1. home Hindi News
  2. health
  3. turmeric milk benefits and side effects increase immunity coronavirus diseases covid19

हल्दी और दूध का सेवन बढ़ाएगा आपकी Immunity, कई तरह के रोग होंगे छूमंतर

By SumitKumar Verma
Updated Date
turmeric milk benefits and side effects
turmeric milk benefits and side effects
Prabhat Khabar

हल्दी में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं. यह घर की रसोई से मरीजों के उपचार में युगों-युगों से प्रयोग में लाया जा रहा है. फिलहाल, देश कोरोना के महा संकट से गुजर रहा है. जिसका अबतक कोई इलाज संभव नहीं हो पाया है ऐसे में विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कुछ उपचार बताए गए है.

आपको बता दें कि डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, आपके शरीर का इम्यून अगर पावरफुल हुआ तो आपको इस वायरस से संक्रमित होने के कम चांसेस है. ऐसे में सोशल डॉक्टरों ने कई तरह के इलाज बता दिए हैं जिससे इम्यून पावर बढ़ सकता है. तो आईए जानते हैं हल्दी दूध के बारे चल रही चर्चा कितनी सच है...

दरअसल, हल्दी और दूध को एक साथ मिलाने पर यह मिश्रण एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल एजेंट के रूप में कार्य करने लगता है. इन विशेष गुणों के कारण यह शरीर में रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा देते हैं. जिससे आपके शरीर को कई तरह की बिमारियों से लड़ने में सहायता मिलती हैं. और यह कई प्रकार की संक्रामक बीमारियों से भी हमें बचाता हैं.

इसके अलावा भी हल्दी और दूध कई तरह की बीमारियों से लड़ने में कारगर दवा के रूप में काम आता रहा है. जोड़ों के दर्द हो, सूजन हो, चोट हो या हड्डियां कमजोर हो गई है तो डॉक्टरों द्वारा भी इसे सलाह के रूप में बताया जाता है. इन सब के अलावा यह आपकी पाचन क्रिया को भी सुधारने में काफी मदद करता है और डेड स्कीन को भी स्वस्थ करता हैं. हल्दी में मौजूद एंटी-कैंसर गुण आपको कैंसर जैसे गंभीर बीमारी से भी बचाता हैं.

जानें हल्दी-दूध पीने की कितनी मात्रा लेनी सही होगी

एक गिलास दूध में एक छोटा चम्मच हल्दी मिला लें और इसे सोने से पहले प्रतिदिन पिएं.

आपको बता दें कि हल्दी स्वास्थ्य के लिए जितना फायदेमंद है उतना ही नुकसानदायक भी है. कोई भी चीज ज्यादा मात्रा में लेने पर नुकसान पहुंचा सकता है. आइये जानते है इसके कुछ साइड-इफेक्ट के बारे में....

गॉल ब्लेडर/पित्ताशय में समस्या

पित्ताशय के अगर आप मरीज है तो हल्दी-दूध न पिएं, यह आपकी समस्या और बढ़ा सकता है. गॉल ब्लेडर की थैली में स्टोन वालों को हल्दी-दूध छोड़ने की सख्त हिदायत दी जाती है.

बढ़ सकती है ब्लीडिंग प्रॉब्लम

आपको बता दें कि हल्दी-दूध ब्लड क्लॉटिंग की प्रक्रिया को कम करता है. जिसके कारण ब्लीडिंग प्रॉब्लम वाले लोगों को हल्दी-दूध पीने से मना किया जाता है.

बढ़ा सकता है मधुमेह

अगर आप मधुमेह के रोगी हैं तो आपको हल्दी वाला दूध पीने से परहेज करना चाहिए. हल्दी में एक रासायनिक पदार्थ करक्यूमिन पाया जाता है. जो ब्लड शुगर को प्रभावित करता है.

हल्दी बन सकता है नपुंसकता का कारण

हल्दी, टेस्टोस्टेरॉन के स्तर को कम कर देता है. जिससे स्पर्म की सक्रियता कम हो जाती है. फैमिली प्लान करने वालों के लिए दूध का सेवन तो सही है लेकिन हल्दी वाला नहीं.

आयरन की मात्रा को करता है कम

इसका अत्यधिक सेवन करने से आयरन की मात्रा शरीर में कम हो जाती है. जिनका आयरन पहले से कम है उन्हें सोच-समझकर की हल्दी का सेवन करना चाहिए.

सर्जरी के दौरान हो सकता है घातक

आपको पहले भी बताया गया है कि हल्दी-दूध ब्लड क्लॉटिंग की प्रक्रिया को कम कर देता है अर्थात शरीर में खून का थक्का जमने नहीं देता है. जिससे खून का स्त्राव बढ़ जाता है. अत: किसी भी तरह के सर्जरी के बाद हल्दी के सेवन करने से बचें.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें