1. home Home
  2. entertainment
  3. bollywood
  4. sonu nigam slams trollers who trolled him for not wearing mask during blood donation dvy

सोनू निगम ने ट्रोलर्स को दिया करारा जवाब, मास्क नहीं पहनने की वजह से सोशल मीडिया पर हुए थे ट्रोल

पूरे देश में कोरोना का कहर जारी है. इससे लड़ने के लिए कई बॉलीवुड सेलेब्स आगे आ रहे है. हाल ही में बॉलीवुड सिंगर सोनू निगम (Sonu Nigam) ने मुंबई के एक रक्तदान शिविर में ब्लड डोनेट किया था. इस दौरान उनके मास्क ना पहनने पर मीडिया यूजर्स उन्हें ट्रोल करने लगे थे. अब इसपर सोनू ने अपना रिएक्शन दिया है, जो इंटरनेट पर वायरल हो रहा है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
sonu nigam
sonu nigam
instagram

पूरे देश में कोरोना का कहर जारी है. इससे लड़ने के लिए कई बॉलीवुड सेलेब्स आगे आ रहे है. हाल ही में बॉलीवुड सिंगर सोनू निगम (Sonu Nigam) ने मुंबई के एक रक्तदान शिविर में ब्लड डोनेट किया था. इस दौरान उनके मास्क ना पहनने पर मीडिया यूजर्स उन्हें ट्रोल करने लगे थे. अब इसपर सोनू ने अपना रिएक्शन दिया है, जो इंटरनेट पर वायरल हो रहा है.

सोनू निगम उन्हें ट्रोल करने वालों पर बरस पड़े. सोनू लिखते है. 'यहां जो आइंस्टाइन बन रहे हैं उनके लिए, मुझे तुम्हारी ही भाषा में जवाब देने दो क्योंकि तुम इसी के लायक हो. साले गधों, उल्लू के पट्ठों, ब्लड डोनेट करते समय मास्क लगाने की इजाजत नहीं होती. कितना गिरोगे साले लेफ्टिस्ट?'

सोनू निगम ने ट्रोलर्स को दिया करारा जवाब, मास्क नहीं पहनने की वजह से सोशल मीडिया पर हुए थे ट्रोल

गौरतलब है कि सोनू निगम ने ब्लड डोनेट करते हुए अपनी तसवीरें और वीडियो पोस्ट किया था. जिसके बाद मीडिया यूजर्स उन्हें ट्रोल करने लगे थे. कई यूजर्स ने कमेंट कर उनसे उनके मास्क के बारे में पूछा था. वहीं, सिंगर ने वीडियो में कहा था, ‘आने वाले समय में भारत में ब्लड की बहुत बड़ी किल्लत होने वाली है इसलिए पहले ही सावधान हो जाएं और वैक्सीन लगवाने से पहले ब्लड डोनेट करें. जो लोग कोरोना से ठीक हो गए हैं वो भी वैक्सीन लगवाने से पहले रक्तदान करें.’

इससे पहले सोनू निगम ने कुंभ मेले को लेकर एक वीडियो पोस्ट किया था. वीडियो में उन्होंने कहा था, 'मैं किसी और चीज के बारे में नहीं कहूंगा, मगर क्योंकि मैं हिंदू पैदा हुआ हूं तो एक हिंदू के तौर पर मैं कह सकता हूं कि यह कुंभ का मेला होना ही नहीं चाहिए था.'

'भगवान का शुक्र है कि अब इसे केवल सांकेतिक कर दिया गया है. मैं समझता हूं कि यह आस्था का मामला है लेकिन अभी दुनिया की जो हालत हैं, इस समय कुछ भी लोगों की जान से ज्यादा जरूरी नहीं है.'

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें