37.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Lok Sabha Election 2024 : हैदराबाद सीट से 5 लाख से अधिक वोटर्स के नाम काटे गए, जानिए माधवी लता के मैदान में आने के बाद कैसा है माहौल

हैदराबाद सीट पर इस बार चुनावी मुकाबला बहुत ही रोचक होने जा रहा है क्योंकि असदुद्दीन ओवैसी के सामने बीजेपी ने फायर ब्रांड नेता माधवी लता को उतारा है.

Lok Sabha Election 2024 : ‘ओवैसी है लापता, जब से आई माधवी लता’. यह स्लोगन आज केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने हैदराबाद में बीजेपी उम्मीदवार माधवी लता के प्रचार के दौरान कही. अनुराग ठाकुर आज हैदराबाद में माधवी लता के पक्ष में रोड शो कर रहे थे. उनका यह रोड शोर चारमीनार के पास आयोजित किया गया था. गौरतलब है कि हैदराबाद से बीजेपी की उम्मीदवार माधवीलता ने आज अपना नामांकन दाखिल किया. इससे पहले वे मंदिर गईं और वहां पूजा अर्चना की.


माधवी लता की छवि हिंदूवादी नेता की

हैदराबाद सीट से असदुद्दीन ओवैसी सांसद हैं और उनके परिवार का यहां दबदबा है. ऐसी सीट पर जब बीजेपी ने माधवी लता जैसी उम्मीदवार को खड़ा किया, तो उनकी चर्चा चारों ओर हो रही है. माधवी लता की छवि एक हिंदूवादी नेता की है. वे अपने अनोखे अंदाज और सामाजिक कार्यों की वजह से भी जानी जाती हैं. महिलाओं के बीच उनकी अच्छी पकड़ है, खासकर मुस्लिम महिलाएं भी उनकी पक्षधर है. जब से तीन तलाक के मुद्दे पर मोदी सरकार ने मुस्लिम महिलाओं के पक्ष में कानून बनाया है, महिलाओं की सहानुभूति इनके साथ है.


आखिर एआईएमआईएम के खेमे में क्यों है बेचैनी

हैदराबाद संसदीय सीट पर मुसलमानों का प्रभाव है और वे चुनाव का नतीजा तय करने में निर्णायक भूमिका निभाते हैं. वर्तमान सांसद असदुद्दीन ओवैसी यहां 2004 से सांसद हैं, उससे पहले उनके पिता सुलतान सलाउद्दीन ओवैसी 1984 से 1999 तक सांसद रहे थे. जनगणना 2011 के अनुसार हैदराबाद जिले में हिंदू बहुसंख्यक हैं, लेकिन मुसलमानों की संख्या यहां लगभग 45 प्रतिशत है जो चुनाव के परिणाम को प्रभावित करते हैं क्योंकि उनका वोट एकमुश्त पड़ता है. गौर करने वाली बात यह है कि इस बार वोटर लिस्ट से लाखों के नाम काटे गए हैं और हजारों वोटर के नाम जुड़े हैं, जिसकी वजह से विरोधी खेमे में खलबली है. खबर के अनुसार हैदराबाद संसदीय सीट से नवंबर 2023 से अबतक लगभग पांच लाख 41 हजार वोटर्स का नाम सूची से डिलीट किया गया है. इनमें ऐसे मतदाता शामिल हैं, जो या तो दूसरी जगह शिफ्ट हो गए हैं, जिनकी मौत हो गई है या फिर जो डुप्लीकेट वोटर्स हैं.


माधवी लता पर दर्ज हुआ एफआईआर

माधवी लता कट्टर हिंदूवादी छवि की नेता हैं. वे पीएम नरेंद्र मोदी को अपना आदर्श मानती हैं. रजत शर्मा के कार्यक्रम आपकी अदालत में आकर उन्होंने खूब वाहवाही बटोरी और उनकी चर्चा भी बीजेपी की फायर ब्रांड नेता के रूप में हो रही है. रामनवमी के मौके पर निकाली गई शोभायात्रा में उन्होंने एक प्रतीकात्मक चिह्न बनाया था, जिसे लेकर उनकी खूब आलोचना हुई और मुस्लिम संगठन के नेताओं ने उनपर कार्रवाई की मांग भी की. इसी मामले को लेकर उनपर प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी. हालांकि माधवी लता ने बाद में यह कहा था कि उनके वीडियो को आधा-अधूरा दिखाकर गलत तरीके से प्रचारित किया गया है.

Also Read :Nitin Gadkari: रैली के दौरान मंच पर बेहोश होकर गिरे नितिन गडकरी

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें