1. home Home
  2. career
  3. ugc says cet for ug pg courses in central universities may be held through nta from next session 2022 2023 smb

केंद्रीय विश्वविद्यालयों में UG और PG पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए NTA के जरिए CET संभव, UGC ने दी जानकारी

CET for UG PG Courses विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने जानकारी देते हुए बताया है कि केंद्रीय विश्वविद्यालयों (Central Universities) में यूजी (UG) और पीजी (PG) पाठ्यक्रमों के लिए साझा प्रवेश परीक्षा (CET) नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानि NTA के जरिए 2022-2023 शैक्षिणिक सत्र से संचालित की जा सकती है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
UG, PG पाठ्यक्रमों में दाखिले को लेकर UGC ने दी अहम जानकारी
UG, PG पाठ्यक्रमों में दाखिले को लेकर UGC ने दी अहम जानकारी
फाइल

CET for UG PG Courses विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने जानकारी देते हुए बताया है कि केंद्रीय विश्वविद्यालयों (Central Universities) में यूजी (UG) और पीजी (PG) पाठ्यक्रमों के लिए साझा प्रवेश परीक्षा (CET) नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानि NTA के जरिए 2022-2023 शैक्षिणिक सत्र से संचालित की जा सकती है.

यूजीसी ने साथ ही यह भी बताया कि पीएचडी कार्यक्रम में दाखिले के लिए जहां कहीं व्यवहार्य होगा, नेट (NET) के स्कोर का उपयोग किया जाएगा. विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने सभी यूनिवर्सिटी के कुलपतियों (VC) को पत्र भी लिखा है. इसके मुताबिक, सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों को साझा प्रवेश परीक्षा के लिए 2022-2023 शैक्षणिक सत्र से उपयुक्त उपाय करने की सलाह दी गई है. ये परीक्षाएं कम से कम तेरह भाषाओं में ली जाएंगी. जिनमें एनटीए पहले से जेईई (JEE) और नीट (NEET) परीक्षाएं संचालित कर रहा है.

आयोग ने कहा है कि साझा प्रवेश परीक्षा को इच्छुक राज्य, निजी विश्वविद्यालय व डीम्ड विश्वविद्यालय द्वारा भी स्वीकार किया जा सकता है. उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति,2020 ने एनटीए के जरिए सभी विश्वविद्यालयों के लिए एक सीईटी का प्रस्ताव किया है. विषय पर गौर करने और केंद्रीय विश्वविद्यालयों के लिए प्रवेश परीक्षा के तौर तरीकों का सुझाव देने के लिए एक समिति गठित की गई थी.

यूजीसी ने कहा कि कमेटी ने सीईटी संचालित करने के लिए तौर तरीकों के ब्योरे के बारे में कई दौर की चर्चा की. इसके बाद सिफारिशों पर चर्चा करने के लिए सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के साथ एक बैठक की गई. मालूम हो कि शिक्षा मंत्रालय ने घोषणा की थी कि विश्वविद्यालयों में दाखिला 2021 अकादमिक सत्र से सीईटी के आधार पर होगा, लेकिन कोरोना महामारी के चलते ऐसा नहीं हो सका.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें