1. home Home
  2. business
  3. gst collection crosses rs 1 lakh crore for the second consecutive month in august maximum amount recovered from sgst vwt

GST कलेक्शन अगस्त में लगातार दूसरे महीने 1 लाख करोड़ रुपये के पार, एसजीएसटी से सबसे अधिक रकम वसूली

वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, जीएसटी कलेक्शन लगातार दूसरे महीने एक लाख करोड़ रुपये से अधिक है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़ के पार.
जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़ के पार.
फोटो : ट्विटर.

GST Collection : कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बाद आर्थिक गतिविधियों में सुधार आने की वजह से देश में वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) कलेक्शन लगातार दूसरे महीने 1 लाख करोड़ रुपये के पार रहा है. वित्त मंत्रालय की ओर से बुधवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, जीएसटी रिवेन्यू कलेक्शन अगस्त में 1.12 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा, जो 2020 के अगस्त महीने के मुकाबले करीब 30 फीसदी अधिक है.

वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, जीएसटी कलेक्शन लगातार दूसरे महीने एक लाख करोड़ रुपये से अधिक है. वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि अगस्त 2021 में ग्रॉस जीएसटी रिवेन्यू 1,12,020 करोड़ रुपये है, जिसमें सीजीएसटी के 20,522 करोड़ रुपये, एसजीएसटी के 26,605 करोड़ रुपये, आईजीएसटी के 56,247 करोड़ रुपये (वस्तुओं के आयात पर जमा 26,884 करोड़ रुपये सहित) और सेस के 8,646 करोड़ रुपये ( वस्तुओं के आयात पर जमा 646 करोड़ रुपये सहित) हैं.

अगस्त 2020 के मुकाबले 30 फीसदी अधिक वसूली

हालांकि, अगस्त में वसूली गई रकम जुलाई 2021 के 1.16 लाख करोड़ रुपये से कम है. अगस्त 2021 में जीएसटी रिवेन्यू साल 2020 के अगस्त महीने की तुलना में 30 फीसदी अधिक है. जीएसटी कलेक्शन अगस्त 2020 में 86,449 करोड़ रुपये था. मंत्रालय ने कहा कि जीएसटी कलेक्शन अगस्त 2019 में 98,202 करोड़ रुपये था.

जून 2021 में जीएसटी कलेक्शन गिरावट

इसी तरह अगस्त 2019 की तुलना में इस साल अगस्त में कलेक्शन 14 फीसदी अधिक रहा. लगातार नौ महीनों तक जीएसटी कलेक्शन एक लाख करोड़ रुपये से ऊपर रहने के बाद कलेक्शन जून 2021 में कोरोना महामारी की दूसरी लहर की वजह से एक लाख करोड़ रुपये से नीचे आ गया था. वित्त मंत्रालय ने कहा कि आने वाले महीनों में भी मजबूत जीएसटी रिवेन्यू जारी रहने की संभावना है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें