1. home Hindi News
  2. life and style
  3. masoom art group history of palamu was shown in play of masoom art group these artists including dr bhupendra narayan singh were honored tvi

Masoom Art Group के नाटक में दिखा पलामू का इतिहास, डॉ भूपेंद्र नारायण सिंह समेत ये कलाकार हुए सम्मानित

झारखंड सरकार के सांस्कृतिक कार्य निदेशालय के सहयोग से रविवार को मेदिनीनगर के टाउन हाल में मासूम आर्ट ग्रुप की ओर से नाटक का मंचन किया गया. इस नाटक में पलामू का समृद्ध इतिहास दिखाया गया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Dr Bhupendra narayan singh
Dr Bhupendra narayan singh
Prabhat Khabar

Masoom Art Group: झारखंड सरकार के सांस्कृतिक कार्य निदेशालय के सहयोग से रविवार को मेदिनीनगर के टाउन हाल में मासूम आर्ट ग्रुप की ओर से नाटक का मंचन किया गया. कार्यक्रम में मौजूद पलामू के उपायुक्त शशि रंजन, प्रमंडलीय जनसंपर्क, उपनिदेशक आनंद, एनडीसी शैलेश कुमार सिंह, खेल पदाधिकारी उमेश लोहड़ा, समाजसेवी आलोक तुलस्यान, अविनाश देव ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया.

उपायुक्त शशि रंजन ने कलाकारों की सराहना की

उपायुक्त शशि रंजन ने कहा कि मासूम आर्ट ग्रुप के कलाकारों ने जिस लगन और मेहनत से पलामू के सपूतों को मंच पर साकार किया वे बधाई के पात्र हैं. उन्होंने यह भी कहा कि सांस्कृतिक निदेशालय पलामू जैसी जगह पर कला को बढ़ावा देने के लिए कलाकारों को प्रोत्साहित कर रही है ये अच्छी बात है.

नाटक में दिखा पलामू के वीरों का इतिहास

मासूम आर्ट ग्रुप ने मंच पर नाटक के माध्यम से पलामू का इतिहास दिखाया. राकेश कुमार सिंह की पुस्तक महासमर की सांझ नाट्य रूपांतरण सोचो असल आजादी के नायक कौन थे में पलामू में 1857 में अंग्रेजों के खिलाफ हुए आजादी की लड़ाई को दिखाया गया. यह नाटक इसी पुस्तक से प्रेरित था.

अपने अभिनय से कलाकारों ने लोगों को जोड़े रखा

नीलांबर, पीतांबर, भवानी बक्श राय, रानी चंद्रावती कुवंर, परमानंद भोक्ता, रंगलाल लकड़ा, भोज-भरत जैसे आजादी के मतवालों के साथ कर्नल डाल्टन, मेजर मेक्डोनाल्ड जैसे अंग्रेज हुक्मरानों के किस्से भी इस नाटक के माध्यम से जीवंत किये गये. नाटक में पीतांबर की भूमिका में गिरीन्द्र यादव, नीलंबर की भूमिका में सचिन, डाल्टन-चंदन, मेक्डोनाल्ड-अभिषेक ने अपने अभिनय से लोगों को बांधे रखा.

अनुभवी कलाकारों ने निभाई ये भूमिका

रंगमंच के अनुभवी कलाकार सैकत चट्टोपाध्याय ने भवानी बक्श राय, मुनमुन चक्रवर्ती ने रानी चंद्रावती, कामरूप सिन्हा ने कथावाचक, उज्जवल सिन्हा रंगलाल व अमर भांजा ने प्रोफेसर की भूमिका में दमदार अभिनय की प्रस्तुति दी. अन्य भूमिकाओं में मनीषा सिंह, आकर्ष, राज प्रतीक, संजीव राम, मुकेश, सूरत शर्मा आदि थे. म्यूजिक राजा सिन्हा, सिकंदर, विजय व आनंद का था.

उपायुक्त बोले राज्य स्तर पर हो इस नाटक का मंचन

नाटक देखने के बाद उपायुक्त शशि रंजन ने मासूम आर्ट ग्रुप के कलाकारों की लगन और परिश्रम की सराहना की. कहा कि नाटक के जरिए पलामू के सपूतों को मंच पर साकार किया गया, कलाकार उसके लिए बधाई के पात्र हैं. उन्होंने कहा कि नाटक के माध्यम से पलामू के इतिहास को दिखाया गया है. इसका मंचन राज्य स्तर पर होना चाहिए.

इन कलाकारों को किया गया सम्मानित

इस आयोजन के दौरान मासूम आर्ट ग्रुप द्वारा रंगमंच के लिए योगदान देने वालों को सम्मानित भी किया गया. जिसमें डॉ भूपेंद्र नारायण सिंह व इंद्रभुवन नाथ हीरा को ज्योति प्रकाश लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से नवाजा गया. देवरानी संगीत महाविद्यालय को रंग तरुवर सम्मान दिया गया. इनके अलावा डॉ सुशील अंकन, अनिल कुमार सिंह, आनंद प्रियदर्शी, हरिवंश प्रभात, अनूप गर्ग, भानु विश्वास, गुरुदयाल सिंह थापा, सिकंदर कुमार, अमर भांजा, आदर्श पांडेय, कनक लता तिर्की, अविनाश तिवारी, आदित्य कुमार, सुमित कुमार गुलशन आदि को भी सम्मानित किया गया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें