25.1 C
Ranchi
Monday, February 26, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

HomeदेशBusiness Idea: अपना बिजनेस शुरू करने के लिए अब बैंक देगी पैसा, जानें क्या है सरकार का धांसू प्लान

Business Idea: अपना बिजनेस शुरू करने के लिए अब बैंक देगी पैसा, जानें क्या है सरकार का धांसू प्लान

Mudra Yojana Loan: अगर आप अपना बिजनेस शुरू करने की सोच रहे हैं और पैसे की कमी के कारण काम शुरू नहीं कर पा रहे हैं तो आपकी मदद अब सरकार करेगी.

Mudra Yojana Loan: अगर आप अपना बिजनेस शुरू करने की सोच रहे हैं और पैसे की कमी के कारण काम शुरू नहीं कर पा रहे हैं तो आपकी मदद अब सरकार करेगी. आपको अपना काम शुरू करने के लिए केंद्र सरकार के द्वारा पैसा दिया जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा देश के युवाओं को आर्थिक रुप से आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से महत्वकांक्षी मुद्रा योजना की शुरूआत साल 2018 में की गयी थी. योजना के तहत अपना रोजगार शुरू करने के लिए 10 लाख तक का लोन काफी कम ब्याज दर पर उपलब्ध कराया जा रहा है. ये योजना युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय है. ये ऋण वाणिज्यिक बैंकों, आरआरबी, लघु वित्त बैंकों, एमएफआई और एनबीएफसी द्वारा दिए जाते हैं. वित्त वर्ष 2022-23 में केंद्र सरकार के द्वारा 6.23 करोड़ लोगों को 456537.98 करोड़ रुपये ऋण के रुप में दिया गया था. जबकि, वित्त वर्ष 2021-22 में 5.37 करोड़ लोगों को सरकार ने ऋण देकर आत्मनिर्भर बनाया था. योजना के बारे में जानकारी सरकार के https://www.mudra.org.in/ से भी ली जा सकती है.

मुद्रा योजना क्या है

मुद्रा योजना (MUDRA Yojana) भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक सरकारी योजना है जो छोटे और मध्यम उद्यमियों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए बनाई गई है. मुद्रा का अर्थ है माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट रेफिनेन्स एंड रिफाइनेन्ट है, जिसका उद्देश्य है स्वनिर्भरता बढ़ाने के लिए छोटे व्यापारी और उद्यमियों को आर्थिक समर्थन प्रदान करना. मुद्रा योजना के तहत दिए जाने वाले ऋण सामान्य रुप से कार्यिक ऋण, व्यापारिक ऋण, और उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए उपयुक्त होते हैं. इसमें स्वनिर्भरता, रोजगार सृष्टि, और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने का उद्देश्य है. यह योजना भारत सरकार के उद्यमिता मंत्रालय के तहत कार्य करती है और छोटे और मध्यम उद्यमियों को आर्थिक समर्थन प्रदान करके उनके विकास को सुनिश्चित करने का प्रयास करती है.

मुद्रा योजना के तहत, विभिन्न बैंकों और वित्तीय संस्थानों के माध्यम से विभिन्न श्रेणियों में ऋण प्रदान किए जाते हैं. इसमें तीन प्रमुख श्रेणियां होती हैं:

  • शिशु (Shishu): इस श्रेणी में छोटे उद्यमियों को 50,000 रुपये तक का ऋण प्रदान किया जाता है.

  • किशोर (Kishor): इस श्रेणी में उद्यमियों को 50,000 रुपये से अधिक और 5 लाख रुपये तक का ऋण प्रदान किया जाता है.

  • तरुण (Tarun): इस श्रेणी में उद्यमियों को 5 लाख रुपये से अधिक और 10 लाख रुपये तक का ऋण प्रदान किया जाता है.

Also Read: PM Kisan Yojana: पीएम किसान योजना में अब मिलेगा 10 हजार रुपया! जानें सरकार की क्या है योजना

मुद्रा योजना में लोन कैसे मिलेगा

मुद्रा योजना के तहत लोन लेने के लिए सबसे पहले ये तय करें कि आपको काम क्या करना है. उसके बाद, अपना बिजनेस शुरू करने के लिए स्टिमेट खर्च तय करें. खर्च तय करने के लिए आप किसी वित्तिय सलाहकार या सीए की मदद ले सकते हैं. इसके बाद, बैंक या वित्तीय संस्था का चयन करना होगा जो मुद्रा योजना के तहत ऋण प्रदान करने के लिए पंजीकृत है. ऋण लेने के लिए आपको कुछ दस्तावेज की जरूरत पड़ेगी, इसमें आधार कार्ड, पैन कार्ड, व्यापार प्रमाणपत्र, बैंक स्टेटमेंट, इत्यादि शामिल है. आपको चयन किए गए बैंक या वित्तीय संस्था के आवेदन पत्र को भरकर सभी आवश्यक दस्तावेज के साथ सबमिट करना होगा. ऋण की श्रेणी का चयन करना होगा, जैसे कि शिशु, किशोर, या तरुण, जो आपकी व्यापारिक आवश्यकताओं के अनुसार हो. बैंक या वित्तीय संस्था आपकी आवश्यकताओं का मूल्यांकन करेगी और आपकी योजना की वापसी या उद्यमिता की क्षमता को देखेगी. फिर यदि बैंक या वित्तीय संस्था आपकी योजना को स्वीकृत करती है, तो ऋण अनुबंधित हो जाएगा और आपको आवंटित ऋण राशि आपके खाते में जमा की जाएगी. आपको ऋण की ब्याज दर और चुक्ता के बारे में स्पष्ट जानकारी मिलेगी, और आपको ऋण की शर्तों और नियमों का पूरा ध्यान रखना होगा. मुद्रा योजना के तहत उपलब्ध ऋणों में न्यूनतम ब्याज दर, सुविधाजनक शर्तें, और आसान प्रक्रिया होती है, जो छोटे और मध्यम उद्यमियों को वित्तीय समर्थन प्रदान करने में मदद कर सकती हैं.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें