26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

परेशानी: गर्मी से लोग हो रहे हैं हलकान, आसमान से उगल रही आग

शीतल पेय के स्थान पर जूस, तरबूज, खीरा, ककरी व सत्तू का बढ़ा प्रचलन

-------

शुक्रवार का अधिकतम तापमान 42, न्यूनतम 30 डिग्री

शनिवार का अधिकतम तापमान 40, न्यूनतम 26 डिग्री

रविवार को

शीतल पेय के स्थान पर जूस, तरबूज, खीरा, ककरी व सत्तू का बढ़ा प्रचलन

——-

शुक्रवार का अधिकतम तापमान 42, न्यूनतम 30 डिग्री

शनिवार का अधिकतम तापमान 40, न्यूनतम 26 डिग्री

रविवार को अधिकतम तापमान 40, न्यूनतम 24 डिग्री

फोटो-15कैप्सन-प्यास बुझाने के लिए गन्ने का रस पीते राहगीर.

——-

फोटो-16 कैप्सन- चिलचिलाती धूप से बचने की कोशिश करती युवती.

—–

फोटो-17 कैप्सन-आरओबी पर पसरा सन्नाटा.

——

फोटो-18 कैप्सन-माल गोदाम रोड में फल की खरीदारी करते लोग.

——प्रतिनिधि, खगड़िया

लगातार बढ़ रही गर्मी से जनजीवन प्रभावित होने लगा है. स्कूली बच्चे हों या दैनिक कामकाजी लोग सभी गर्मी से बेहाल हैं. गर्मी की वजह से लोग घरों में दुबकने को विवश हैं. शहर हो या गांव के सड़कों पर लोगों की आवाजाही घट गई है. कोर्ट-कचहरी के काम से प्रतिदिन आने वाले लोग भी परहेज कर रहे हैं. ऑफिसों में भी लोग कम पहुंच रहे हैं. लोग धूप से बचने के लिए छांव की तलाश करते नजर आते हैं. शुक्रवार को जिले का अधिकतम तापमान 42 डिग्री रहा है. जबकि न्यूनतम तापमान 30 डिग्री रहा. लोग गर्मी से राहत के लिए तरबूज,खीरा, ककरी, जूस, कोल्ड्रींग्स पीकर राहत पा रहे हैं. त्वचा को झुलसा देने वाली चिलचिलाती धूप व भूषण गर्मी में फल लोगों को काफी सुकून दे रहा है. लोगों ने बताया कि पेय पदार्थ की अपेक्षा देसी फलों की डिमांड बाजार में ज्यादा बढ़ गयी है. स्वास्थ्य की दृष्टि से यह रसदार फल लोगों के लिए लाभकारी सिद्ध हो रहे हैं. शहर के विभिन्न चौक-चौराहों, सड़क किनारे आदि जगहों पर जूस ठेला लगा रहता है. लोग कुछ कदम चलने पर प्रचंड गर्मी से राहत पाने के लिए चाव से फलों का उपयोग कर रहे हैं.

प्यास बुझाने के लिए रसदार फलों का कर रहे हैं सेवन

घर की महिलाओं के साथ वृद्ध व्यक्तियों, नौजवानों और छोटे-छोटे बच्चों के लिए यह मौसमी फल पसंदीदा बन गये हैं. गर्मी से राहत प्रदान करने में यह फल उनके लिए संजीवनी साबित हो रहे हैं. क्षेत्र की मिट्टी उपजाऊ होने के कारण गर्मी के मौसम में किसानों द्वारा बेहद पैमाने पर तरबूज, खरबूज, खीरा व ककरी की खेती की जाती है. इससे स्थानीय किसान आर्थिक रूप से काफी सुदृढ़ हो रहे हैं. किसानों ने बताया कि फुटकर विक्रेताओं द्वारा तरबूज 16 रुपये,खरबूज 40 रुपये किलो, खीरा 20 रुपये किलो तथा ककड़ी 40 रुपये किलो की दर से बिक रहे हैं.

चिलचिलाती धूप, हीट वेव व पछुआ हवा से लोग परेशान

भीषण गर्मी, चिलचिलाती धूप, पछुआ हवा व हीट वेव से लोग परेशान हैं. साथ ही पशु भी हलकान हो रहे हैं. पशुपालक पशु को घर व गांव से दूर नदी किनारे ले जाकर राहत दे रहे हैं. लगातार गर्मी एवं पछुआ हवा से किसान व राहगीर परेशान हैं. कृषि विज्ञान केंद्र वैज्ञानिक डॉ विपुल कुमार मंडल ने बताया कि अगले 24 घंटे के बाद दिन एवं रात के तापमान में दो-दो डिग्री की कमी होने की संभावना है. शनिवार से पछुआ हवा के स्थान पर पूरबा हवा चलने की संभावना है. उन्होंने बताया कि पूरबा हवा जिले में 10 से 12 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलेगी.

7 मई से बारिश की संभावना, तापमान में आयेगी गिरावट

कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक ने किसानों के लिए खुशखबरी है. आगामी सात मई से बारिश होने की संभावना है. बारिश के साथ ही पूरबा हवा की संभावना बन रही है. बताया कि आगामी 7 मई को आसमान में 70 प्रतिशत बादल छाए रहने के साथ-साथ 4 एमएम बारिश होने की संभावना है. उन्होंने बताया कि 7 मई से 11 मई तक हल्का से मध्यम बारिश की संभावना है.

आंगनबाड़ी केंद्र सुबह दस बजे तक किया जायेगा संचालित

भीषण गर्मी में लू के प्रकोप से बचने के लिए आंगनबाड़ी केंद्र का संचालन सुबह दस बजे तक होगा.आंगनबाड़ी केंद्र सुबह 7 से 10 तक संचालित करने को कहा गया है. इस अवधि में ही बच्चों को नाश्ता व गर्म खाना खिलाया जायेगा.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें