1. home Hindi News
  2. health
  3. corona third wave se bachne ke liye other countries me kya chal rahi taiyari why coronavirus 3rd wave dangerous for children see report smt

Corona Third Wave को लेकर दूसरे देशों में क्या चल रही तैयारी, क्यों बच्चों के लिए इसे बताया जा रहा खतरनाक

By PrashantKumar Jha
Updated Date
Corona Third Wave, Worldwide, India, Preparations
Corona Third Wave, Worldwide, India, Preparations
Prabhat Khabar Graphics

Corona Third Wave, Worldwide, India, Preparations: कोरोना की दूसरी लहर अभी समाप्त नहीं हुई है और तीसरी लहर की आहट ने दुनिया भर में दहशत फैलाना शुरू कर दिया है. इसे लेकर कई शोध व चर्चाएं हो रही है. कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि यह तीसरी लहर कम उम्र के बच्चों के लिए बेहद आक्रमक होने वाली है. ऐसे में आइए जानते हैं कि क्या है ये थर्ड वेब को लेकर भारत समेत अन्य देशों में क्या तैयारियां शुरू हो चुकी है....

दरअसल, डब्ल्यूएचओ के रिपोर्ट के मुताबिक कोरोनावायरस के थर्ड वेब के नए वेरिएंट B117 का म्यूटेशन पहली बार यूनाइटेड किंगडम में मिला था. जो ओरिजिनल वायरस की तुलना में 50 प्रतिशत अधिक संक्रामक है. हालांकि, उनका यह भी मानना है कि यह तेजी से तभी बढ़ बढ़ सकता है. विश्व स्वस्थ्य संगठन के यूरोप निदेशक, हैंस क्लूज की मानें तो इससे लोग बच सकते हैं यदि घर में सुरक्षित व सावधान रहें.

भारत में क्या है हाल

भारत की बात करें तो यहां सरकार द्वारा वैक्सीनेशन का दूसरा चरण आरंभ हो चुका है. पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर व 45 से अधिक उम्र वालों को को डोज दिया जा रहा है. वहीं, 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को वैक्सीन देने की प्रक्रिया चालू है. ऐसे में थर्डवेब ने लोगों के मन में फिर से दहशत वाला माहौल बना दिया है. हालांकि, अभी तक देश में पूर्ण लाकडाउन की घोषण केंद्र की ओर से नहीं की गयी है. लेकिन, ज्यादातर राज्य अपने अनुसार ही लॉकडाउन लगा रहे हैं.

जर्मनी का हाल

कुछ इसी तरह जर्मनी में, फरवरी के अंत में स्कूल, व्यापार आदि खोलने का निर्णय लिया गया था. लेकिन, वायरस की सुगबुगाहट ने फिर से लोगों को सतर्क कर दिया है. यहां थर्डवेव के बाद लॉकडाउन को लंबा खींचा दिया गया है. एक दिन में यहां 29000 से अधिक मामले मिले है. बड़ी बात यह थी कि पहले दो वेब के मुकाबले इस वेब में कम आयु वाले बच्चे ज्यादा संक्रमित हुए हैं.

फ्रांस का हाल

इधर फ्रांस में, तीसरा राष्ट्रीय लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है. विद्यालयों के अलावा सभी गैर जरूरी दुकान, व्यापार आदि बंद कर दिए गए हैं. साथ ही साथ शाम 7 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया है. हालांकि, राहत भरी खबर यह है कि 11.6 मिलियन लोगों को यहां वैक्सीन लगा दिया गया है.

इटली में फिर से बढ़ने लगे मामले

इटली में भी जनवरी से कोरोना संक्रमित के मामले बढ़ने लगे हैं. जनवरी में 12000 मामले थे जो अप्रैल तक बढ़कर 20000 से अधिक पहुंच गए हैं. यहां भी सरकार जल्दी से जल्द वैक्सीनेशन लगाने की कोशिश में लगी हुई है ताकि थर्ड वेव को कंट्रोल किया जा सके.

नीदरलैंड में प्रतिबंध जारी रखने का आदेश

नीदरलैंड की सरकार द्वारा प्रतिबंध जारी रखने का आदेश दिया गया है. हाल में ही यहां 21 अप्रैल से कर्फ्यू हटाने की बात कही जा रही थी. लेकिन, अचानक से बिगड़े हालात को देखते हुए यहां भी वापस से प्रतिबंध जारी रखने का आदेश दिया गया है. यहां प्रतिदिन करीब 35 प्रतिशत बढ़ गयी है.

पोलैंड की हालात बुरी

पोलैंड की सरकार भी कोरोना के तीसरे लहर से लोगों को बचाने में जुटी हुई है. यहां मामले अचानक से बढ़ गए है. यहां अप्रैल महीने के तीसरे सप्ताह तक कुल 26 लाख से अधिक मामले सामने आए है. जबकि मरने वालों की संख्या 59000 से अधिक हो चुकी है. ऐसे में पोलैंड सरकार आगे भी लॉकडाउन जारी रखने वाली है.

नोट: उपरोक्त जानकारी हिंदी वेबसाइट आजतक में छपी रिपोर्ट के आधार पर है.

Posted By: Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें