28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

देबांजन के कैंप में वैक्सीन लेने वाली TMC सांसद मिमी चक्रवर्ती की तबीयत बिगड़ी

Mimi Chakraborty Latest News: देबांजन के कैंप में वैक्सीन लेने वाली मिमी चक्रवर्ती बीमार, सुबह-सुबह डॉक्टर को बुलाया

कोलकाताः बांग्ला फिल्मों की अभिनेत्री से सांसद बनीं मिमी चक्रवर्ती गंभीर रूप से बीमार हो गयी हैं. उनके पेट में दर्द हो रहा है. ब्लड प्रेशर घट गया है. शरीर में पानी का अभाव हो गया है. डीहाइड्रेशन की वजह से तृणमूल कांग्रेस की सांसद बेहद कमजोर हो गयी हैं. क्या ये सारी समस्याएं फर्जी वैक्सीन के साइड इफेक्ट हैं?

ममता बनर्जी की पार्टी की सांसद मिमी चक्रवर्ती ने बुधवार (23 जून 2021) को कोलकाता के कस्बा में देबांजन देव की ओर से आयोजित एक वैक्सीनेशन शिविर में टीका लिया था. बाद में मालूम हुआ कि कोरोना वैक्सीन के नाम पर यहां निमोनिया और अन्य बीमारियों के टीके दिये जा रहे थे. यहां तक कि पानी में पावडर मिलाकर लोगों को इंजेक्ट कर दिया गया.

ऐसे में सवाल उठ रहा है कि मिमी चक्रवर्ती की बिगड़ती सेहत के लिए फर्जी वैक्सीन तो जिम्मेदार नहीं? एक प्रतिष्ठित बांग्ला न्यूज वेबसाइट को मिमी चक्रवर्ती ने बताया कि वह काफी कमजोरी महसूस कर रही हैं. सुबह 4 बजे से ही उनके पेट में दर्द हो रहा है. सुबह 6 बजे डॉक्टर बुलाने के लिए बाध्य हो गयीं. डॉक्टर ने उन्हें दिन भर आराम करने की सलाह दी.

Also Read: वैक्सीनेशन फर्जीवाड़ा मामले में तीन और गिरफ्तार, सरगना देबांजन पर दर्ज होगी हत्या की कोशिश की प्राथमिकी

डॉक्टर ने इस ग्लैमरस ऐक्ट्रेस को फोन से दूर रहने की सलाह दी है. बताया जा रहा है कि शारीरिक और मानसिक रूप से मिमी चक्रवर्ती टूट गयी हैं. वेबसाइट ने कहा है कि गुरुवार को उन्होंने कोलकाता नगर निगम के फॉरेंसिक विशेषज्ञों से फर्जी वैक्सीनेशन की खबर सुनी, तभी से वह चिंतित हैं. डॉक्टर को फोन किया. उन्होंने कहा कि यह एक तरह की एंटबायोटिक है. इसे पानी में मिलाकर दिया जाता है.

डॉक्टर ने मिमी को बताया कि पेट और मूत्र संक्रमण में इस दवा का इस्तेमाल होता है. यह काफी पावरफुल दवा है. डॉक्टर ने मिमी को यह भी बताया कि दवा पानी में मिलाकर दिया गया है, इसलिए हो सकता है कि इससे ज्यादा परेशानी न हो.

मिमी की वजह से ही हुआ वैक्सीन फर्जीवाड़ा का खुलासा

उल्लेखनीय है कि कथित कोरोना वैक्सीन लेने के बाद मिमी चक्रवर्ती ने वैक्सीनेशन शिविर का आयोजन करने वालों से सर्टिफिकेट मांगा था. इस पर उन लोगों ने कहा था कि आपके मोबाइल पर सर्टिफिकेट पहुंच जायेगा. कई घंटे बाद भी सर्टफिकेट हीं मिला, तो मिमी के कर्मचारियों ने इस संबंध में आयोजकों से बात की. लेकिन, कोई संतोषप्रद जवाब नहीं मिला. इसके बाद तृणमूल सांसद ने कसबा थाना से संपर्क किया. इसके बाद इतने बड़े कांड का खुलासा हुआ.

Also Read: कोलकाता में वैक्सीनेशन के नाम पर फर्जीवाड़ा का शिकार हुईं मिमी चक्रवर्ती, निगम का ‘ज्वाइंट कमिश्नर गिरफ्तार’

Posted by: Mithilesh Jha

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें