1. home Hindi News
  2. business
  3. indian railways irctc 108 year old punjab mail train will start running on the track from december 1 after 255 days army soldiers to get facility vwt

Indian Railways, IRCTC : ट्रैक पर दौड़ने लगी 108 साल पुरानी यह ट्रेन, सेना के जवान और अफसरों को मिल रही सुविधाएं

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
मार्च के आखिरी सप्ताह से बंद है ट्रेन.
मार्च के आखिरी सप्ताह से बंद है ट्रेन.
फाइल फोटो.

Indian Railways, IRCTC news : कोरोना काल में लॉकडाउन के बाद अब धीरे-धीरे रेल सेवाएं बहाल होने की स्थिति में भारतीय रेलवे की 108 साल पुरानी पंजाब मेल 255 दिनों के बाद 1 दिसंबर 2020 से एक बार फिर पटरियों पर वापस लौट आई. देश के करीब सात राज्यों को जोड़ने वाली यह ट्रेन बीते 22 मार्च से रेल सेवाएं निलंबित किए जाने के दिन बंद है. यह ट्रेन मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस से 1 दिसंबर को शुरू की जाएगी, जबकि पंजाब के फिरोजपुर कैंट जंक्शन से यह 3 दिसंबर से शुरू होगी. रेलवे की ओर से इस ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों के लिए टिकटों की बुकिंग चालू है. कोरोना काल में लॉकडाउन के बाद अब धीरे-धीरे रेल सेवाएं बहाल होने से जुड़ी हर News in Hindi से अपडेट रहने के लिए बने रहें हमारे साथ.

सेना के जवानों और अधिकारियों को होगी काफी सहूलियत

पंजाब में लंबे समय के बाद 1 दिसंबर से पंजाब मेल के शुरू होने के साथ ही अमृतसर से चलकर राजस्थान के अजमेर शरीफ जाने वाली साप्ताहिक ट्रेन अमृतसर-अजमेर एक्सप्रेस भी चलने जा रही है. देश के सबसे पुरानी ट्रेन पंजाब मेल के शुरू होने से आम यात्रियों के अलावा सेना के जवानों और अधिकारियों को विशेष फायदा होगा. इसका कारण यह है कि पंजाब के फिरोजपुर से लेकर देश की औद्योगिक नगरी मुंबई तक के बीच सेना की कई छावनियां हैं. पंजाब मेल के शुरू होने से इन छावनियों में काम करने वाले सेना के जवान और अधिकारियों को आवागमन में काफी सहूलियत होगी.

देश के सात राज्यों को जोड़ती है पंजाब मेल

फिलहाल, फिरोजपुर-दिल्ली रेलवे लाइन पर एक दिसंबर से चलने वाली पंजाब मेल पहली रेलगाड़ी होगी. भारतीय रेल की यह ट्रेन पंजाब के फिरोजपुर कैन्ट जंक्शन से शुरू होकर देश के सात राज्यों को आपस में जोड़ने का काम करती है. पंजाब में फिरोजपुर कैंट जंक्शन, कोट कपुरा जंक्शन, गंग्सर जीतू, भटिंडा जंक्शन, हरियाणा के जींद जंक्शन, रोहतक जंक्शन, बहादुरगढ़, फरीदाबाद, दिल्ली के शकूरबस्ती, नई दिल्ली, उत्तर प्रदेश के मथुरा जंक्शन, आगरा कैन्ट, राजस्थान के धौलपुर, मध्य प्रदेश के मोरेना, ग्वालियर जंक्शन, दतिया, झांसी जंक्शन, ललितपुर, भोपाल जंक्शन, खंडवा जंक्शन और महाराष्ट्र भुसावल जंक्शन, जलगांव जंक्शन, नासिक रोड, कल्याण जंक्शन, दादर सेंट्रल, छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस पहुंचती है.

तैयारियां हो गईं पूरी

भारतीय रेलवे के फिरोजपुर मंडल के वरिष्ठ अधिकारियों के अनुसार, पंजाब मेल को दोबारा शुरू किए जाने को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. अधिकारियों ने बताया कि यह ट्रेन मुख्य रूप से मुंबई स्पेशल ट्रेन है, इसलिए इस ट्रेन के चलाए जाने पर फैसला मुंबई मंडल को ही करना था. फिलहाल, इस ट्रेन में आरक्षित श्रेणी के सवारी ही सफर कर सकेंगे. यात्रियों के लिए रिजर्वेशन काउंटर खोल दिया गया है. उन्होंने बताया कि ट्रेन पहले की ही तरह अपने निर्धारित समय पर चलाई जाएगी.

108 साल पहले शुरू की गई थी पंजाब मेल

भारतीय रेलवे की इस ट्रेन की शुरुआत आज से करीब 108 साल पहले 1 जून 1912 से की गई थी. तब से लेकर लॉकडाउन के पहले तक यह बिना रुके सवारियों को ढो रही है. आरंभिक समय में यह बल्लार्ड पियर से पेशावर के बीच शुरू हुई थी. आजादी के बाद से अब तक फिरोजपुर कैंट रेलवे स्टेशन से मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनल के लिए चलाई जा रही है. अब यह ट्रेन पंजाब के फिरोजपुर मंडल रेलवे की पहली सबसे पुरानी ट्रेन बन गई है.

Posted By : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें