सुरक्षा खामियों पर चेन्नई, अहमदाबाद हवाई अड्डों के निदेशकों को कारण बताओ नोटिस

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली : विमानन क्षेत्र की नियामक संस्था डीजीसीए ने चेन्नई और अहमदाबाद हवाई अड्डों के निदेशकों को सुरक्षा मानकों के मुताबिक कुछ महत्वपूर्ण क्षेत्रों का रख-रखाव नहीं होने के सिलसिले में मंगलवार को कारण बताओ नोटिस जारी किया.

सूत्रों ने बताया कि नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने इस महीने कुछ दिन पहले हवाई अड्डों का निरीक्षण किया था. एक सूत्र ने बताया, यह पाया गया है कि दोनों हवाई अड्डों के महत्वपूर्ण हिस्से का रख-रखाव जरूरतों के मुताबिक नहीं किया जा रहा है. चेन्नई और अहमदाबाद हवाई अड्डसें के निदेशक क्रमश: जी चंद्रमौली और मनोज गंगल को मंगलवार को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया और 15 दिन के भीतर नियामक को जवाब देने को कहा गया. माॅनसून के मौसम के दौरान विभिन्न हवाई अड्डों पर विमानों की लैंडिंग से जुड़ी कुछ घटनाओं के बाद डीजीसीए ने यह कदम उठाया है.

इसमें डीजीसीए ने कहा है कि यह पाया गया है कि दोनों हवाई अड्डों के महत्वपूर्ण हिस्से का रख-रखाव नियामक जरूरतों के मुताबिक नहीं किया जा रहा है. नोटिस में कहा गया कि दो और तीन जुलाई को निरीक्षण के दौरान चेन्नई हवाई अड्डे के मुख्य रनवे और दूसरे रनवे पर कंक्रीट के ढांचे जैसी सामग्री, गड्ढे आदि पाये गये. डीजीसीए के नोटिस के मुताबिक चेन्नई एयरपोर्ट की मुख्य हवाई पट्टी ‘फ्रिक्शन टेस्ट' में भी असफल रही.। नोटिस के मुताबिक चेन्नई हवाई अड्डे के मुख्य रनवे के दोनों छोर के करीब पत्थरों के बड़े-बड़े टुकड़े मिले. अहमदाबाद एयरपोर्ट पर एक रनवे है. डीजीसीए ने तीन और चार जुलाई को इसका निरीक्षण किया था. गंगल को नोटिस में कहा गया है कि हवाई पट्टी पर कंक्रीट की सामग्री, कोलतार अपशिष्ट आदि सामग्री मिली. नोटिस में कहा गया कि रनवे पांच पर टैक्सीवे के आसपास जमीन उबड़ खाबड़ है और वहां पानी भी भर जाता है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें