24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

चीन का Nasal Spray Vaccine नाक के जरिए शरीर में पहुंचकर करेगा कोरोना का खात्मा, ह्यूमन ट्रायल की मिली मंजूरी

Covid vaccine update, China approves clinical trials of nasal spray : चीन (China) से फैला कोरोना (corona) दुनियाभर में तबाही मचा चुका है. अब खबर आ रही है कि चीन ने संक्रमण को रोकने के लिए एक नाक का स्प्रे (Nasal Spray) बनाया है. जो वैक्सीन (Vaccine) की तरह काम करेगा. फिलहाल, इसके ह्यूमन ट्रायल (Human Trial) की मंजूरी दे दी गयी है.

Covid vaccine update,China approves clinical trials of nasal spray : चीन (China) से फैला कोरोना (corona) दुनियाभर में तबाही मचा चुका है. अब खबर आ रही है कि चीन ने संक्रमण को रोकने के लिए एक नाक का स्प्रे (Nasal Spray) बनाया है. जो वैक्सीन (Vaccine) की तरह काम करेगा. फिलहाल, इसके ह्यूमन ट्रायल (Human Trial) की मंजूरी दे दी गयी है.

चीन के आधिकारिक मीडिया की रिपोर्टों की मानें तो इस नाक के जरिए इस्तेमाल करने वाले स्प्रे वैक्सीन के पहले फेज के क्लिनिकल ट्रायल का ​​परीक्षण नवंबर में शुरू होने की संभावना है. जिसके लिए 100 वॉलेंटियर्स की भर्ती की जा रही है.

चीनी द्वारा संचालित ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट की मानें तो इस तरह का वैक्सीन दुनिया और चीन के राष्ट्रीय चिकित्सा उत्पाद प्रशासन द्वारा अनुमोदित होने वाला एकमात्र टीका है. इस वैक्सीन को हांगकांग और चीन के द्वारा संयुक्त रूप से बनाया गया है. इससके निर्माण कार्य में हांगकांग विश्वविद्यालय, ज़ियामी विश्वविद्यालय, और बीजिंग वीनाई बायोलॉजिकल फार्मेसी के शोधकर्ता भी शामिल हैं.

हांगकांग विश्वविद्यालय के माइक्रोबायोलॉजिस्ट, यूएन क्वाक-युंग ने कहा कि यह टीका हमारे नाके के जरिए शरीर में जाता है और प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को सक्रिय करता है.

उन्होंने आगे बताया कि नाक स्प्रे से टीकाकरण करने के दोहरे फायदे है. यह इन्फ्लूएंजा और कोरोनावायरस दोनों के रोकथाम में कारगार है. यदि किसी इंसान में एच1 एन1, एच3 एन2 और बी सहित अन्य इन्फ्लूएंजा वायरस भी हो तो यह उसे समाप्त कर सकता है. उन्होंने आगे बताते हुए कहा कि इसके तीनों ट्रायल को समाप्त करने में कम से कम एक और वर्ष लग सकता है.

इंडिया टूडे की रिपोर्ट की मानें तो नाक स्प्रे वैक्सीन लाइव एटेन्यूएटेड इन्फ्लुएंजा वैक्सीन का उपयोग करता है. इस वैक्सीन के अलावा चीन चार और वैक्सीन पर कार्य कर रहा है. इनमें कोरोनोवायरस के टीके निष्क्रिय टीके, एडेनोवायरल वेक्टर-आधारित टीके, और डीएनए और एमआरएनए वैक्सीन विकसित कर सकें. निष्क्रिय टीका को बाजार में जल्द से जल्द होने का अनुमान है.

इस वैक्सीन के साइड इफेक्ट

एक प्रतिरक्षाविज्ञानी ने कहा कि नाक से इस्तेमाल होने वाले वैक्सीन के कोई साइड इफेक्ट नहीं है. लेकिन, भविष्य में श्वसन प्रणाली में अस्थमा और सांस की तकलीफ जैसे दुष्प्रभाव हो भी सकते हैं. हालांकि, एक रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि नाक स्प्रे के वैक्सीन से उत्पन्न होने वाली प्रतिरक्षा कितने समय तक शरीर में बनी रह सकती है.

Posted By : Sumit Kumar Verma

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें