांच सप्ताह में कुल 36556 लीटर अवैध शराब पकड़ी. इसी प्रकार 15 नवंबर से 21 नवंबर के बीच 64 अवैध हथियार पकड़े गये और 29 नवंबर से पांच दिसंबर के बीच तीसरे सप्ताह में यह संख्या बढ़कर 66 हो गयी.

पुलिस की सख्त निगरानी के बाद पांचवें सप्ताह में पकड़े गये अवैध हथियारों की संख्या घटकर 37 पर आ गयी. दिल्ली में चुनाव के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने पड़ोसी राज्यों से अवैध सामग्रियों की आमद को देखते हुए सात जनवरी को पड़ोसी राज्यों के पुलिस महकमे के साथ अंतरराज्यीय सहयोग बैठक बुलायी है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें