1. home Hindi News
  2. business
  3. pradhan mantri aawas yojna know all details about pm awas yojana way to check application status and process of pmay smb

पीएम आवास योजना : जानिए किन लोगों को मिलेगा फायदा और क्या है शर्तें, अपने घर का सपना पूरा करने के लिए ऐसे करें आवेदन

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
पीएम आवास योजना
पीएम आवास योजना
फाइल फोटो.

Pradhan Mantri Aawas Yojna देश के सभी लोगों को साल 2022 तक घर उपलब्ध करवाने के लक्ष्य के साथ प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) देश के 669 जिलों में क्रियान्वित की जा रही है. योजना के तहत सरकार बेघर लोगों को घर बनाकर देती है. साथ ही उन्हें सब्सिडी मिलती है, जो लोग लोन पर घर या फ्लैट खरीदते हैं. घर खरीदने और उसके निर्माण के लिए पात्र शहरी गरीबों को होम लोन पर क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी मिलती है. वहीं, अगर आपने हाल ही में घर या फ्लैट खरीदा है, तो आप अपने घर पर लिए गए लोन के लिए लगने वाले ब्याज पर सरकार द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी का लाभ ले सकते हैं. इससे आपके घर की लागत घट जाएगी, जिससे आपको काफी लाभ होगा.

आवेदन करने के लिए गूगल के प्ले स्टोर से डाउनलोड करें ऐप

पीएम आवास योजना ग्रामीण के तहत आवेदन करने के लिए सरकार ने मोबाइल आधारित आवास ऐप बनाया है और इसे गूगल के प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है. डाउनलोड करने के बाद आपको मोबाइल नंबर की सहायता से इसमें लॉग-इन आईडी बनानी होगी. इसके बाद यह एप आपके मोबाइल नंबर पर एक वन टाइम पासवर्ड भेजा जाएगा. इसकी मदद से लॉगिन करने के बाद आवश्यक जानकारियों को भरना होता है. पीएमएवाई-जी के तहत घर पाने के लिए आवेदन करने के बाद केंद्र सरकार लाभार्थियों का चुनाव करती है. इसके बाद लाभार्थियों की फाइनल लिस्ट पीएमएवाई-जी की वेबसाइट पर डाल दी जाती है.

पीएम आवास योजना का किन लोगों को होता है फायदा

प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ पहले सिर्फ गरीब वर्ग के लिए था. लेकिन, अब होम लोन की रकम बढ़ाकर शहरी इलाकों के गरीब और मध्यम वर्ग को भी इसके दायरे में लाया गया है. शुरुआत में पीएमएवाई में होम लोन की रकम 3 से 6 लाख रुपये तक थी, जिस पर ब्याज पर सब्सिडी दी जाती थी. अब इसे 18 लाख रुपये तक कर दिया गया है. योजना का फायदा लेने के लिए आवेदक की उम्र 21 से 55 साल होनी चाहिए. अगर परिवार के मुखिया या आवेदक की उम्र पचास साल से अधिक है, तो उसके प्रमुख कानूनी वारिस को होम लोन में शामिल किया जाएगा. ईडब्ल्यूएस (निम्न आर्थिक वर्ग) के लिए सालाना घरेलू आमदनी तीन लाख रुपये तय है. एलआईजी (कम आय वर्ग) के लिए सालाना आमदनी 3 से 6 लाख के बीच होनी चाहिए. अब 12 और 18 लाख रुपये तक की सालाना आमदनी वाले लोग भी इसका लाभ उठा सकते हैं.

योजना की शर्तें

योग्य आवेदकों का आवेदन पहले सेंट्रल नोडल एजेंसी को भेजा जाएगा. मंजूरी मिलने पर एजेंसी सब्सिडी की रकम कर्ज देने वाले बैंक को दे देगी. यह रकम आपके लोन अकाउंट में आ जाएगी. अगर आपकी सालाना आमदनी सात लाख है और लोन की रकम नौ लाख, तो आपकी सब्सिडी 2.35 लाख रुपये बनेगी. इसे घटाने के बाद आपके लोन की रकम 6.65 लाख रुपये बचेगी, जिस पर आप मासिक किस्त भरेंगे. अगर लोन की रकम आपकी सब्सिडी की योग्यता से अधिक है तो अतिरिक्त रकम पर आपको सामान्य दर से ब्याज चुकाना पड़ेगा.

पीएम आवास योजना के बारे में आवेदन की स्थिति को जानने की प्रक्रिया

अगर आपने शहर में पीएम आवास योजना के तहत घर खरीदा है तो आपको क्लैप आईडी जानना जरूरी है. अगर आपको बैंक से क्लैप आईडी मिल गई है तो सबसे पहले आप http://pmayuclap.gov.in पर लॉगिन करना होगा. उपरोक्त वेबसाइट पर क्लैप आईडी को बताए गए लोकेशन पर अप्लीकेशन आईडी को भरकर जांच कर सकते हैं. इसके बाद अप्लिकेशन स्टेटस पर जाकर गेट स्टेटस चेक कर सकते हैं. फिर आपको रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर ओटीपी मिलेगा. बताए गए स्थान पर ओटीपी डालकर क्लिक करें और उसको वेरीफाई कर लें. इसके बाद अप्लिकेशन के स्टेटस के बारे में जानकारी मिल जाएगी.

योजना से जुड़ी अन्य अहम जानकारियां

भारत सरकार ने साल 2015 में प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरुआत की थी. योजना को तीन चरणों में बांटा गया है. योजना का पहला चरण जून 2015 में शुरू हुआ, जो मार्च 2017 में खत्म हो गया. दूसरा चरण अप्रैल 2017 से शुरू हुआ और मार्च 2019 में खत्म हो गया. तीसरा और आखिरी चरण अप्रैल 2019 में शुरू किया गया और मार्च 2022 तक खत्म हो जाएगा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें