1. home Home
  2. business
  3. pm kisan farmers of bengal may remain deprived of ninth instalment of 2000 rupees this is the reason mtj

PM Kisan Samman Yojana: बंगाल के किसान सावधान! नौवीं किस्त के 2000 रुपये से रह सकते हैं वंचित, ये है वजह

योजना के तहत हर साल 2000-2000 रुपये की 3 किस्त किसानों के खाते में ट्रांसफर की जाती है. लेकिन, इस बार कुछ किसानों की किस्त रुक सकती है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
PM Kisan Samman Yojana: किसानों के लिए खुशखबरी
PM Kisan Samman Yojana: किसानों के लिए खुशखबरी
Prabhat Khabar

कोलकाता: पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Yojana) का लाभ अब बंगाल के किसानों को भी मिलने लगा है. देश भर के किसानों के खाते में जिस दिन पीएम किसान सम्मान निधि की नौवीं किस्त (PM Kisan Yojana 9th Instalment) आयेगी, उस दिन बंगाल के किसानों (Farmers of West Bengal) के खाते में दूसरी किस्त के रुपये आयेंगे.

केंद्र में वर्ष 2019 में जब भारतीय जनता पार्टी (BJP) लगातार दूसरी बार सत्ता में आये, तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने किसानों की आय बढ़ाने और खेतीबाड़ी में उनकी मदद करने के लिए इस योजना की शुरुआत की थी. योजना के तहत हर साल 2000-2000 रुपये की 3 किस्त किसानों के खाते में ट्रांसफर की जाती है. लेकिन, इस बार कुछ किसानों की किस्त रुक सकती है.

यहां बताना प्रासंगिक होगा कि पीएम किसान योजना (PM kisan) के लाभुकों के लिए बड़ी खुशखबरी है. अगर आप भी 2000 रुपयेअगससीधे खाते में ट्रांसफर किये जाते हैं. बता दें 9वीं किस्त अगस्त महीने में किसानों के खाते में अगस्त महीने की किसी भी तारीख को ट्रांसफर किया जा सकता है. इसलिए आप फटाफट लिस्ट में अपना नाम ((PM Kisan Yojana 9th Installment Status) चेक कर लें. अगर लिस्ट में नाम नहीं है, तो यह भी देख लें कि कहीं आपने कोई गलती तो नहीं कर दी है. उसे तुरंत सुधार लें.

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM kisan samman nidhi scheme) का फायदा देश के अब तक 10.90 करोड़ किसानों को मिल चुका है. सरकार की ओर से 1,37,192 करोड़ रुपये जारी किये जा चुके हैं. सरकार अब तक 8 किस्तें लाभार्थियों के खाते में ट्रांसफर कर चुकी है. 8वीं किस्त में सरकार ने करीब 9.5 करोड़ किसानों के लिए 20 हजार करोड़ रुपये जारी किये थे.

क्यों अटक सकते हैं पैसे?

केंद्र सरकार को 13 जुलाई 2021 तक पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana Benefits) के तहत देश भर से कुल 12.30 करोड़ लोगों के आवेदन मिले हैं. इसमें 2.77 करोड़ किसानों के आवेदन में त्रुटियां रह गयी हैं. लगभग 27.50 लाख किसानों के लेन-देन फेल हो चुके हैं और 31.63 लाख किसानों के आवेदन पहले ही रद्द किये जा चुके हैं.

हो सकती हैं ये गलतियां

गलतियों के बारे में बताया गया है कि फॉर्म भरते समय कुछ किसानों ने अपने नाम हिंदी में लिख दिये हैं. ऐसे किसानों की किस्त रुक गयी है. इतना ही नहीं, बैंक खाता और पीएम किसान योजना में दर्ज नाम में अगर अंतर है, तो भी आपका पैसा अटक सकता है.

इसके अलावा अगर बैंक का IFSC कोड, बैंक अकाउंट नंबर और गांव का नाम लिखने में गलती हुई होगी, तो भी आपकी किस्त आपके खाते में नहीं जायेगी. हाल ही में, बैंकों के विलय के कारण IFSC कोड बदल गये हैं. इसलिए, आवेदक को अपने बैंक का नया IFSC कोड अपडेट कराना होगा.

गलती हुई है, तो ऐसे करें सुधार

अगर रजिस्ट्रेशन कराते समय कुछ गलतियां हो गयीं हैं, तो घबराने की जरूरत नहीं है. इसमें सुधार की एक प्रक्रिया है. उसके तहत गलतियों को सुधरवा लें. आपके खाते में पैसे फिर से आने लगेंगे. आपको क्या करना है, वह हम नीचे बता रहे हैं.

  1. गलतियों को सुधारने के लिए सबसे पहले आपको pmkisan.gov.in वेबसाइट पर जाना होगा.

  2. वेबसाइट पर ‘किसान कॉर्नर’ के विकल्प पर क्लिक करें.

  3. ‘किसान कॉर्नर’ पर क्लिक करेंगे, तो आपको ‘आधार एडिट’ का विकल्प दिखेगा. यहां आप अपने आधार नंबर में सुधार कर सकते हैं.

  4. अगर आपके बैंक अकाउंट नंबर में कोई गलती हो गयी है, तो आपको इसे सुधारने के लिए कृषि विभाग के कार्यालय या लेखपाल से संपर्क करना होगा.

लिस्ट में ऐसे चेक करें अपना नाम

  1. सबसे पहले पीएम किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in पर जायें.

  2. होमपेज पर ही आपको Farmers Corner का ऑप्शन मिलेगा.

  3. Farmers Corner सेक्शन के भीतर Beneficiaries List के ऑप्शन पर क्लिक करें.

  4. अब ड्रॉप डाउन लिस्ट से राज्य, जिला, उप जिला, ब्लॉक और गांव सेलेक्ट करें.

  5. अब Get Report पर क्लिक कीजिए और लाभार्थियों की पूरी लिस्ट आपके सामने आ जायेगी. इसमें आप अपना नाम चेक कर सकते हैं.

ऐसे तय होते हैं लाभुकों के नाम

सबसे पहले जमीन के रिकॉर्ड की जांच की जाती है. इसके बाद किसानों द्वारा आवेदन में अटैच जमीन के दस्तावेजों की जांच होती है. अगर दस्तावेज सही पाये जाते हैं, तो किसानों के नाम किसान सम्मान निधि पोर्टल पर लाभार्थी की सूची में जोड़ दिये जाते हैं. पोर्टल पर किसान परिवार का नाम दर्ज करने की जिम्मेदारी राज्यों और केद्रशासित प्रदेशों की होती है. लाभार्थी की सूची में नाम दर्ज होने के बाद ही किसानों के खाते में पीएम सम्मान स्कीम (PM Kisan Samman Scheme) की राशि ट्रांसफर की जाती है.

किन लोगों को नहीं मिलता है फायदा

सरकारी कर्मचारी या इनकम टैक्स देने वाले किसानों को इसका पात्र नहीं माना गया है. इसके अलावा डॉक्टर, इंजीनियर, सीए और 10 हजार रुपये से अधिक पेंशन पाने वाले कर्मचारी भी इस योजना में शामिल नहीं हो सकते हैं.

इन नंबरों पर करें शिकायत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार की महत्वाकांक्षी योजना में किसानों को कई तरह की सहूलियतें भी दी गयीं हैं. इसी में एक है हेल्पलाइन नंबर (PM Kisan Toll Free No., PM Kisan Helpline No.). इसके जरिये देश के किसी भी कोने का किसान सीधे कृषि मंत्रालय से संपर्क कर सकता है.

  • पीएम किसान टोल फ्री नंबर: 18001155266

  • पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर:155261

  • पीएम किसान लैंडलाइन नंबर्स: 011—23381092, 23382401

  • पीएम किसान की नई हेल्पलाइन: 011-24300606

  • पीएम किसान की एक और हेल्पलाइन है: 0120-6025109

  • ई-मेल आईडी: pmkisan-ict@gov.in

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें